बवासीर के लक्षण और घरेलू उपचार | Hemorrhoids Symptoms And Home Remedies | Bavasir ke Lkshan or Gharelu Upchar

Hemorrhoids Symptoms And Home Remedies , बवासीर के लक्षण और घरेलू उपचार , Bavasir ke Lkshan or Gharelu Upchar , पाईल्स का घरेलू इलाज , बवासीर को कैसे ठीक करे , बवासीर होने पर क्या खाना चाहिय , What is Hemorrhoids or Piles , How to Remove Home Remedy For piles , बवासीर के लक्षण , बवासीर क्यों होती है , Home Remedies For Piles in Hindi , बवासीर को जड़ से ख़त्म कैसे करे

बवासीर एक बहुत ही ज्यादा तकलीफ दायक बीमारी है जिससे हमारे शरीर में गुदा के अंदर और बाहर बहुत तेज दर्द होता है पाईल्स की समस्या होने पर व्यक्ति के गुदे या मलद्वार पर अत्यधिक पीड़ा होती है और मल करते समय ज्यादा खून और दर्द होता है जिससे उठने बेठने में भी तकलीफ होती है वैसे तो यह बीमारी कोई खास नही है लेकिन लम्बे समय से तकलीफ होने पर बहुत तेजी से इसका जाल हमारे गुदा में ज्यादा संख्या में फ़ैल जाता है बवासीर को मस्से की प्रोबलम हो जाती है जोकि अंदर और बाहर दोनों तरफ हो जाते है जिससे आपको मल करते समय भुत दर्द या पीड़ा होती है

बवासीर के लक्षण और घरेलू उपचार

Table of Contents

बवासीर को कैसे ठीक करे

इसकी समस्या होने पर फ्रेंड्स आप समय पर ही इसका इलाज आप घरेलू उपचार के जरीय कर सकते है और बवासीर को Hemorrhoide या पाईल्स भी कहते है इसके रोगी को ज्यादा तेज मसालेदार चटपटे नमकीन भोजन का सेवन नही करना चाहिय लेकिन आपको फ्रेंड्स की समस्या है तो आप आज के इस आर्टिकल में पूरी तरह जाने गें की पाईल्स या बवासीर क्या है , बवासीर के लक्षण , व् घरेलू उपायों के बारे में पूरी जानकारी इस आर्टिकल में मिलने वाली है इसलिय आप इस आर्टिकल को ध्यान से पढना है |

बवासीर या पाईल्स क्या है | What is Hemorrhoids or Piles | Bavasir or Piles Kya hai

पाईल्स बहुत ही पैनिक दर्द वाला खतरनाक बीमारी है इसकी समस्या आपको गुदे के अंदर और बाहर दोनों तरफ होती है अक्सर ये बीमारी आपके एक जगर ऑफिस में लगातार कई घंटो तक कम करने से या फिर तेज मसालेदार भोजन खाने से या फिर मानसिक तनाव बढ़ने से भी बवासीर की समस्या हो जाती है बवासीर भी दो प्रकार की होती है एक बवासीर में लेतीं वाले मलद्वार पर छाले हो जाते है

जिससे आपको मल या शौच करते समय ज्यादा दर्द होता है और कभी कभी खून भी आना शुरू हो जाता है और कई बार इन गुदो में कांटे जैसी चुभन होती है , खुजली आना , मस्से हो जाना जिससे चमड़ी में सुजन रहता है जिससे आपको उठने बेठने में बहुत ही दर्द होता है इसका इलाज आपको समय रहते हुए ही करवाना चाहिय क्योकि समय निकालनेके बाद आपको और भी कई बीमारियों से घेर लेता है जिससे आगे संकट और बढ़ता जाता है

चेहरे के पिम्पल्स हटाने का घरेलू उपाय | Home

बवासीर कितने प्रकार के होते है | What Are The Types of Hemorrhoids

आमतोर पर बवासीर या पाईल्स दो प्रकार के होते है ( बवासीर को कैसे ठीक करे )

1 . खुनी बवासीर ( बल्ड पाईल्स )

2 . बादी बवासीर ( साधारण पाईल्स )

खुनी बवासीर – खुनी बवासीर में रोगी को मल त्याग करते समय मस्से अंदर से बाहर की और निकल जाते है जिससे मल के साथ खून भी टपकता है धीरे धीरे खून का ज्यादा आना भी शुरू हो जाता है जिससे बेचेनी सी रहने लगती है और आपको भूख भी कम लगती है खुनी बवासीर से इतना दर्द नही होता जितना बादी बवासीर में होता है खुनी बवासिर्मे मल द्वार पर बड़े आकर के मस्से हो जाते है जिसमे गंदे खून जैम जाता है और ये खून आपको मल त्याग करते समय बहुत ही परेशानी होती है

बादी बवासीर – इस प्रकार की पाईल्स में आपको असहनीय दर्द होता है जो की आपको मल त्याग करते समय आपको बहुत भारी दर्द सा होता है अत्यधिक खुजली भी होती हैजिससे आपको उठने बेठने में भी बहुत तकलीफ देता है बादी बवासीर या पाईल्स में आपके मल द्वार के बाहर ही मस्से नजर आते है जो की आपको उठने तथा मल त्याग करने पर मल त्याग सही तरह से पेट साफ करने ही नही देता है वास्तव में बादी बवासीर आपके खान पान में तेज मसालेदार नमकीन या चटपटे खाने से होती है जिससे पेट में इनकी गैस भी हो जाती है जिससे आपको बहुत ज्यादा तकलीफ देता है

बवासीर या पाईल्स होने के लक्षण क्या है | What Are The Symptoms of Piles

  • बवासीर होने की स्थति में आपको गुदे के चारो और खुजली आने लगती है
  • गुदे के बाहर और अंदर कांटे जैसी चुभन होती है
  • पाईल्स से पीड़ित व्यक्ति को गुदे के बाहर सुजन रहता है
  • मल करते समय अत्यधिक दर्द होना
  • गुदे के बाहर मस्से होना जिनसे खून निकलता हो
  • लेतीं जाने की इच्छा तो बार बार होना मगर शौच अच्छी तरह से बिलुल साफ न होना
  • भूख कम लगना
  • एक जगह ज्यादा बेठे रहने से मलद्वार पर तेज पीड़ा होना ऐसे कई लक्षण आपको नजर आए तो आप इनको नजर अंदाज न करे इनका घरेलू उपचार या आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट जरुर करवाए

अजवाइन के फायदे और नुकसान | Benefits And Harms Of Celery

बवासीर या पाईल्स होने के क्या कारण है | What Causes Piles in Hindi

( बवासीर को कैसे ठीक करे )

pails आमतौर पर भारत के लगभग 16 % लोगो को बवासीर की समस्या है इनके होने के कई कारन है जैसे आप पहले से ही कब्ज या गैस से परेशान है जिससे आपको टॉयलेट के अंदर घंटो बेठना पड़ता है जिससे आपको मल त्यागने में बहुत सी परेशानी होती है उनसे भी पाईल्स की समस्या हो सकती है या फिर आप एक मजदुर हो , ट्रेफिक पुलिस , ऑफिस वर्कर , आप पुरे दिन कड़ी घुप में एक जगह खड़े रहते हो जिससे आपको आराम की बिलकुल फुर्सत नही होती है तब आपको बवासीर या पाईल्स की समस्या हो सकती है साथ में बवासीर वंशानुगत भी होता है

अगर आपके परिवार में दादा – दादी और माता – पिता के भी बवासीर की प्रोब्लम है तो आपको भी बवासीर होने के पके चान्स होते है और बवासीर आपके खान पान मे बद्लाव जैसे तेलिय पदार्थो से बनी मिठाईया या फिर नमकीन पकोड़े खाने से भी पाईल्स की बीमारी हो सकती है ऐसे बहुत से कारन आपकी बवासीर को जन्म देते है लें फ्रेंड्स आपको घबराने की कोई बात नही है क्योकि आज में आपके लिय ऐसे बहुत से घरेलू उपचार लेकर आया हूँ जिनका इस्तेमाल करके आप अपनी बवासीर या पाईल्स की प्रोबलम को कम कर सकते है इनसे छुटकारा पा सकते है

बवासीर या पाईल्स के घरेलू उपचार की विभिन्न विधियां कुछ इस प्रकार है | Home Remedies For Piles in Hindi

पाईल्स के अनेको घरेलू आयुर्वेदिक उपचार है जिनका इस्तेमाल करके आप अपनी इस बवासीर की बीमारी को जड़ से खत्म कर सकते है क्योकि पाईल्स की बीमारी के लिए खुच खास जरुरी परहेज है इसका इस्तेमाल आप बंद कर देना है और नियमित रूप से बताए जाने वाले घ्रेली उपायों पर ही भरोसा रखे फ्रेंड्स अगर आपको इन घरेलू उपचारों के जरिरी किसी प्रकार का फायदा न मिले तो आप बढ़िया md फिजिशियन doctor से सम्पर्क जरुर करे ताकि समय रहते हुए आप इस समस्या को दूर कर सके

अजवाइन के फायदे और नुकसान | Benefits And Harms Of Celery

1 . बवासीर का घरेलू उपचार एलोवेरा है | Alovera Home Remedy For Piles in Hindi

एलोवेरा आयुर्वेद के अनुसार बहुत ही फायदेमंद है इसमें बहुत से मल्टी विटामिन व् मिनरल्स मोजूद होते है जो की आपको त्वचा के साथ आपको पेट की कब्ज के लिय भी बहुत ही फायदेमंद उपचार है जब आपकी कब्ज या गैस की प्रोब्लम दूर हो जाएगी तो आपको मल त्याग करने में भी कोई भी प्रकार की समस्या नही होगी एलोवेरा कब्ज केसाथ साथ आपकी गुदे की खुजली को कम करने में भी सहायक है और पेट के जितने भी रोग विकार है उनको दूर करता है

एलोवेरा के गुडो को आप अच्छी तरह छीलकर उसके जेल को दूध केसाथ पिने से आपकी पाईल्स की प्रोब्लम बिलकुल दूर हो जाएगी और आपके गुदे के मस्सो से जो खून निकलता है उसको रोकने में भी बहुत ही सहायक है साथ में जो पैल्सकी वजह से गुदे के मस्सो पर दर्द या जलन होती है उसको कम करने में भी बहुत ही फायदेमंद है

2 . पाईल्स का घरेलू उपचार में जेतुन के तेल का इस्तेमाल | Use of Olive Oil in Home Treatment of Piles in Hindi

( बवासीर को कैसे ठीक करे )

जेतुन का तेल भी बहुत ही फायदेमंद है यह आपकी बोडी को फ्लेक्सिबल एवं कोमल बनाने में बहुत ही सहायक है अप जेतुन के तेल को मलद्वार पर गुदे के बाहर जो मस्से है उन पर इसको लगाना है यह आपके दर्द और चमड़ी को कोमल बनाने में सहायता करता है जेतुन का तेल एंटी ओक्सिडेंट का कार्य करता है जिससे पेट को साफ करने एवं लेटिन के वक्त जो तकलीफ होती है उसको कम करता है

3 . सेब का सिरका बवासीर या पाईल्स का रामबाण घरेलू उपचार है | Apple Cider Vinegar is a Panacea for Piles in Hindi

इस सेब के सिरके में कई एंटी बायोटिक गुण होते है जो की आपकी खुनी बवासीर के लिय लाभदायक है और जलन पीड़ा और खुजली को कम करने में बहुत ही फायदेमंद है आप सुबह श्याम एक गिलास गुनगुने पानी में सेब के सिरके पावडर की एक चमच पानी में मिलकर इसे आपको दिन में दो से तिन बार पीना है आपकी खुनी बवासीर से जो गन्दा रक्त निकलता है उसको रोकने में बहुत ही सहायक है और आपको जलन से भी बचाने में सहायता करता है

4 . बादाम का तेल भी बवासीर के लिय घरेलू उपाय है | Almond Oil Also A Home Remedy For Piles in Hindi

बादाम के अंदर भी कई एंटी ओक्सिडेंट होते है जोकि आपकी बोडी के अंदर किसी प्रकार की जलन या खुजली हो उसको कुछ समय में शांत कर देता है आप बादाम के तेल को बादी बवासीर के गुच्छो पर लगाने से आपकी पाईल्स की बीमारी को शांत करता है इसके लिय आप बादाम के तेल में कोटन को डुबोकर उस कोटन को आपके मल द्वार पर रखना है इससे बाहर के जो लाल रंग के गुदे पर मस्से है उनके सुजन तथा दर्द पीड़ा को कम करदेता है जिससे आपको सौच करने में तकलीफ नही होगी

5 . जीरे के पावडर से होगा बवासीर पर फायदा | Cumin Powder Will Benefits Piles in Hindi

जीरे के अंदर भी कई एंटी बायोटिक गुण होते है और जीरा वैसे भी हमारे शरीर के अंदर जिंक मैग्नीशियम की पूर्ति का स्रोत है इसलिय बवासीर के इलाज में भी जीरे पावडर का इस्तेमाल कर सकते है आप जीरे के पावडर को पानी के साथ भिगोकर रखना है उसके 2 से 3 घंटे बाद इस जीरे पावडर के पानी को सुबह श्याम पीना है इससे भी खुनी तथा बादी बवासीर का रक्त तथा दर्द पीड़ा एकदम सी खत्म हो जाएगी

6 . निम्बू का रस भी बवासीर के लिय फायदेमंद है | Lamon Juice is Also Beneficial For Piles in Hindi

कई बार शरीर में विटामिन्स और प्रोटीन तत्वों की कमी से ही पाईल्स की समस्या हो जाती है ऐसे में निम्बू में स्ट्रीक विटामिन्स c की भरपूर मात्रा होती है जोकि आपके पाईल्स या बवासीर के लिय फायदेमंद होता है आप एक गिलास पानी के अंदर निम्बू का रस और शहद को आपस में अच्छी तरह मिलकर पिने से भी आपको जो बादी बवासीर है उसकी जलन और खुजली को कम करता है निम्बू और शहद एंटी बायोटिक होते है जो आपकी बोडी के इम्युनिटी सिस्टम बनाए रखने में बहुत ही लाभदायक है

चेहरे के पिम्पल्स हटाने का घरेलू उपाय | Home

7 . मठा और अजवाइन का घरेलू उपचार पाईल्स के लिय | Home Remedies of Matha And Ajwain For Piles in Hindi

मठ्ठा और अजवाइन भी आपकी पाईल्स या बवासीर के लियबहुत ही लाभप्रद है कहते है की आप मठ्ठा और अजवाइन को बारीक़ पीसकर उसको दही के साथ मिलाकर खाना खाने के बाद सुबह श्याम दोनों टाइम लेने से आपकी जो खुनी piles है या फिर इसमें सुजन या जलन है उसको दूर करने में बहुत ही अच्चा घरेलू उपचार है

8 . त्रिफला चूर्ण भी बवासीर के लिय फायदेमंद है | Triphala Churna is Also Beneficial For Piles in Hindi

आयुर्वेदिक ओषधियो में त्रिफला को बहुत ही फायदेमंद ओषधि माना है आपको piles से बहुत ज्यादा तकलीफ है दर्द असहनीय है जिससे आपको मल त्याग करने एवं उठने बेठे में बहुत ज्यादा पीड़ा होती है तो आप रात को सोने से पहले एक गिलास पानी के साथ एक चमच त्रिफला चुन को मिलकर पिने से बव्सिर ही नही आपके पेट के जितने भी रोग विकार है उन सबको बड़ी आसानी से दूर करने में सहायक है और कब्ज की समस्या के लिय तो त्रिफला रबमन उपाय है

9 . इसबगोल की भूसी बवासीर का घरेलू उपचार | Isabqol Husk Home Remedy For Piles in Hindi

बवासीर को आमतौर पर दो भागो में बताया गया है खुनी बवासीर और बादी बवासीर इन दोनों में ज्यादा तकलीफ बादी बवासीर देती है समे व्यक्ति को असहनीय दर्द होता है इसके लिय आप इसबगोल के चूर्ण को एक गिलास पानी में डालकर पिने से आपके पेट की कब्ज और गैस जिसे एसिडिटी कहते है उनको बाहर करता है और आपके piles के दर्द व् सुजन और खून खुजली को बिलकुल कम कर देता है फ्रेंड्स अगर आपको बताए गए घरेलू उपचार से बिलकुल ही फायदा नही है तो आप आयुर्वेदिक या अन्य फिजिशियन doctor से सलाह ले ताकि आपकी इस piles की समस्या से तुंरत राहत मिल सके

10 . बवासीर के लिय ग्लिसरीन और मैग्नीशियम सल्फेट का मिश्रण | Combination of Glycerin And Magnesium Sulphate For Hemorroids in Hindi

ग्लिसरीन और म्ग्निशियम आपकी त्वचा के लिय बहुत ही लाभदायक है ग्लिसरीन और मैग्नीशियम सल्फेट को आपस में मिलाकर उसके पेस्ट को गुदे के बाहर और अंदर जो मस्से लटके हुए दिखाई देते है वहां पर आप कोटन की सहायत से लेपन करना है और उसके बाद इस लेपन पर पट्टी बांधने से भी आपकी पाईल्स की समस्या के लिय बहुत ही फायदेमंद है कहते है की मैग्नीशियम सल्फेट में एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी बायोटिक के गुण मोजूद होते है जिससे आपके स्किन की कोई भी समस्या हो उनसे तुंरत आराम मिलाता है

11 . नारियल की जट्टा भी बवासीर के लिय लाभदायक है | Coconut jatta is Also Beneficial For Piles in Hindi

आप नारियल की जट्टा को आग में जलाकर उसकी भस्मी बना लेना है इस भस्मी को सुबह श्याम एक गिलास पानी में डालकर पिने से आपकी पाईल्स जिसमे खून या खुजली आती है उनसे धीरे – धीरे बिलकुल आराम मिलेगा ध्यान रहे दोस्तों भस्मी को आप सुबह खली पेट ही प्रयोग में लेना है यह आपके बोडी के अंदरूनी घावों को बहुत तेजी से भरने में बहुत ही सहायक है

12 . अंजीर को खाने से बवासीर की समस्या दूर होती है | The Problem of Piles is Removed by Eating Figs in Hindi

आयुर्वेद कहता है की आप रात की 3 से 4 अंजीर को एक गिलास पानी के अंदर भिगो देना है और सुबह खली पेट इनको खाना है और साथ में अंजीर भीगे पानी को पीना है आप पुरे दिन बोडी में 4 से 5 लिअता पानी की भेजना है जिससे आपके यूरिन या मल के सूखने की प्रोब्लम होती है जिससे आपको सुबह मल करते समय टॉयलेट में लम्बे टाइम तक एक ही पोजीशन में बता रहना पड़ता है उससे आपको पेट की कब्ज और गैस की प्रोबलम जड़ से दूर हो जाएगी और बादी वाली जो बवासीर है उनसे भी आपको छुटकारा मिलेगा

13 . बवासीर का घरेलू उपाय दही का सेवन | Home Remedy For Piles , Consumption in Hindi

दही के अंदर मल्टी विटामिन और मिनरल्स पाए जाते है जोकि आपकी पाईल्स की परेशानी के लिय बहुत ही जरुरी है दही का सेवन अगर आप सुबह श्याम ज्यादा करते हो तो बवासीर में जो खून या खुजली होती है वो बिलकुल नही होगी और ना ही गुदे के जो मस्से है उसमे सिजन आएगा इससे कब्ज और गैस भी नही होगा

14 . बवासीर का रामबाण उपाय पपीता | Papaya Remedy For Piles in Hindi

पपीते में एंटी पाईल्स के गुण मोजूद होते है जो आपकी बवासीर का जो दर्द होता है उनसे राहत दिलाता है और पेट के जितने भी रोग विकार है जैसे पेट में दर्द , कब्ज , गैस जैसी कोई भी समस्या हो जिनसे बवासीर होने के ज्यादा चान्स होते है उन सब से आराम दिलाने में काफी सहायक है पपीता विटामिन और प्रोटीन तथा मिनरल्स का अच्चा स्रोत है जो आपकी बोडी के लिय बहुत ही जरुरी है

बवासीर से बचने के लिय क्या क्या सावधानिया जरुरी है

  • पाईल्स से पीड़ित रोगी या मरीज को खान पान में तेल से बने हुए भोजन का इस्तेमाल नही करना है
  • जंक फूड्स का खासकर ध्यान रखना है
  • ज्यादा मसालेदार भोजन जैसे मिट , मछली , और चिकन से बिलकुल परहेज करना है
  • ज्यादा नमकीन और तीखे भोजन से बचना है क्योकि तीखे मसालेदार भोजन से पेट की कब्ज होती है और कब्ज से बवासीर होने के पके चान्स है
  • खाने में ज्यादा प्रोटीन और विटामिन वाले फल फ्रूट्स का सेवन करना है और इनका इस्तेमाल आप सलाद में भी करे
  • दही और छाछ को दिन में बार बार पीना है
  • चाय , कोफ़ी सिगरेट ,बीडी जैसे नशीले पदार्थो का सेवन बिलकुल नही करना है
  • मानसिक तनाव से फ्री रहना है आप किसी प्रकार की टेंशन ना करे
  • पुरे दिन खूब पानी पीना है और सुबह जल्दी उठकर घूमना होता है जिससे आपका पेट बिलकुल अच्छे से मल त्याग हो जिससे आपकी कब्ज और गैस की समय न हो

Most Popular Question & Answere

प्रश्न 1 . बवासीर को जड़ से ख़त्म कैसे करे ?

उतर – पाईल्स को जड़ से ख़त्म करना चाहते है तो आप त्रिफला चूर्ण का इस्तेमाल करे और दिन में खाने में तेल व् मसालेदार भोजन से दूर रहे साथ में ज्यादा दही और छाछ का सेवन करे जिससे आपको कब्ज की प्रोबलम नही होगी

प्रश्न 2 . बवासीर के लिय सबसे अच्छी दवा कोनसी है ?

उतर – इसका घरेलु उपचार में आप जीरे को पीसकर सुबह श्याम खाली पेट नियमित रूप से पिने से अगले कुछ ही दिनों में आपको बवासीर में आराम मिलेगा और जो आपको खून गुरने की समस्या है वो बिलकुल कम हो जाएगी

प्रश्न 3 . क्या बवासीर का परमानेंट इलाज है ?

उतर – जी हाँ फ्रेंड्स आप बवासीर का परमानेट इलाज है आपको बस इसके लिय परहेज रखना होगा और आपको दही छाछ का सेवन करना है और एलोवेरा जूस का इस्तेमाल करना है

प्रश्न 4 . बवासीर हो जाए तो क्या खाना चाहिय ?

उतर – बवासीर की समस्या हो जाए तो आपको ज्यदा साल्स खाना है और साथ में आप फल फ्रूट्स का सेवन करना है जिसमे फाइबर युक्त सलाद का इस्तेमाल करना होता है और मसाले दार भोजन से बचना है

प्रश्न 5 . खुनी बवासीर के परहेज क्या है ?

उतर – आपको खुनी बवासीर या पाईल्स में तेज मसालेदार और ज्यादा तेल से बने भोजन जैसे मटन , मछली , और चिकन का इस्तेमाल नही करना है इनसे आपको बचना है

प्रश्न 6 . बवासीर के लिय मलहम क्या है ?

उतर – पाईल्स के रोगी को नारियल की जट्टा को आग में जलाकर इसकी राख को मठ्ठे के साथ नारियल का तेल या जेतुन के तेल को मिलकर लगाने से भी खुनी बवासीर में आराम मिलाता है

प्रश्न 7 . बवासीर का रामबाण आयुर्वेदिक इलाज क्या है ?

उते – पाईल्स या बवासीर को आप कई घरेलू उपचार है जैसे आप जीरे को रात को एक गिलास पानी में भिगोकर रखे सुबह खाली पेट इस जीरे के रस के पानी को पिने से भी आपकी बवासीर की प्रोबलम दूर कर देगा

प्रश्न 8 . खुनी बवासीर होने का कारण

उतर – खुनी बवासीर ज्यादा तेज तेलिय पदार्थो से बनी डिश या सब्जी के सेवन करने से तथा मसालेदार भोज्य पदार्थो के सेवन से भी खुनी बवासीर होती ही और ज्यादा देर तक एक ही स्थान पर बेठे रहने से भी खुनी बवासीर की समस्या होती है

प्रश्न 9 . बवासीर को कैसे ठीक करें?

उतर – आप एक चमच एलोवेरा जेल और आधा चमच हल्दी पाउडर दोनों को अच्छी तरह से मिक्स करके रात को सोने से पहले आप जो अंग बवासीर से प्रभावित या संक्रमित है उस भाग पर अच्छी तरह हल्के हाथो ने लेपन करें यह विधि अगर आप नियमित रूप से 1 से 2 सप्ताह तक करते है तो बहुत जल्द ही आराम मिलेगा |

प्रश्न 10 . बवासीर में क्या खाना सबसे बेस्ट है ?

उतर – खुनी बवासीर से आप काफी दिनों सेपरेशन है तो आप खाने में सबसे अधिक गाय के दूध की छाछ सबसे बेस्ट बताई गई आयुर्वेद में गाय के दूध की छाछ में ऐसे बहुत से पोषक तत्व होते है जो की खाज खुजली एवं दर्द को कम करने में भी सहायक है

अजवाइन के फायदे और नुकसान | Benefits And Harms Of Celery

चेहरे के पिम्पल्स हटाने का घरेलू उपाय | Home

3 thoughts on “बवासीर के लक्षण और घरेलू उपचार | Hemorrhoids Symptoms And Home Remedies | Bavasir ke Lkshan or Gharelu Upchar”

Leave a Comment