Advertisement

पीरियड्स में पेट दर्द की दवा | Ayurvedic Medicine for Stomach Pain During Periods in Hindi

Advertisement

Home Remedies For Menstrual Cramps – पीरियड्स में पेट दर्द की आयुर्वेदिक दवा जब भी महिलाओ के मासिक धर्म की प्रक्रिया के दिन शुरू होते है उस समय उनको अत्यधिक दर्द को सहन करना पड़ता है यह अक्सर हमारे खाने पने की गलत आदतों एवं बढ़ते प्रदुषण के कारण ही ऐसा संभव होता है जिसके कारण महिलाओ को पीरियड्स के टाइम पेट दर्द , सिर दर्द , चिडचिडापन , बदन दर्द जैसी अनेको तकलीफे सहन करनी पड़ती है और यह इस दर्द को हर महीने सहन करती है |

पीरियड्स में पेट दर्द की दवा
पीरियड्स में पेट दर्द की दवा

ayurvedic medicine for stomach pain during periods | पीरियड्स में पेट दर्द की दवा | पीरियड्स में पेट दर्द की आयुर्वेदिक दवा | मासिक धर्म में ऐंठन का घरेलू उपचार | Home Remedies For Menstrual Cramps in Hindi | पीरियड्स में पेट दर्द की दवा |

Table of Contents

पीरियड्स में पेट दर्द की आयुर्वेदिक दवा

कई बार तो दर्द इतना बढ़ जाता है की उनकी नींद ख़राब कर देती है जिसके बचाव के लिय मेडिकल की पैन रिलीफ टेबलेट्स का इस्तेमाल करती है तब जाकर उनको कुछ समय के लिय आराम मिलता है लेकिन इस पीरियड्स के दर्द से छुटकारा पाने के लिय आप घरेलू उपचार भी कर सकते है जिनका इस्तेमाल करने के बाद आपको आगे भी किसी भी मासिक ड्रम चक्र में परेशानी नही होगी बिलकुल आसानी से पीरियड्स का टाइम निकल जाएगा आज हम आपे लिय कुछ ऐसे मासिक धर्म में ऐंठन का घरेलू उपाय लेकर आए है |

Advertisement

जिनका उपयोग करने पर आपको तुरंत राहत मिल जाएगी और यह समस्या दोबारा ही देखने को नही मिलेगी तो चलिय फ्रेंड्स जानते है इनके बारे में विस्तार से सम्पूर्ण जानकारी को इसलिय आप इस आर्टिकल पर शुरू से लेकर अंत तक बने रहे |

पीरियड्स के दर्द का घरेलू उपचार | Home Remedies For Menstrual Cramps in Hindi

Menstrual Cramps जैसा की आप सभी को पता है की जब पीरियड्स महिलाओ के स्टार्ट होते है तब महिलाओ को असहनीय दर्द को सहन करना पड़ता है और यह दर्द हर महिलाओ को सहन करना पड़ता है बस फरक इतना है की जो महिलाए आयु में बड़ी है और जिनका खाना पीना अच्छा सुध है तो उनका पीरियड्स के दौरान एक सामान्य दर्द होता है लेकिन आज के समय में लोगों के पास समय का आभाव होने के कारण वे अपने खान पान पर विशेष ध्यान न देने की वजह से कई बार महिलाओ को बहुत ज्यादा दर्द होता है जिसके कारण उनको बचाव के लिय अन्य पैन किलर टेबलेट्स का उपयोग करती है इस दर्द का मुख्य कारण है की टाइम टू टाइम पीरियड्स आने पर तो दर्द कम होता है |

Read More – अगर आप प्रेगनेंट है तो यह गलतियाँ भूलकर ही मत करना हो सकता है बड़ा नुकसान

पीरियड्स के दर्द को ठीक करने के घरेलू नुस्खे

( मासिक धर्म में पेट दर्द की दवा ) लेकिन कई बार ऐसे खाद्य पदार्थो के सेवन करने से टाइम का schedule change हो जाता है जिसके कारण महिलाओ को अत्यधिक दर्द को झेलना पड़ता है इस दर्द की वजह से महिलाओं का स्वभाव चिडचिडा हो जाता है , भूख कम लगती , सिर दर्द ,बदन दर्द ,अनियमितता आदि की प्रोबलम हो जाती है और कई महिलाओ का स्वभाव इतना ख़राब हो जाता है की उनका आचरण अपने पति के प्रति घृणा करने लगती है लेकिन आज हम आपके इस दर्द से छुटकारा पाने के लिय रामबाण उपाय लेकर आए है जिनका इस्तेमाल करने के बाद एक नार्मल पीरियड्स आएँगे आपको दर्द भी नही होगा |

Advertisement

माहवारी होने का कारण | Menstrual Cramps in hindi

जब महिलाओ को मासिक धर्म चक्र शुरू होता है उस समय पेट का दर्द होना तथा कमर या पीठ में दर्द होना सामान्य बात है लेकिन जब यही दर्द असहनीय हो जाता है तब पीडिता को ज्यादा तकलीफ होती है यह सब हमारे खान पान की गलत आदते या समय पर पूर्ण नींद , ज्यादा हेड वर्क करने एक नियमित रूप से पोष्टिक आहार मेकामी के कारण मासिक धर्म के टाइम में परिवर्तन हो जाता है एक सामान्य पीरियड्स का टाइम 28 से 32 दिनों का होता है इसके बिच जब भी महिलाओ को पीरियड्स आते है तो सामान्य है और यह पीरियड्स अगले 3 से 5 दिनों तक चलते है और हल्का दर्द होता है तो यह प्रक्रिया सभी महिलाओं के लिय सामान्य है |

लेकिन कई बार खान पान सही न होने के कारण टाइम 25 दिनों में ही शुरू हो जाता है या फिर 40 दिन तक चला जाता है तब महिलाओ की ब्लीडिंग की प्रक्रिया में असहनीय दर्द होता है जिसके कारण उनको यह दर्द सहन करना बड़ा मुश्किल हो जाता है यह अक्सर होता सब बध्लते मौसम एवं वायु में प्रदुषण के बढ़ने के कारण ही होता है इसका इलाज समय रहते हुए न किया जाए तो खतरा काफी बढ़ जाता है |

और पढ़ें – सफ़ेद पानी से परेशान है तो यह घरेलू नुस्खा 3 दिन में ठीक कर देगा

मासिक धर्म के समय दर्द होने के लक्षण क्या है

  • अक्सर पीरियड्स का टाइम 28 से 30 दिन का होता है और यही टाइम जब आपका 25 दिन का हो जाए या फिर 40 दिन हो जाए तो यह पीरियड्स के समय दर्द होने का मुख्य लक्षण है
  • एक सामान्य मासिक धर्म चक्र 3 से 5 दिनों का होता है इसमें महिला को 3 से 5 दिनों तक ब्लीडिंग होती है और यही टाइम जब महिला को पीरियड्स के दौरान 7 से 10 दिनों का होना शुरू हो जाए तो भी पीरियड्स में ऐंठन का मुख्य लक्षण हो सकता है
  • जिन महिलाओ का पीरियड्स टाइम सही होता है वो महिला बिलकुल स्वस्थ मणि जाती है उसकी बोडी के अंदर टेस्ट स्टेरोंन , प्रोजे स्टेरोंन , एस्ट्रोजन इन तीनो हारमोंस बोडी के अंदर मोजूद होना बहुत आवश्यक है इन तीनो में से किसी एक में कमी होने के कारण भी मासिक धर्म में दर्द होना शुरू हो जाता है
  • बोडी के अंदर जरुरी प्रोटीन , विटामिन ,एवं मिनरल्स की कमी होने के कारण भी पीरियड्स के दौरान दर्द हो सकता है
  • सिर दर्द होना भी मासिक धर्म चक्र में परिवर्तन होने के कारण होता है
  • बदन दर्द होना
  • चिडचिडा सवभाव भी मासिक धर्म चक्र का प्रमुख लक्षण है
  • नींद कम आना किसी से बात करने में बिलकुल इच्छा न जाताना
  • गुप्तांग अंग पर सुजन रहना
  • शरीर आलसी परवर्ती का होना बोडी बिलकुल थकान एवं डिहाइड्रेशन होना
  • चलने फिरने में बड़ी मुश्किल होना

पीरियड्स के दर्द को ठीक करने के घरेलू उपाय

( पीरियड्स में पेट दर्द की दवा ) फ्रेंड्स हम आपको इस आर्टिकल में आपको मासिक धर्म चक्र के दौरान होने वाले दर्द से छुटकारा पाने के लिय कुछ घरेलु उपचार बताने की कोशिश कर रहे है इसलिय आप इनमे से जो उपचार आपके लिय आवश्यक है या उपचार करने में आसानी हो उसका इस्तेमाल कर सकते है यह सभी उपचार आपकी मासिक धर्म चक्र के समय होने वाले असहनीय दर्द से राहत पहुँचाने में सभी लाभदायक है |

1 . अजवाइन पीरियड्स दर्द को ठीक करने में सहायता करती है

अजवाइन बहुत ही किफायती आयुर्वेदिक औषधि है इसमें एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी बेक्टिरियल के गुण होते है जिसका कार्य है हमारी बोडी के अंदर रक्त में जो अशुधि एवं पेट की गैस की प्रोबलम को ठीक करना है और जब पीरियड्स का टाइम होता है उस समय अक्सर पेट की गैस कब्ज आदि की समस्या होती है ऐसे में अजवाइन का उपयोग काफी फायदेमंद होता है इसलिय आप अजवाइन का उपयोग मासिक धर्म की ऐंठन को ठीक करने में उपयोग कीजिय |

2 . अदरख पीरियड्स के दर्द को दूर करने में लाभदायक है | home remedy for periods pain

अक्सर महिलाओं का जब पीरियड्स का टाइम होता है तब उनको काफी असहनीय दर्द होता है और साथ में योनी मार्ग पर सुजन आ जाता है ऐसे में अदरख काफी लाभदायक होती है क्योकि इसमें मोजूद पोष्टिक तत्व आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में काफी मदद करते है इसलिय आप एक गिलास पानी के अंदर 3 से 4 अदरख के टुकडो को बारीक़ कटकर उस पानी को आंच पर उबालना होता है और पानी को उबालने के बाद आप इस पानी को गिलास में छानकर आप इसमें शहद को मिला सकते है |

क्योकि अदरख काफी कडवी होती है जिसके कारण पिने में सरल नही होती है इसलिय आप इसमें स्वाद को टेस्टी बनाने के लिय आप इसमें एक या दो चमच शहद को मिक्स कर सकते है और इस लिक्विड को दिन में 3 से 4 बार उपयोग में लेना चाहिय जिससे आपको मासिक धर्म चक्र के समय होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है |

3 . तुलसी मासिक धर्म के दर्द को ठीक करने में उपयोगी है | periods ke drd ka aayurvedik ilaj

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को ठीक करने में तुलसी काफी फायदेमंद होती है इसमें आयुर्वेदिक औषधीय गुणों से भरपूर होती है तुलसी को आप एक गिलास पानी के अंदर अच्छी तरह से उबालना होता है उसके बाद इस पानी को आप रोजाना पानी को पि सकते है इससे आपकी मासिक धर्म का दर्द एवं ऐंठन की प्रोबलम को ठीक करने में लाभदायक है आप रोजाना इस पानी को इस्तेमाल करे यह आपके बोडी के नादर रक्त की शुद्धिकरण करने में और अंदर के बेक्टीरिया को मारने में काफी सहायक होती है |

4 . पपीते का सेवन करने से पीरियड्स का दर्द को आराम पहुंचता है | masik dharm me ainthan ka gharelu upchar

पपीता भी पीरियड्स के दर्द को ठीक करने में काफी लाभदायक हैइसमें जो प्रोटीन , विटामिन्स एवं मिनरल्स होते है जोकि गर्म प्रक्रति के होते है यह आपके पेट के रोग विकार एवं दर्द को दूर करने में काफी असरदार है आप इसका जरुर महिलाओ को इस्तेमाल करवाए यह महिलाओ के मासिक धर्म चक्र में होने वाले समय परिवर्तन को दूर करने में रामबाण की तरह कार्य करता है इसलिय आप एक गिलास दूध के साथ पपीते को बारीक़ कटकर मिक्सर की सहायता से जूस बनाकर पिलाए है यह काफी लाभदायक है आप इसका सेवन नियमित रूप से पीरियड्स के आने के तीन दिन पहले इस्तेमाल करे आपके दर्द को बिलकुल दूर करने में मदद करता है |

5 . नारियल का तेल या फिर तिल का तेल की मालिश पीरियड्स के दर्द / सुजन को ठीक करने में सहायक है

नारियल का तेल भी कई प्रकार के आयुर्वेदिक औषधीय गुणों से भरपूर होता है इसमें एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी बेक्टिरियल के गुण होते है जोकि आपकी त्वचा को कोमल एवं मुलायम बनाने में सहायत करता है तथा पेट के अंदर जो भी रोक विकार उत्पन्न है उनको दूर करने में सहायता करता है आप नारियल के तेल की पेट पर हल्के हाथो से मसाज करे और जहा पर सुजन है उस स्थान पर भी मालिश करे जिससे आपको काफी ज्यादा आराम मिलेगा इससे इस्तेमाल से आपको मासिक धर्म के ऐंठन को दूर करने का घरेलू उपचार में सबसे बेस्ट उपचार है |

6 . हल्दी दूध माहवारी के दूर को दूर करने में फायदेमंद है | periods ke drd ko thik karne ke gharelu upay

पीरियड्स में कमर दर्द को ठीक करने के घरेलू उपाय में हल्दी वाला दूध काफी फायदेमंद है आप रोजाना सुबह और श्याम पीरियड्स के आने से 3 दिन पहले इस दूध को इस्तेमाल करे यह आपके दर्द को राहत पहुंचाने में काफी लाभदायक है क्योकि जब मासिक धर्म का चक्र शुरू होता है तब हड्डियों एवं मस्पैशियो में केल्शियम की कमी हो जाती है जिसके कारण दर्द हूने लगता है शरीरिक रूप से कमजोरी हो जाती है और कमजोरी तथा केल्शियम की पूर्ति में दूध और हल्दी बहुत ही लाभकारी होती है इसलिय इसका इस्तेमाल बहुत ही मदद करता है |

पीरियड्स में पेट दर्द की टेबलेट्स क्या नाम है | periods me dard ko kaise thik kare

वैसे तो बाजार के हर मेडिकल पर अलग अलग टेबलेट्स मिलती है मगर आप पैन किलर के रूप में अगर पीरियड्स से समन्धित कोई भी टेबलेट्स लेना चाहते है तो आप सबसे पहले डॉक्टर से सलाह लेना बहुत जरुरी है क्योकि यह टेबलेट्स आपको किसी भी प्रकार का साइड इफ़ेक्ट कर सकती है जिससे नुकसान होने का खतरा होता है |

मासिक धर्म में पेट दर्द क्यों होता है | periods me pet drd kyo hota hai

जब भी मासिक धर्म चक्र का समय आटा है तब महिलाओ को पेट दर्द की शिकायत अक्सर देखने को मिलती है यह दर्द हर महिलाओ को होता है और यह बिलकुल सामान्य दर्द होता है लेकिन कुछ महिलाए इस दर्द से काफी ज्यादा परेशान होती है इसकी मुख्य वजह है की उनके खाने पिने की गलत आदतें है यह महिलाए खाने में ज्यादा तेल या जंक फ़ूड का इस्तेमाल करती है तथा तीखे चटपटे मसालेदार खाद्य पदार्थो को खाने में इस्तेमाल करती है जिसके कारण उनको अत्यधिक पीड़ा सहन करनी होती है इस दर्द से राहत पानेके लिय आप खाने में इन खाद्य पदार्थो से दूर रहना पड़ेगा |

पीरियड्स में पेट दर्द की दवा क्या है | periods me pet dard ki dava kya hai

जब पीरियड्स के दौरान अत्यधि दर्द हो तो आप अजवाइन के पानी का इस्तेमाल कर सकती हो यह आपके पेट के वायु विकारो एवं पेट के अंदर जो भी बेक्टीरिया होते है उनको मारने में काफी सहायक होती है अजवाइन हमारी बोडी के अंदर गंदे खून को बाहर निकालने एवं रक्त की शुद्धिकरण में लाभदायक है इसलिय आप रोजाना एक चमच अजवाइन को एक गिलास पानी के अंदर उबालकर पिने से काफी आराम मिलता है |

मासिक धर्म में ऐंठन के लिए घरेलू उपचार , मासिक धर्म में ऐंठन का घरेलू उपचार , Home Remedies For Menstrual Cramps in Hindi, पीरियड्स में पेट दर्द की दवा , ayurvedic medicine for stomach pain during periods , पीरियड्स में पेट दर्द की दवा , पीरियड्स में पेट दर्द की आयुर्वेदिक दवा , मासिक धर्म में ऐंठन का घरेलू उपचार , Home Remedies For Menstrual Cramps in Hindi, पीरियड्स में पेट दर्द की दवा ,

पीरियड्स में दर्द का घरेलू इलाज क्या है | masik dhrm me drd ka gharelu ilaj kya hai

( पीरियड्स में पेट दर्द की दवा ) जब कभी आपको पीरियड्स के दौरान दर्द हो तो आप खाने में ऑयली फ़ूड है उसको बिलकुल बंद कर देना है और नियमित रूप से सुबह श्याम विटामिन c के स्रोतों का जूस एवं कच्चे फलो को सलाद के रूप में इस्तेमाल करे तथा साथ में पपीते का जूस भी एंटी ओक्सिडेंट की तरह कार्य करता है जिससे मासिक दर्द में होने वाले दर्द को दूर करने में आपकी सहायता करेगा |

Advertisement

Leave a Comment