Advertisement

डेंगू बुखार के 10 घरेलू इलाज क्या है | home remedy for dengue fever treatments in hindi

Advertisement

डेंगू बुखार के घरेलू इलाज – आज हमारे देश में डेंगू बुखार भी कोरोनावायरस दिन प्रतिदिन फैलती जा रही है अक्सर ये बीमारी बरसात के मौसम में मच्छर के काटने से फैलती है और यह है बीमारी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को बड़ी आसानी से संक्रमित कर सकती है  आज वर्तमान स्थिति में इस बरसाती मौसम एवं सर्दियों के दिनों में काफी मात्रा में मच्छरों की संख्या बढ़ती जा रही है जिसमें से एक खतरनाक मच्छर भी होता है जिसके संक्रमण से डेंगू बुखार होने की संभावना होती है एडीस एजिप्टी (Aedes egypti) इस प्रजाति के मच्छरों के काटने के बाद आपको डेंगू बुखार होने की संभावना निश्चित रूप से हो जाती है यह मच्छर किसी एक व्यक्ति के काटने के बाद अगर दूसरे एक स्वस्थ व्यक्ति तक पहुंचता है तो उस व्यक्ति को भी यह बड़ी आसानी से प्रभावित कर सकता है |

Home Remedies for Dengue Fever
Home Remedies for Dengue Fever

डेंगू बुखार के 10 घरेलू इलाज क्या है | home remedy for dengue fever treatments in hindi | what food can cure dengue fever in hindi | how to treat dengue symptoms in hindi | डेंगू बुखार के घरेलू उपचार | how to protect baby from dengue in hindi | डेंगू रोग के लक्षण व उपचार क्या है |

Table of Contents

home remedy for dengue fever treatments in hindi

इससे देश में लाखों की संख्या में हर साल डेंगू बुखार की वजह से मृत्यु होती जा रही है लेकिन आप अगर इस डेंगू बुखार से बचने की कोशिश जारी रखें तो बड़ी आसानी से इस बीमारी को आप घरेलू उपचार के जरिए या घरेलू इलाज के जरिए बड़ी आसानी से ठीक कर सकते हैं इसके लिए आपको हम आज इस आर्टिकल में जो घरेलू उपचार बताने जा रहे हैं इन 10 घरेलू इलाज के जरिए बड़ी आसानी से आप डेंगू बुखार को ठीक कर सकते हैं  इसके साथ-साथ कुछ निश्चिंत सावधानियां हैं उनका भी आपको ख्याल रखना होगा उसके बाद आपको कभी भी डेंगू बुखार की परेशानी बिल्कुल नहीं होगी |

Advertisement

डेंगू बुखार के टॉप 5 देशी इलाज 

 डेंगू बुखार क्या है | what food can cure dengue fever in hindi

 कोरोना की तरह डेंगू बुखार भी वास्तव में एक खतरनाक वायरस जनित बीमारी है यह बीमारी अक्सर बरसात एवं सर्दियों के दिनों में देखने को मिलती है और इस बीमारी से देश में लगभग लाखों की संख्या में छोटे बच्चे एवं बूढ़े बुजुर्ग जो कमजोर परिवार के लोग हैं जो शारीरिक रूप से कमजोर है उन व्यक्तियों को ज्यादा प्रभावित करती है और यह अक्षर एडीस एजिप्टी (Aedes egypti)  नामक प्रजाति के एक मच्छर के काटने से होती है जब यह मच्छर ज्ञातव्य बुखार से पीड़ित व्यक्ति को एक बार बॉडी पर कुछ देर तक रक्त शोषण करता है उसके पश्चात यही मच्छर वहीं से एक दूसरे स्वस्थ व्यक्ति के शरीर पर जाकर बैठ जाता है तो उस व्यक्ति को भी डेंगू बुखार से प्रभावित कर सकता है और यह मच्छर बार-बार बैठने की आवश्यकता नहीं है अगर एक बार भी आपके शरीर से संपर्क कर जाता है |

Home Remedies for Dengue Fever
Home Remedies for Dengue Fever in hindi

डेंगू बुखार के घरेलू उपचार | how to treat dengue symptoms in hindi

तो उसके बाद आपको डेंगू बुखार होने की संभावना वास्तव में बन जाती है डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज को हड्डी तोड़ मतलब शरीर में एकदम थकान एवं दर्द वाली बुखार उत्पन्न हो जाती है जिससे मरीज काफी मात्रा में दर्द ऐसे नहीं हो जाता है बहुत ज्यादा तकलीफ हो उसे झेलना पड़ता है यह बीमारी धीरे-धीरे 2 से 3 दिन हो जाते हैं तो उसके बाद पूरे शरीर का जो खून है उसको पानी बनना शुरू हो जाता है और व्यक्ति की स्थिति इतनी काफी कमजोर हो जाती है  थोड़े दिनों में उस व्यक्ति की मृत्यु होने की स्थिति पर बन जाता है लेकिन इस डेंगू बुखार के कुछ सामान्य लक्षण है एवं कुछ कारण भी है विशेष कारणों को एवं लक्षणों को ध्यान में रखकर आप अगर समय पर इसका इलाज करेंगे |

यह भी जरुर पढ़ें – हेल्दी स्वास्थ्य के लिय डाइट में शामिल करे टॉप 5 फूड्स

तो आप इन घरेलू उपचारों के जरिए में इस बीमारी को बड़ी आसानी से ठीक कर सकते हैं  लेकिन इलाज करने से पहले आपको डेंगू बुखार होने के कारण एवं लक्षणों के बारे में अवश्य पता होना चाहिए जिनके बारे में हम आपको इस आर्टिकल में नीचे बताने जा रहे हैं आप इन विशेष बातों को विशेष ध्यान रूप से रखे उसके पश्चात आपको जल्दी से तुरंत अवश्य इन बीमारियों का इलाज कर सकते हैं |

Advertisement

डेंगू बुखार के मुख्य प्रकार | how to protect baby from dengue in hindi

 डॉक्टर से एवं एक्सपर्ट की मानें तो डेंगू बुखार को चार भागों में विभाजित किया गया है यह चार प्रकार की बीमारियां उत्पन्न करते हमारी बॉडी के अंदर जब किसी व्यक्ति को डेंगू से प्रभावित हो जाता है यह बीमारी अक्सर एकएडीस एजिप्टी (Aedes egypti) नाम के प्रजाति के मच्छर के काटने से होती है जिसके कारण हमारी बॉडी में तेज बुखार उत्पन्न होती है इतनी तेज होती है कि हमारी बॉडी का टेंपरेचर 100 डिग्री से 110 या 115 डिग्री के बीच चला जाता है तो उस समय व्यक्ति की सांसे तेज चलने लग जाती है और |

अगर आप इसे डेंगू बुखार के प्रथम लक्षण को बड़ी आसानी से इन घरेलू उपचारों के जरिए ठीक कर लेते हैं तो बाकी के जो बाकी बचे हुए जो लक्षण है दो प्रकार है डेंगू बुखार के वह धीरे-धीरे कम होने लग जाते हैं शरीर की रोग प्रतिरोधक जो बॉडी की क्षमता है उसमें काफी इजाफा हो जाता है जिसके कारण बाकी 3 लक्षण या तीन प्रकार है डेंगू के वह अपने आप धीरे-धीरे खत्म होने लगते हैं जिससे व्यक्ति एक स्वस्थ स्थिति में पहुंच जाता है |

जरुरी टिप्स अवश्य पढ़ें – टॉप 5 आयुर्वेदिक सैक्स पावर कैप्सूल

डेंगू बुखार के प्रमुख लक्षण |

 वैसे तो इस डेंगू बुखार के कई लक्षण बीमारी होने के पश्चात नजर आते हैं लेकिन कुछ सामान्य लक्षण है जो आपको एकदम सामने नजर आते हैं खास करके आप इन नीचे बताए गए लक्षण अगर आपकी बॉडी के अंतर्गत दिखाई दे तो आप तुरंत अवश्य इन नीचे बताएंगे कुछ साधारण स्टेप से एवं कुछ साधारण घरेलू उपचार बताइए इनका अगर आप इस्तेमाल करते हैं तो आपके यह धीरे-धीरे यह लक्षण कब होने शुरू हो जाएंगे चलिए हम बात करते हैं कि डेंगू बुखार के 2 लक्षण है वह कौन-कौन से हैं इनको हम आपको नीचे कुछ मुख्य बिंदुओं के रूप में दर्शाएं हैं उन पर हाथ विशेष अमल कीजिए |

Home Remedies for Dengue Fever
Home Remedies for Dengue Fever in hindi

इसे भी पढ़ें – घमौरिया के 10 घरेलू इलाज क्या है

बार-बार बुखार आने के कारण और उपाय

  • जब किसी व्यक्ति को डेंगू बुखार होना शुरू हो जाती है तो उस व्यक्ति के तीन से 7 दिनों के भीतर भीतर इस बीमारी के लक्षण सामने नजर आते हैं जिसमें व्यक्ति की बॉडी के जो टेंपरेचर है जो तापमान है वह 104 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है |
  • डेंगू से प्रभावित व्यक्ति के शरीर में सबसे ज्यादा रक्त का 6 मिश्रण होता है यह मच्छर अक्सर हमारे बॉडी के खून के रक्त की जो  परिसंचरण प्रक्रिया है उसके साथ घुल मिलकर बॉडी के जो सभी पाठ से जो संधि है जोड़ जिसे घुटनों या जोड़ों का जो बिंदु है उन बिंदुओं में धीरे-धीरे दर्द होना शुरू हो जाता है |
  • बुखार इतनी तेज हो जाती है कि बॉडी में किसी प्रकार की हालत नहीं होती है व्यक्ति को नींद नहीं आती है काफी ज्यादा मात्रा में व्यक्ति को परेशान करती है |
  • डेंगू बुखार से पीड़ित व्यक्ति की हृदय गति बिल्कुल कम हो जाती है एवं ब्लड प्रेशर भी बहुत नीचे कम हो जाता है ऐसी स्थिति में आपको डेंगू बुखार होने की संभावना 100% बढ़ जाती है |
  • जिस पीड़ित व्यक्ति को डेंगू बुखार होती है तो उसके चेहरे पर लाल एवं गुलाबी रंग की झाइयां एवं छोटे छोटे बिंदु एवं फुंसियां होना शुरू हो जाती है |
  • डेंगू से पीड़ित व्यक्ति को भूख बंद हो जाती है बिल्कुल भूख कम लगती है और ज्यादा प्यास लगती है |

डेंगू रोग के लक्षण व उपचार क्या है

  • जो भी खाने की सामग्री है उस में बदबू आना मुंह में से बदबू आना यह डेंगू के प्रमुख लक्षण हैं |
  • डेंगू बीमारी से पीड़ित मरीज को शुरुआती दिनों में चलने में कुछ नॉर्मल परेशानियां होती है लेकिन जैसे ही डेंगू बुखार होने के 4 से 5 दिन हो जाते हैं उसके पश्चात व्यक्ति को चलने एवं उठने बैठने में बहुत ज्यादा मात्रा में दिक्कत होती है इससे उनकी मांसपेशियां एवं जोड़ों के जो भी गुट ने यह बिंदु है उनमें काफी ज्यादा मात्रा में दर्द होता है |
  • जब किसी व्यक्ति को डेंगू बुखार हो जाती है तो उस व्यक्ति की आंखें एकदम लाल हो जाती है तथा आंखों में जलन एवं पानी आना शुरू हो जाता है |
  • डॉक्टर से एवं एक्सपर्ट की मानें तो डेंगू बुखार को डॉक्टर चरणों में विभाजित किया है जिसमें शुरुआती 2 लक्षण होते हैं वह व्यक्ति को बिल्कुल कम प्रभावित करते हैं लेकिन जैसे-जैसे तीसरी स्टेज या तीसरा चरण स्टार्ट होता है तो उस समय व्यक्ति को चलने उठने बैठने एवं सोने के साथ-साथ जितने भी जुड़े हैं तो शरीर के अंदर जहां पर जोड़ है वहां पर काफी तेज मात्रा में दर्द होना शुरू हो जाता है |
  • अगर आप दूसरी स्टेज तक इसे डेंगू बुखार का लक्षण पहचान लेते हैं तो अगर डॉक्टर से एवं इन नीचे बताएगी घरेलू उपचारों का उपयोग करते हैं तो आप ही कुछ ही समय में यानी अगले दो से 3 दिनों के अंतर्गत आप इस बीमारी को जड़ से खत्म कर सकते हैं |

डेंगू बुखार के 10 घरेलू इलाज | 10 Simple Home Remedies for Dengue fever in hindi

1 .  डेंगू बुखार ठीक करने  के उपाय में नीम फायदेमंद है | dengue ka gharelu ilaj

 आयुर्वेदिक औषधियों के रूप में नीम को काफी फायदेमंद औषधि के रूप में बताया गया है नीम में एंटीऑक्सीडेंट एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो आपकी बॉडी के बाह्य एवं आंतरिक रुप से किसी प्रकार के जो जीवाणु या बैक्टीरिया है उनको दूर करने में नीम काफी फायदेमंद है अगर आप नीम के पानी से बॉडी या शरीर का स्नान करते हैं या फिर नीम की जो आगे की कोंपल होती है जिसे किनारा कहती है जो कच्ची कली होती है उसको अगर आप चबाकर खाते हैं तो आपको डेंगू बुखार से दूरी करने में काफी सरलता होगी साथ में नीम की पत्तियों का जो रस होता है |

Neem Home Remedy to Treat Dengue Fever in Hindi

कलियों का रस यह आपकी बॉडी के अंदर जो प्लेटलेट्स है जो वाइट ब्लड सेल्स है उनकी संख्या को बढ़ाने में काफी वृद्धि करता है इससे बॉडी की जो रोग प्रतिरोधक क्षमता है उसमें तेजी से विकसित होगा और बॉडी को अन्य जो बैक्टीरिया है एवं जीवाणुओं से लड़ने की शक्ति में काफी इजाफा मिलेगा यह आज की बीमारी को जल्द ठीक करने में सरलता करता है 

2 . डेंगू बुखार का घरेलू इलाज में गिलोय काफी लाभदायक | dengue bukhar ke gharelu upay

गिलोय को भी आयुर्वेदिक औषधियों में सबसे किफायती जड़ी-बूटी के रूप में उपयोग किया जाता है यह गर्म प्रकृति की पाई जाती है जो आपकी बॉडी के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता है उसको बढ़ाने में सहायता करती है क्योंकि यह आपकी बॉडी में एंटीऑक्सीडेंट एवं एंटीबैक्टीरियल जो गुण हैं उनको दूर करने में सहायता करते हैं आप सुबह और शाम और दोपहर तीनो टाइम गिलोय की जो जड़े होती है उन को पानी में उबालकर पीना है और साथ में तीन से चार तुलसी की पत्तियों को डालकर भी इस गाड़ी का इस्तेमाल करेंगे तो यह बॉडी के अंदर जो  एंटी प्रतिजन है उनकी संख्या में वृद्धि करेगी  और अगले तीन से 4 दिनों में आपकी बॉडी की जो रोग प्रतिरोधक क्षमता है एवं जो जीवाणुओं से लड़ने की शक्ति है उसमें काफी लगातार इजाफा देखने को मिलेगा |

3 . डेंगू बुखार ठीक करने के लिए तुलसी फायदेमंद | dengue bukhar ka deshi ilaj

 सबसे बहुमूल्य उपयोगी जड़ी बूटियों में तुलसी वास्तव में फायदेमंद औषधि है और तुलसी वास्तव में आयुर्वेदिक एवं पौराणिक विचार एवं पुराने जमाने के वैद्य डॉक्टर थे वह भी इस तुलसी के पतियों को काफी फायदेमंद बताया है यह आपकी बॉडी में जो रोग प्रतिरोधक क्षमता है एंटी प्रतिजन है तथा एंटीऑक्सीडेंट तथा एंटीबैक्टीरियल के गुण हैं उनको हटाने में काफी सहायता करती है यह बॉडी के रक्त में जूस परिसंचरण एवं संक्रमण की क्रिया है उसको कम करती है तथा रक्त परिवहन की संख्या में काफी वृद्धि करती है साथ में आपकी जो ब्लड प्रेशर की स्थिति है

उसको सरकुलेशन को सही करने में काफी लाभदायक है आप एक गिलास पानी के अंदर 8 से 10 तुलसी की पत्तियों को डालकर अच्छी तरह उबालें और इस पानी को दिन में तीन से चार बार नियमित रूप से पिएंगे तो निश्चित ही आपकी जो डेंगू बुखार की स्थिति है उसमें काफी सुधार देखने को मिलेगा |

4 . डेंगू बुखार ठीक करने का घरेलू इलाज में मेथी लाभदायक है | dengue bukhar ki aayurvedik dva

जब आपको डेंगू बुखार की समस्या काफी ज्यादा बढ़ जाती है तो उस समय आप को जोड़ो एवं  संधियों में काफी मात्रा में दर्द होना शुरू हो जाता है तो इसे दर्द एवं बुखार के लक्षणों को काफी ज्यादा मात्रा में कम करने के लिए मेथी आपके लिए काफी फायदेमंद है आप एक गिलास पानी के अंदर मेथी की पत्तियों को डालकर और साथ में चार से पांच कच्चे मेथी के दाने डालकर इसे अच्छी तरह से उबाले उबालकर पानी को छानकर इसका अगर आप नियमित रूप से उपयोग करते हैं अगले तीन से 4 दिनों तक तो आपकी बॉडी के अंदर जकड़न एवं वासियों पेशियों में दर्द होता है इस बीमारी के कारण वह दर्द में काफी राहत मिलेगी आपको |

यह भी पढ़ें – रोज खाली पेट मेथी खाने से मिलेंगे जबरदस्त फायदे

5 . डेंगू बुखार दूर करने का घरेलू इलाज में नारियल का पानी फायदेमंद है

 दोस्तों जब आपको डेंगू बुखार की स्थिति हो जाती है या बुखार से पीड़ित हो जाते हैं तो आपकी बॉडी के अंतर्गत जो भी प्रोटीन मिनरल्स एवं अन्य जो जरूरी तत्व है उनकी बॉडी में काफी मात्रा में कमी हो जाती है लेकिन ऐसी स्थिति में अगर आप नारियल के पानी का उपयोग करते हैं तो आपकी बॉडी में जो मिनरल से प्रोटींस एवं आयोडीन एवं अन्य जो रासायनिक तत्व है जिनकी बॉडी में बहुत आवश्यकता है उनकी आपूर्ति करने में नारियल पानी का काफी लाभदायक है इसलिए आप दिन में तीन से चार बार ऐसी स्थिति में नारियल के पानी का सेवन करें तो यह आपकी भूख एवं बॉडी की एंटी प्रतिदिन की को क्षमता है जो एंटीऑक्सीडेंट की गुणवत्ता की आवश्यकता है उनकी आपूर्ति करने में काफी लाभदायक है |

6 . डेंगू बुखार का रामबाण इलाज में चुकंदर  का रस लाभदायक है

Home Remedies for Dengue Fever Treatment in Hindi

 जब व्यक्ति डेंगू बुखार से पीड़ित हो जाता है तो उस व्यक्ति में जो रोग प्रतिरोधक क्षमता एवं जो रक्त में जो बैक्टीरिया एवं संक्रमित हो जाता है जिसके कारण बॉडी के अंदर खून की कमी होने लगती है साथ में पानी की मात्रा में भी कमियां होनी शुरू हो जाती है जिससे बॉडी में जो रेड ब्लड सेल एवं व्हाइट ब्लड सेल है उनकी संख्या में लगातार धीरे-धीरे कटौती होनी शुरू हो जाती है तो ऐसी स्थिति में आपकी बॉडी को मेंटेन करने एवं ठीक करने में चुकंदर का रस काफी फायदेमंद है आप एक गिलास चुकंदर का रस एवं साथ में गाजर का रस का सेवन करें

इससे आपकी बॉडी की प्रति जन एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता है उसकी संख्या में लगातार इजाफा होगा और यह आपकी जो खतरनाक बीमारी एवं बॉडी के अंदर जो बैक्टीरिया है उनको मारने में काफी सहायता करेगा यह बॉडी के अंदर अंदर घुसने वाले हैं जो आपकी सांसों के द्वारा उनको कम करने में काफी लाभदायक है |

जरुर देखें – पेशाब में जलन की होम्योपैथिक दवा

7 . एलोवेरा डेंगू बुखार ठीक करने का घरेलू इलाज में लाभदायक है | dengu bukhar kaise thik kare

 देखें फ्रेंड ऐसा है कि आयुर्वेदिक औषधियों में एलोवेरा काफी फायदेमंद औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है और यह आपकी बॉडी की कोई भी बीमारियां हो जैसे डेंगू बुखार हो या तपेदिक हो या निमोनिया हो या कोई भी अन्य बीमारियां हो तो सर्दी जुकाम जैसी अनेकों वायरस बीमारियां होती है उन सभी से लड़ने में एलोवेरा काफी लाभदायक है आप एलोवेरा जूस का इस्तेमाल ऐसे भी कर सकते हैं या अगर आप मोटापा या अन्य कोई शुगर जैसी कई बीमारियों से परेशान है तो आप अपने जूस के रूप में या पानी के रूप में एलोवेरा जूस का इस्तेमाल कीजिए

डेंगू के मरीज के लिए डाइट चार्ट | dengue fever me kya khana chahiye

यह आपकी बॉडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता एवं जो अंदर बैक्टीरिया है जो जीवाणु है तो आपकी बॉडी को काफी ज्यादा मात्रा में नुकसान पहुंचाते हैं उन सभी से बचाव करने में काफी लाभदायक है आयुर्वेदिक औषधियों में प्रत्येक औषधियों में एलोवेरा को सबसे प्रमुख औषधियों के रूप में माना गया है इसलिए आज एलोवेरा का जरूर इस्तेमाल कीजिए चाहे आपको कोई भी बीमारी हो यह सभी बीमारियों से लड़ने में सहायता करता है |

8 . डेंगू बुखार का इलाज में संतरे का जूस लाभदायक है |

 अगर हम संतरे की बात करें तो संतरे में विटामिन सी की काफी ज्यादा मात्रा में औषधि के रूप में कार्य करता है जब आपकी बॉडी के अंतर्गत डेंगू बुखार या फीवर जैसी बीमारियां अनेकों होने शुरू हो जाती है तब आपकी बॉडी में जो विटामिन सी की जो रसायनिक अभिक्रिया है वह धीरे धीरे कम होना शुरू हो जाती है इससे आपके फेफड़े एवं सांस लेने की दिक्कत काफी ज्यादा में हो जाती है और आपकी भूख बंद हो जाती है तो ऐसी स्थिति में आप संतरे का जूस या आंवले का जूस काफी लाभदायक होता है यह आपकी डेंगू बुखार से जो व्यक्ति को दूर करने में काफी सहायता करता है यह आपकी बॉडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता तथा एंटीऑक्सीडेंट दोनों को दूर करने में काफी लाभदायक है |

9 . पपीते का रस भी डेंगू बुखार ठीक करने में उपयोग कर सकते हैं

Home Remedies for Dengue Fever Treatment in Hindi

 पपीते को भी प्रोटीन एवं विटामिंस की आपूर्ति करने वाला स्रोत बताया गया है कहा जाता है कि अगर आप डेंगू बुखार से पीड़ित हैं और अगर आपको काफी ज्यादा मात्रा में भूख लगना बंद हो जाती है तथा जोड़ों एवं घुटनों में दर्द होना शुरू हो जाता है तो ऐसी स्थिति में आप पपीते के रस का भी सेवन कर सकते हैं पपीते के रस के साथ-साथ आप तीन से चार तुलसी की पत्तियों का इस्तेमाल करें साथ में आप दालचीनी  के टुकड़ों को इस में डालकर अगर आप पीते हैं तो आपको निश्चित रूप से बुखार से आराम मिलेगा यह औषधि आयुर्वेदिक औषधियों में सबसे महत्वपूर्ण औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है |

डेंगू बुखार से समन्धित प्रश्न उत्तर

1 . प्रश्न – डेंगू बुखार में चावल खाना चाहिए या नही?

तर – देखिए फ्रेंड्स ऐसा है की जब आपको डेंगू बुखार हो जाती है तब बोदी का तापमान काफी बढ़ जाता है और जब आपका तापमान बढ़ जाए ऐसी स्थति में चावल नही खाना चाहिए और साथ में कभी भी दही एवं छाछ का सेवन भी नुकसान दायक होता है |

2 . प्रश्न – डेंगू बुखार में क्या खाना चाहिए?

उतर – जब व्यक्ति को डेंगू हो जाता है तब ज्यादा मात्र में लौहयुक्त खाद्य पदार्थ जैसे पालक, सेब आदि सब्जियों का सेवन करे और साथ में विटामिन Aतथा विटामिन C युक्त फलो एवं सब्जियों का सेवन करे ताकि बोदी की रोग प्रतिरोधक क्षमता में काफी वृद्धि देखने को मिलेगी |

3 . प्रश्न – डेंगू बुखार में रोटी खाना चाहिए या नही?

उतर – YES जरुर आपको डेंगू बुखार की स्थति में रोटी अवश्य खाना चाहिए क्योकि यह आपकी बोदी की इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बनाती है |

4 . प्रश्न – डेंगू बुखार में अंडा खाना चाहिए या नही?

उतर – दोस्तों खाना चाहिए या नही यह कोई जरुरी नही है क्योकि अगर आप मास ,मछली और अंडे का मसहरी सेवन करते है तो अवश्य उपयोग में ले सकते है लेकिन साथ में आप विटामिन युक्त दूध , केला , अनार , संतरा , आंवला आदि का सेवन करते है तो काफी फायदेमंद है |

5 . प्रश्न – डेंगू बुखार में कितनी प्लेटलेट्स होनी चाहिए?

उतर – एक स्वस्थ व्यक्ति की प्लेटलेट्स 2,५२,000 से 4,50,000 सामान्य होती है लेकिन जब आपको डेंगू बुखार हो जाती है उस समय कम से कम 2,22,000 से कम नही होना चाहिए

डेंगू बुखार से समन्धि सही सुझाव

फ्रेंड्स ऐसा है की जब आपको डेंगू बुखार के सामान्य लक्ष्ण दिखाई दे तब आप इन घरेलू उपचारों को अपना सकते है लेकिन जब यही डेंगू बुखार की स्थति काफी तेज तथा बुखार काफी तेज हो जाए ऐसी स्थति में आप एक्सपर्ट डॉक्टर से सलाह जरुर ले क्योकि कई बार ज्यादा लापरवाही की वजह से व्यक्ति की जान भी जा सकती है समय पर आप इसका इलाज एवं जाँच डॉक्टर से सम्पर्क जरुर करें यह आपके स्वस्थ्य का सवाल है यह आपकी जिन्दगी का सवाल है इसका खास ख्याल रखें |

डेंगू बुखार के 10 घरेलू इलाज क्या है, home remedy for dengue fever treatments in hindi , what food can cure dengue fever in hindi, how to treat dengue symptoms in hindi, डेंगू बुखार के घरेलू उपचार, how to protect baby from dengue in hindi , डेंगू रोग के लक्षण व उपचार क्या है , 10 Simple Home Remedies for Dengue fever in hindi, डेंगू बुखार के 10 घरेलू इलाज , dengue ka gharelu ilaj , dengue bukhar ke gharelu upay , dengue bukhar ka deshi ilaj , dengue bukhar ki aayurvedik dva , dengu bukhar kaise thik kare , dengue fever me kya khana chahiye , डेंगू बुखार में कितनी प्लेटलेट्स होनी चाहिए ,

Advertisement

Leave a Comment