डेंगू बुखार के टॉप 5 देशी इलाज | home remedies for dengue fever in hindi

home remedies for dengue fever – डेंगू बुखार का देशी इलाज देश में हर साल हजारों की संख्या में लोग इस डेंगू बुखार से पीडत होकर हर साल दम तोड़ते है इस बीमारी के लक्षण आपको नजर आए तो तुरंत इलाज करवाना बहुत जरुरी है यह धीरे धीरे आपके स्वास्थ्य को काफी प्रभावित करता है अक्सर डेंगू बुखार मादा एडीज इजिप्टी मच्छर नामक मच्छर के काटने से होता है यह काफी खतरनाक जिव है जिनका असर हमारे खून पर सीधा असर पड़ता है एक बार जब यह मच्छर कट जाए तो एक स्वस्थ व्यक्ति की बोडी के अंदर खून में प्लेटलेट्स को काफी तेजी से घटाने में सहायता करता है |

डेंगू बुखार का देशी इलाज

Table of Contents

यह भी पढ़ें – हिमोग्लोबिन बढ़ाने के 10 घरेलू उपाय

यह हमारे ब्लड को संक्रमित करता है जिसके कारण सिर दर्द , बदन दर्द , तेज बुखार , हड्डियों एवं मासपैशियो में असहनीय दर्द , थकान , कमजोरी जैसे लक्षण दिखाई देना शुरू हो जाते है लेकिन अगर आपको इस प्रकार के ल्स्कन दिखाई दे तो आप बड़ी आसानी से ही घरेलू देशी लाज के जरीय भी बहुत जल्द ही ठीक कर सकते है आयुर्वेद में इस डेंगू बुखार को ठीक करने के लिय बहुत से ऐसी घरेलु सामग्री है जिनका इस्तेमाल करके आप बहुत आसानी से इस बीमारी से छुटकारा प् सकते है आइए जानते है कुछ मोस्ट 5 घरेलू उपचार के बारे में विस्तार से जिनका इस्तेमाल करने की आसन ट्रिक के बारे में |

डेंगू बुखार क्या है | Home Remedies for Dengue Fever Treatment in Hindi

dengue fever (डेंगू बुखार) एक वायरस जनित रोग है जिससे पीड़ित रोगी को अत्यधिक असहनीय दर्द को झेलना पड़ता है इस वायरस जनित बीमारी को एक दुसरे तक फ़ैलाने के लिय अन्य दुसरे माध्यम की आवश्यकता पड़ती है उस आवश्यकता की पूर्ति मादा मादा एडीज इजिप्टी मच्छर नामक मच्छर द्वारा होती है यह मच्छर एक डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज के संक्रमण को दुसरे एक स्वस्थ व्यक्ति तक बहुत आसानी से पहुंचा सकता है इस बीमारी से पीड़ित रोगी के कुछ सामान्य लक्षण जो अगले कुछ ही घंटो बाद ही दिखाई देना शुरू हो जाते है जैसे सिर दर्द , बदन दर्द ,हड्डियों एवं मासपैशियो का दर्द , उल्टी , दस्त , जी michalna जैसे लक्षण सामने आते है जिसके कारण बहुत ज्यादा दर्द होता है यह बीमारी इतनी जल्दी फैलती है की एक दिन में एक हजार व्यक्तियों को ग्रसित कर सकती है |

डेंगू बुखार के लक्षण क्या है | Dengue Fever Symptoms in Hindi

  1. बोडी में अचानक तेज ठंड लगना और फिर अचानक ही तेज गर्म बुखार हो जाती है |
  2. डेंगू बुखार होने के बाद बोडी के अंदर कम्पन हो जाता है |
  3. इस बुखार से पीड़ित रोगी को सिर दर्द , बदन दर्द , हड्डियों एवं मासपैशियो में दर्द |
  4. उल्टी दस्त होना |
  5. भूख बिलकुल बाद हो जाना |
  6. बोडी एकदम डिहाइड्रेशन एवं निर्जलीकरण होना |
  7. आँखों से पानी गिरना व् आँखों के उपरी हिस्से बोहें में दर्द होना |
  8. स्किन तथा चेहरे पर लाल चखते एवं फुन्सिया हो जाना |
  9. चलने फिरने में बहुत ज्यादा परेशानी |
  10. बोडी एकदम नर्वस हो जाना |
  11. काम करने की बिलकुल शक्ति न होना |
  12. दिन प्रति दिन बुखार और तेज होती जाती है |

यह भी पढ़ें – खांसी का घरेलू इलाज क्या है

डेंगू बुखार होने के कारण क्या है | dengue bukhar ka deshi ilaj

डेंगू बुखार एक वायरस जनित बीमारी है जो की हमारी बोडी के अंदर एक मादा एडीज इजिप्टी मच्छर नाम का मच्छर होता है यह गंदे कूड़े कचरे में काफी ज्यादा मात्रा में मिलते है अक्सर यह मादा मच्छर गन्दी नालियों में देखने को मिलता है यह बहुत ही खतरनाक जिवानुओ को बोडी के अंदर जन्म देता है इसी के कारण ही व्यक्ति को डेंगू बुखार होती है इसके एक बार काटने के बाद अगले दिन से ही बुखार शुरू हो जाती है धीरे धीरे बुखार जब 2 से 3 दिनों तक होती है तो आपकी बोडी के अंदर धीरे धीरे इसका असर इतना हो जाता है की हमारी बोडी के अंदर प्लेटलेट्स को कम करता है जिससे बोडी की इम्युनिटी एवं रोगप्रतिरोधक क्षमता बिलकुल कमजोर हो जाती है |

यह बीमारी धीरे धीरे बोडी में जाल की तरह फ़ैल जाती है जिससे व्यक्ति की एक दिन मृत्यु हो जाती है तो आपको हम बता दे की फ्रेंड्स घर की सभी खिडकियों को रात को सोते समय बंद करके रखे क्योकि अक्सर यह मच्छर रात को ठंड में ही आक्रमण करते है क्योकि हमारी बोडी बिलकुल आराम की स्थति में होती है |

डेंगू बुखार के बेस्ट 5 घरेलू उपचार | dengue bukhar ka ghrelu ilaj

1 . डेंगू बुखार का देशी इलाज में निम् फायदेमंद है | dengue bukhar ko kaise thik kare

निम् हमारी बोडी के अंदर एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी बेक्टिरियल की तरह कार्य करता है इसके गुण हमारी बोडी में जो भी जीवाणु या बेक्टीरिया होता है उसको मारने में सहायक होता है अगर आप निम् की पतियों का रस सुबह खाली पेट पीते है तो इससे आपकी बोडी के अंदर प्लेटलेट्स को बढ़ाने में सहायक होता है और साथ में WBC ( वाइट ब्लड सेल ) की संख्याओ को बढाने में मदद करता है और साथ में आपके लीवर या रक्त में जो वायरस है उसको बाहर यूरिन के जरीय बाहर निकालने में सहायता करता है जिससे आपकी बुखार का असर धीरे धीरे कम हो जाता है आप स्नान भी निम् के पानी से कर सकते है इससे त्वचा पर या चेहरे पर लाल – गुलाबी फुन्सिया है उनको साफ करने के फायदेमंद है |

2 . डेंगू बुखार के इलाज में गिलोय रामबाण औषधि है | dengue fever ko thik karne ke upay

आयुर्वेद में गिलोय को सबसे किफायती जड़ी बूटी के रूप में माना है इसमें आयुर्वेदिक औषधीय गुण भरपूर होते है यह हमारी बोडी के अंदर जो भी बेक्टीरिया या वायरस है उनको ब्लड से अलग करने में सहायता करता है और साथ में आपकी जो कमजोर इम्युनिटी है उसको बढ़ाने तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता को विक्सित करने में लाभदायक है आप एक गिलास पानी के अंदर गिलोय की जड़ो को टुकडो में तोड़कर उसे अच्छी तरह से उबले उबालने के बाद पानी एक कप बचे तब आप इस पानी में एक चमच शहद मिलाकर पिने से भी रोग प्रति रोधक क्षमता में वृद्धि होती है यह काढ़ा बहुत ही फायदेमंद होता है |

3 . डेंगू बुखार का घरेलू इलाज में तुलसी की पत्तियां फायदेमंद है | dengue bukhar ka aayurvedik ilaj

तुलसी भी कई आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर होती है यह भी रक्त की शुद्धिकरण करने तथा चयापचय की क्रिया एवं प्लेटलेट्स को बढाने में क्रिया करती है यह गर्म प्रक्रति की होने के कारण बुखार को ठीक करने में उपयोगी होती है यह बोडी के अंदर जो भी विषक्ता है उसको दूर करने में लाभदय खोटी है आप एक गिलास पानी के अंदर 8 से 10 पत्तियां तुलसी की डालकर उबालकर पिने से शरीर में जो भी रक्त संक्रमण की स्थति है उसको कम करता है तथा भूख को बढाने में सहायक होती है |

4 . डेंगू बुखार के घरेलू उपाय में पपीते का इस्तेमाल | dengue bukhar ke lakshan

बोडी के अंदर जो इस डेंगू बुखार से प्लेटलेट्स कम हो जाते है उनकी रिकवरी करने में पपीता बहुत ही गुणकारी होता है इसका जूस हमारे प्लेटलेट्स को बढाने में सहायता करता है और साथ में जो हमारी ख़राब डायजेशन की प्रक्रिया है उसको ठीक करने में भी लाभदायक है और पपीते की पत्तियां भी काढ़े के रूप में इस्तेमाल कर सकते है यह बोडी के अंदर जो भी रक्त संक्रमण या वायरस है उनको दूर करने में मदद करता है |

5 . डेंगू बुखार का दवा में नारियल पानी किफायती है

नारियल का पानी भी डेंगू बुखार का दवा में बहुत ही किफायती होता है इसमें भी एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी बेक्टिरियल के गुण प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होते है नारियल के पानी में आयरन तथा मिनरल्स के औषधीय गुण भरपूर होते है यह बोडी के अंदर घटने प्लेटलेट्स को बढाने में सहायता करते है आप दिन में 3 से 4 बार नारियल का पानी जूस के रूप में इस्तेमाल करे |

डेंगू बुखार में क्या खाना चाहिए

1 . हल्दी – दूध

डेंगू बुखार से पीड़ित व्यक्ति को अक्सर हड्डियों एवं मासपैशियो का दर्द असहनीय होता है और इस प्रकार के दर्द अक्सर बोडी के अंदर केल्शियम , मैग्नीशियम , एवं मिनरल्स की कमी के कारण होता है और यह सभी जरुरी पोषक तत्व हमारे इस हल्दी वाले दूध के अंदर मोजूद होते है इसलिय आप सुबह उठते ही एक गिलास गर्म दूध के साथ एक चमच हल्दी पावडर को मिलाकर पीना है आप इसका सेवन सुबह श्याम दोनों वक्त भी कर सकते है जिससे आपकी बोडी के अंदर जिन पोषक तत्वों की कमी है उनकी पूर्ति करने में सहायता मिलेगी |

2 . विटामिन c के श्रोत

डेंगू बुखार होने के बाद हमारी भूख एवं पाचन क्रिया कमजोर हो जाती है और विटामिन c के जितने भी खाद्य श्रोत होते है जैसे आंवला , निम्बू , संतरा , पपीता , अनार आदि हमारी बोडी के अंदर चयापचय की क्रिया में वृद्धि करना तथा बोडी की रोगप्रति रोधक क्षमता को बढाने में सहायता करते है आप सुबह उठते ही एक गिलास कोई भी विटामिन c का जूस बनाकर पिए इससे आपकी भूख भी बढ़ेगी और भोजन का पाचन भी होगा |

3 . ड्राई स्नेक्स

डेंगू बुखार हो जाने के बाद बोडी एकदम कमजोर हो जाती है शरीर में विटामिन्स , प्रोटीन , मिनरल्स , आयरन आदि तत्वों की कमी हो जाती है इन सभी की कमी की पूर्ति में ड्राई स्नेक्स जैसे बादाम , किशमिश , पिस्ता , अखरोट , खुमानी अच्छे स्रोत होते है यह बोडी के अंदर रक्त की कमी को एवं लाल रक्त कणिकाओ ( RBC ) के निर्माण में लाभदायक होता है आप एक गिलास दूध और इन सभी को मिलकर रात को पानी के अंदर भिगो देना है और सुबह दूध के साथ मिक्स करके पिने से थकान कमजोरी बिलकुल दूर हो जाएगी |

4 . हरी पत्तेदार सब्जियां एवं फ्रूट्स

हरी पत्तेदार सब्जियां आयरन से भरपूर होती है और साथ में पाचन में भी सहायक होती है यह आपके घटे हुए प्लेटलेट्स को तेजी से विकसित करने में सहायक होती है इसलिय आप खाने में सुबह श्याम इन हरी पत्तेदार सब्जियों का इस्तेमाल करे और साथ में सलाद के रूप में टमाटर , प्याज , ककड़ी , खीरे का इस्तेमाल करे ताकि भोजन का पाचन अच्छी तरह से जल्द हो सके |

5 . खूब ताजा पानी

एक बार जो इन्सान इस डेंगू बुखार की चपेट में आ जाता है तो उसकी बोडी के अंदर लिक्विड की कमी हो जाती है बोडी डिहाइड्रेशन या निर्जलीकरण हो जाती है और पानी एक ऐसा लिक्विड है जो हमारी बोडी को उर्जा प्रदान करता है और साथ में भोजन का अवशोषण करवाने में भी मदद करता है इसलिय दिन में खूब सारा पानी पिए और बार बार पिए ताकि जो बोडी के अंदर बेक्टीरिया होते है वे यूरिन तथा मलाशय के द्वारा बाहर निकल सके |

डेंगू बुखार के टॉप 5 देशी इलाज , home remedies for dengue fever in hindi , डेंगू बुखार का देशी इलाज , Home Remedies for Dengue Fever Treatment in Hindi ,

डेंगू बुखार में क्या नही खाना चाहिए

  • ऑयली फूड्स का इस्तेमाल बिलकुल नही करना है |
  • जितने भी नशीले पेय पदार्थ जैसे बीडी , सिगरेट , तम्बाकू , गुटखा , आदि के सेवन से दूर रहना है |
  • मीट मछली अंडा , चिकन का परहेज करे |
  • शराब का भी इस्तेमाल नही करे यह आपकी बोडी के अंदर थकान एवं पानी की कमी करता है जिससे लीवर डेमेज होता है |
  • बाहर का खाना जैसे कचोरी , समौसा , तिकड़ा आदि जंक फ़ूड का इस्तेमाल बिलकुल नही करना है |
  • रात को खाना खाने के बाद तुरंत विश्राम के लिय बेड पर नही लेटना है कुछ देर तक बाहर खुले वातावरण में घूमना है |

people also ask question | अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

प्रश्न 1 . डेंगू बुखार का घरेलू इलाज क्या है ?

उतर – इसके लिय आप निम् की पत्तियों का रस आपकी डेंगू बुखार को कम करने में बहुत फायदेमंद होती है |

प्रश्न 2 . डेंगू बुखार का इलाज क्या है ?

उतर – जब किसी को डेंगू बुखार के लक्षण दिखाई दे तो आप पपीते के जूस का इस्तेमाल करे यह आपकी बोडी के अंदर जो घटे हुए प्लेटलेट्स है उनको बढाने में सहायता करता है |

प्रश्न 3 . डेंगू बुखार की दवा

उतर – आयुर्वेद में बहुत सी डेंगू बुखार की दवा मोजूद है आप डेंगू को गिलोय का काढ़ा भी पि सकते है आपकी रोग प्रति रोधक क्षमता को बढाने में मदद करता है |

प्रश्न 4 . डेंगू बुखार कैसे ठीक होगा ?

उतर – इन बुखार को ठीक करने में नारियल का पानी काफी फायदेमंद होता है इसमें जो आयरन तथा मिनरल्स के गुण भरपूर होते है यह आपकी बोडी में जो रक्त में बेक्टीरिया या जीवाणु है उनको मारने तथा प्लेटलेट्स की संख्या को बढाने में मदद करता है |

प्रश्न 5 . डेंगू बुखार कितने दिन में ठीक होता है?

इस खतरनाक बुखार को ठीक करने में 3 – 4 दिनों का समय लग जाता है डेंगू बुखार के लक्षण दिखाई देने पर आप तुरंत चिकित्सक की परामर्श जरुर लें ताकि समय पर इलाज हो सके ज्यादा समय निकालने के पश्चात् इसका असर हमारे हाथ-पैर की हड्डियों में मौजूद केल्शियम की कमी करते है और धीरे-धीरे दर्द भी असहनीय होना शुरू हो जाता है |

प्रश्न 6 . डेंगू मच्छर कब काटता है

अक्सर डेंगू बुखार वाला मच्छर रात को सोने के पश्चात् और सुबह सूरज की रौशनी निकलने के बाद ही हमारे शरीर पर अटेक करता है जहाँ पर आपको मच्छर ने काटा है उसी स्थान पर लाल चखता उभर जाता है वैसे देखने में एक समय मच्छर के सामान ही होता है |

प्रश्न 7 . डेंगू मच्छर कैसे पैदा होता है

यह मच्छर अक्सर गर्मियों के मौसम में ठंडे वातावरण वाले स्थान पर देखने को मिलता है जहाँ पर पानी की बहुलता होती है या फिर घने जंगल जैसे पेड़ पौधे वाले स्थान पर डेंगू मच्चार की उत्पति होती है इसलिय आप आसपास के पेड़-पौधों की साफ सफाई रखे ताकि बीमारी वाले मच्छरों से बचा जा सके |

1 thought on “डेंगू बुखार के टॉप 5 देशी इलाज | home remedies for dengue fever in hindi”

Leave a Comment