Advertisement

दालचीनी वाले दूध के फायदे सुनकर हैरान हो जांएगे | Benefits And Harms of Cinnamon in Hindi | Dalchini Ke Benefit Kya Hai

Advertisement

दालचीनी , दूध और शहद के फायदे ( Benefits of Cinnamon, milk and honney in hindi ) :- दालचीनी का नाम भारतवासी सभी जानते है और यह भारत के सभी घरो की किचन में बड़ी आसानी में उपलब्ध भी होती है क्योकि घर की महिलाए भोजन को स्वादिष्ट एवं सुगन्धित बनाने के लिय इस दालचीनी के मसाले का उपयोग करती है लेकिन फ्रेंड्स दालचीनी आपके भोजन को स्वादिष्ट बनाने तक ही सिमित नही है इसका उपयोग पुराने ग्रंथो तथा शुश्रुत चिकित्सा पद्धति या फिर आज के समय में आयुर्वेद में बहुत सी बीमारियों से छुटकारा दिलाने में भी काफी इस्तेमाल किया जाता है आज भारत के बहुत से लोग इसका उपयोग औषधि के रूप में होता है |

 दालचीनी के फायदे

Benefits And Harms of Cinnamon in Hindi | Dalchini Ke Benefit Kya Hai | dalchini ke fayde | dalchini ke labh kya hai | दालचीनी के फायदे | दालचीनी के बेनिफिट | दालचीनी के औषधीय गुण | Disadvantage of Cinnamon in Hindi | Benefits of Cinnamon in hindi | दालचीनी , दूध और शहद के फायदे | Benefits of Cinnamon, milk and honney in hindi |

Table of Contents

दालचीनी , दूध और शहद के फायदे

इस बात का उन्हें पता नही है उन लोगों की जानकारी के लिय हम बता दे की फ्रेंड्स आप दालचीनी का प्रयोग आप अनेको प्रकार की बिमारियों के बचाव में भी कर सकते है इसके बारे में हम निचे इस आर्टिकल में पूरी जानकारी विस्तार से बताएँगे और साथ में उपयोग करने के तरीको के बारे में भी बताया जाएगा इसलिय आप इस आर्टिकल को शुरू से लेकर अंत तक जरुर देखना उसके बाद ही आप इसका उपयोग करे ताकि किसी भी प्रकार का disadvantage ना हो |

Advertisement

दालचीनी क्या है | What is Cinnamon in Hindi

Benefits of Cinnamon दालचीनी भारत की रसोईघरो का एक गर्म मसाला है जिसका उत्पादन दक्षिण भारत के राज्यों में होता है इसका पोधा सदाबहार मौसम में हरा भरा रहता है इस पोधे की लम्बाई 10 इ 15 मीटर की होती है और इस पेड़ की छाल से ही दालचीनी का पावडर गर्म मसालों के रूप में काम लिया जाता है तथा इसके बीजो से सुंगंधित तेल इया ईथर बनाया जाता है इसकी खुशबु बेमिसाल होती है |

इसके छाल का इस्तेमाल अकेला भोजन का जायका बनाने में ही नही अपितु आयुर्वेदिक ओषधियों के निर्माण में भी उपयोग में लिया जाता है दालचीनी का रंग हलके भूरे रंग की होती है यह बहुत ही किफायती होती है इसका उपयोग हमारी सेहत को तंदुरुस्त बनाने एवं बीमारियों के बचाव में काफी फायदेमंद होती है |

दालचीनी , दूध और शहद के फायदे | Benefits of Cinnamon in hindi

Benefits of Cinnamon ( दालचीनी , दूध और शहद के फायदे ) हमारी सेहत को बनाए रखने में दालचीनी का बहुत बड़ा योगदान होता है इसके सेवन करने से आपको किसी भी प्रकार की बीमारियाँ जैसे सिर दर्द , झुकाम , जोड़ो का दर्द , घुटनों का दर्द, पेट दर्द , अनियमितता , मासिक धर्म की समस्या तथा उलटी डीएसटी आदि बिमारियों के बचाव में आयुर्वेदिक तरीके से काम करता है इसमें एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी बेक्टिरियल के गुणों से भरपूर होने के कारण यह आपकी मर्दाना शक्ति को बढ़ाने में भी काफी फायदेमंद होती है इस जड़ी बूटी का इस्तेमाल गर्मियों के मौसम में ज्यादा मात्रा में नही करना चाहिय क्योकि यह गर्म प्रकृति का पोधा होता है |

Advertisement

जोकि हमारे शरीर में ब्लड को पतला एवं तेज गति से चलने में मजबूर करता है | इस दालचीनी के और भी फायदे है जिसके बारे में निचे विस्तार से बताया गया है ताकि आपको कभी भी इन सभी में से कोई भी प्रोबलम हो तो आप इस दालचीनी के पावडर का इस्तेमाल करके इस बीमारी से छुटकारा पा सकते है |

1 . दालचीनी के उपयोग भूख बढ़ने में सहायक है | Benefits of Cinnamon in hindi

Benefits of Cinnamon यदि फ्रेंड्स आपको या आपके परिवार में किसी भी व्यक्ति को भूख कम लगती है या भोजन करने के पश्चात् भोजन का पाचन नही होता है उस व्यक्ति को आप रोजाना खाने से पहले एक चमच मिश्री पावडर के साथ आधा चमच दालचीनी का चुन मिलकर उसे शहद में मिलकर चटाने से अगले 3 दिनों के भीतर उसकी भूख बढ़ना शुरू हो जएगी और साथ में भोजन की चयापचय की क्रिया में भी वृद्धि होगी इसमें एंटी बेक्टिरियल के गुण होते है जिसका कार्य होता है पेट के अंदर कीड़े या रोग विकारो को ठीक करना है दालचीनी ओषधिय गुणों से भरपूर होती है |

इसे जरुर पढना काम की चीज है – बच्चों की भूख बढ़ाने से 10 आसान तरीके |

2 . दालचीनी के बेनिफिट इम्युनिटी बढाने में मददगार है

Benefits of Cinnamon, milk and honney in hindi कमजोरी थकान जैसी समस्या से छुटकारा पाने में दालचीनी काफी लाभदायक होती है इसमें मैग्नीशियम , आयरन , विटामिन ,प्रोटीन व् जिंक की भरपूरता होती है जिसका कार्य है हमारे शरीर की इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करना तथा भोजन का अच्छी तरह से अवशोषण करना होता है यह आपकी बोडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता को विक्सित करने में काफी सहायता करती है तथा डायजेशन सिस्टम को कण्ट्रोल करने एवं रोग विषक्ता को दूर करने में रामबाण ओषधि है इसलिय आप रोजाना सुबह एक गिलास गुनगुने दूध में एक चमच दालचीनी का पावडर डालकर इसे नियमित रूप से इस्तेमाल करे यह आपकी बोडी को काफी स्ट्रोंग बनाने में हल्प करेगा |

यह भी पढ़ें – शिलाजीत के 10 फायदे

3 . दालचीनी का इस्तेमाल उल्टी-दस्त रोकने में सहायक है |

कई बार बच्चो को उल्टी या दस्त की प्रोबलम होती है अक्सर यह हमारे पेट में डायजेशन सिस्टम या लीवर की प्रोबलम की वजह से ऐसा होता है इस समस्या का निदान करने में दालचीनी और लौंग व् कालीमिर्च को आपस में मिलकर एक चमच घी के अंदर अच्छी तरह से पकाए और उसके बाद उल्टी दस्त से पीड़ित व्यक्ति को दिन में दो बार इसका सेवन करवाए आपको कुछ ही घंटो में बिलकुल आराम मिल जाएगा दालचीनी के एंटी ओक्सिडेंट के गुण आयुर्वेद में बहुत ही फायदेमंद बनाया है इसलिय इसमें मोजूद फैटी एसिड की प्रचुरता होती है जिसका कार्य है लीवर को टोनिक बनाना है |

4 . दालचीनी का प्रयोग मोटापा / वजन कम करने में फायदेमंद है

दालचीनी मोटापे को reduce करने में काफी फायदेमंद होता है इसमें मैग्नीशियम , जिंक , आयरन , विटामिन c तथा a , फैटिक एसिड , ओमेगा 3 आदि जैसे ओषधिय गुण प्रचुर मात्रा में पाए जाते है जिनका कार्य होता है बोडी के अंदर अतिरिक्त फैट को पिघलाना और मेटाबोलिज्म की क्रियाशीलता में इजाफा करना है जिससे आपकी चयापचय की रकिया भी बढ़ेगी और भोजन का पाचन भी अच्छी तरह से होगा साथ में फैटी लीवर की समस्या में भी लाभदायक होता है |

इसमें एंटी ओक्सिडेंट और एंटी बेक्टिरियल के गुण होते है जोकि आपकी सेहत में महत्वपूर्ण योगदान देते है इसलिय आप रोजाना सुबह एक गिलास गुनगुने पानी के अंदर एक चमच दालचीनी पावडर और साथ में एक चमच शहद को मिलाकर अगले 15 से 20 दिनों तक लगातार इस्तेमाल करे उसके बाद देखना कितना फरक नजर आता है |

इसे भी पढना – फैटी लीवर का घरेलु इलाज

5 . दालचीनी के लाभ आँखों की रौशनी बढ़ाने में सहायक है

दालचीनी प्रक्रति में बहुत ही किफायती आयुर्वेदिक ओषधि है इसका उपयोग आँखों की रौशनी तथा फडकती आँखों की समस्या का हल करने में काफी लाभदायक है आप आँखों की रौशनी बढ़ाना चाहते है तो आप रोजाना आधा चमच दालचीनी चूर्ण दूध के साथ इस्तेमाल करे और अगर आपकी आँखे फडकती है तो फिर आप दालचीनी के बीजो का तेल आँखों की उपरी परत पर लगे यह आपकी प्रोबलम को जड़ से खत्म कर देगा |

यह भी पढ़े – खाली पेट आंवला खाने के फायदे

6 . दालचीनी के benefit मर्दाना शक्ति बढ़ाने में मददगार है

दालचीनी , दूध और शहद के फायदे इन सभी जड़ी बूटियों के अंदर ओषधिय गुण प्रचुर मात्रा में होते है और इसमें विटामिन c & a , प्रोटीन , मिनरल्स , मैग्नीशियम , केल्शियम , जिंक व् आयरन जैसे किफायती तत्व मोजूद होते है यह आपकी मर्दाना शक्ति में वृद्धि करने में काफी सहायक होते है आप रोजाना सुबह एक गिलास गर्म दूध के साथ 1 चमच दालचीनी पावडर और एक चमच शहद , 1 चमच शतावरी इन तीनो को मिलकर पिने से आपकी मर्दाना शक्ति काफी ज्यादा बढ़ जाएगी जिससे सेक्सुअल पावर में काफी वृद्धि होगी |

7 . अच्छे पाचन के लिय दालचीनी लाभदायक है

अक्सर हमारे खान पान में ज्यादा तीखे चटपटे मसालेदार खाद्य पदार्थो के सेवन करने से पाचन क्रिया कमजोर हो जाती है जिसके कारण भूख बंद हो जाती है और पेट में गैस , एसिडिटी , बदहजमी आदि की समस्या हो जाती है ऐसे में आप दालचीनी चुन का इस्तेमाल निम्बू के साथ प्रयोग करे यह आपकी पाचन शक्ति को बढ़ाने में काफी मदद प्रदान करेगी |

8 . दालचीनी के उपयोग से ब्लड शुगर कण्ट्रोल होती है

अत्यधिक मीठा या तीखा ऑयली फ़ूड से ब्लड में शुगर का बढ़ना आम बात है लेकिन इस प्रकार की प्रोबलम को दूर करने में दालचीनी पावडर काफी लाभदायक है यह रक्त में घुलनशील होकर ब्लड शुगर को यूरिया में बदलने में सहायता करता है तथा डायबिटीज जैसी खतरनाक बीमारी से छुटकारा दिलाने में मददगार होती है तथा रक्त की शुद्धिकरण करने में ह्ल्प्फुल होती है |

9 . बालो तथा त्वचा को सुन्दर बनाने में दालचीनी का इस्तेमाल किया जाता है

आजकल के समय में सबसे ज्यादा महिलाए अपने बालो तथा त्वचा को सुन्दर बनाने के लिय गूगल पर देखती रहती है लेकिन हर बार यह सभी इलाज फ़ैल हो जाते है मगर यह दालचीनी का उपयोग काफी फायदेमंद होता है आप अपनी स्किन को सुन्दर बनाने के लिय रोजाना दूध के साथ दालचीनी का पावडर डालकर स्किन प्रोबलम वाले भाग पर इसका लेपन करे आपको अगले 3 से 4 दिनों के अंदर फरक नजर आएगा |

10 . हड्डियों को मजबूत बनाने में दालचीनी का प्रयोग करे

जब आप युवा अवस्था से पार हो जाते है तब आपको घुटनों का दर्द , जोड़ो में दर्द होना शुरू हो जाता है यह अक्सर हमारे शरीर में केल्शियम , मैग्नीशियम , आयरन जैसे जरुरी पोषक तत्वों की कमी के कारण होता है और यह सभी पोषक तत्व हमारी इस दालचीनी पावडर के अंदर भरपूर मात्रा में होते है इसलिय आप रोजाना दूध के साथ नियमिंत रूप से इस्तेमाल करे और साथ में व्यायाम करना भी बहुत जरुरी है यह आपकी बोडी के लिय एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी बेक्टिरियल की तरह कार्य करती है जिससे केल्शियम का निर्माण होता है |

11 . सर्दी झुकाम को ठीक करने में दालचीनी के फायदे

दालचीनी की तासीर सर्दी झुकाम के वायरस में बहुत लाभदायक होती है आप रात को सोते समय एक गिलास पानी में एक चमच/ टुकड़ा दालचीनी और लौंग , कालीमिर्च और तुलसी की पत्तियां डालकर इसे अच्छी तरह से उबालने के बाद पानी जब एक कप बचे तब आप इसे छानकर इसमें एक चमच निम्बू का रस मिलाकर पिने से आपकी झुकाम सुबह बिलकुल गायब हो जाएगी और जो पेचिश की प्रोबलम है या फिर कफ की प्रोबलम है तो यह काफी कारगर साबित होगी |

12 . दालचीनी के औषधीय गुण कैंसर के उपचार में लाभदायक है

दालचीनी हमारे स्वास्थ्य के लिय रामबाण की तरह कार्य करती है यह खून में संक्रमण को मारने तथा लीवर एवं डायजेशन की प्रोबलम को दूर करने में सहायता करती है इसमें ओमेगा 3 , ओमेगा 6 , फैटिक एसिड , केल्शियम , आयरन के गुण प्रचुर मात्रा में होते है जिसका कार्य है बोडी के सभी अंगो में रोग विकारो को दूर करना है इसलिय आप रोजाना इसका उपयोग सिमित मात्रा में ही करे |

दालचीनी के नुकसान क्या है

  • यह जड़ी बूटी ग्राम प्रकृति का पोधा होता है
  • इसके अत्यधिक सेवन करने से आपको साइन तथा छाती में जलन हो सकती है
  • गर्मियों के मौसम में अत्यधिक मात्रा में उपयोग करने से आपको सिर दर्द पेट दर्द की प्रोबलम हो सकती है
  • दालचीनी की तासीर अत्यधिक मात्रा में प्रयोग करने से आपको उल्टी दस्त होने की आशंका होती है
  • गर्भवती महिलाए दालचीनी का ज्यादा मात्रा में उपयोग ना करे यह आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालती है
  • दालचीनी का प्रयोग ज्यादा करने से स्किन इन्फेक्शन होने का खतरा होता है जिसे त्वचा पर खुजली या एलर्जी होने लगती है

दालचीनी का प्रयोग कैसे करें | dalchini or shahd ke fayde kya hai

इसका उपयोग आप लौंग , कालीमिर्च , तुलसी की पत्ती , अदरख , शहद , निम्बू , आंवला आदि के साथ कर सकते है यह आपकी सेहत के लिय एंटी ओक्सिडेंट का काम करती है तथा साथ में पेट के कीड़ो को मारने में एंटी बेक्टिरियल का कार्य भी करती है इसलिय आप इसका सेवन सर्दियों के मौसम में जरुर करे ताकि आपको सर्दी झुकाम एवं अस्थमा जैसी बीमारियों से बचाव हो सके |

दालचीनी की चाय के फायदे क्या है dalchini ke labh kya hai

इसकी चाय बहुत ही लाजवाब होती है सर्दियों के मौसम में आप अगर सर्दी झुकाम से पीड़ित है तो आप एक टुकड़ा दालचीनी का और उसमे 3 से 4 लौंग और कालीमिर्च और 5 पत्तियां तुलसी की डालकर उसे अच्छी तरह से उबालकर उसमे एक चमच शहद को मिलकर उसे पिने से आपकी झुकाम रातो रात ठीक हो जाएगी और साथ में बोडी के अंदर की रोग प्रति रोधक क्षमता में भी वृद्धि करने में मददगार है |

शुगर में दालचीनी के फायदे | डायबिटीज में दालचीनी के बेनिफिट

फ्रेंड्स यदि आप शुगर की बीमारी से ग्रसित है तो आप बिलकुल नही घबराए क्योकि घबराने से इस बीमारी का हल नही निकलता है इसलिय आप एक पतीले में 500 ग्राम पानी डालना है और इसमें 30 ग्राम दालचीनी का पावडर और 8 से 10 पत्तियां तुलसी की डालकर उसे अगले 20 से 25 मिनट तक अच्छी तरह से उबले उसके बाद उसे ठंडा करके एक बोतल में डालकर आप पुरे दिन इसका सेवन करे यह आपके कोलेस्ट्रॉल को कम करने तथा बढ़े हुए शुगर लेवल को कम करने में आपकी मदद करता है |

people also ask | अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

प्रश्न 1 . दालचीनी कब और कैसे खाए ?

उतर – दालचीनी हमेशा सुबह और श्याम को खाना चाहिय रात को खाना खाने के बाद और सुबह खली पेट सेवन करना चाहिय और इसे दूध के साथ ही उपयोग करे

प्रशन 2 . क्या दालचीनी शुगर में फायदे करती है ?

उतर – जी हाँ फ्रेंड्स जरीर फायदेमंद होती है

प्रश्न 3 . सब्जी में दालचीनी का प्रयोग कैसे करे

उतर – खाने को स्वादिष्ट बनाने में दालचीनी बहुत ही सुगन्धित मसालेदार ओषधि है इसे हमेशा पीसकर रखे और सब्जी बनाने के बाद एक चुटकी इसमें डालने से खाने का स्वाद बढ़ जाता है

प्रशन 4 . बवासीर में दालचीनी का प्रयोग कैसे करें ?

उतर – बवासीर से पीड़ित व्यक्ति को सुबह श्याम आधा चमच दालचीनी पावडर और एक चमच शहद के साथ मिलाकर पीना फायदेमंद होता है

प्रश्न 5 . दालचीनी और शहद का प्रयोग कैसे करे ? | Cinnamon in Hindi Meaning हिंदी में क्या कहा जाता है

उतर – दालचीनी और शहद आपकी झुकाम में एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी बेक्तिरियल की तरह कार्य करती है यह छाती में जमे हुए कफ को तोड़कर गुदा द्वारा की और भेजने से सहायता करती है |

disclaimer

इस वेबसाइट के माध्यम से हम आपको और चिकित्सा पेशे के छात्रों को दवाओं और उनसे संबंधित बीमारियों के बारे में बुनियादी जानकारी प्रदान करते हैं, और इस व्यस्त जीवन यात्रा में, हमारा उद्देश्य आपको लोगों से संबंधित कुछ अच्छे व्यवसाय के बारे में जानकारी प्रदान करना है, या वेबसाइट। निर्धारित दवाओं को किताबों और सोशल मीडिया के आधार पर बताया जाता है और इस वेबसाइट द्वारा किसी भी प्रकार की दवा या घरेलू उपचार के उपयोग की अनुमति नहीं है। आपसे अनुरोध है कि आप किसी भी दवा या घरेलू उपचार का उपयोग करने से पहले। डॉक्टर से सलाह लें|
Advertisement

2 thoughts on “दालचीनी वाले दूध के फायदे सुनकर हैरान हो जांएगे | Benefits And Harms of Cinnamon in Hindi | Dalchini Ke Benefit Kya Hai”

Leave a Comment