पेट की गैस तुरंत ठीक करने के बेस्ट 10 घरेलू उपचार | Home Remedies For Stomach gas in hindi | Pet gas ko kaise thik kare

पेट की गैस तुरंत ठीक करने के बेस्ट 10 घरेलू उपचार , Home Remedies For Stomach gas in hindi , Pet gas ko kaise thik kare, पेट गैस को तुरन्त कैसे ठीक करें , पेट गैस दूर करने के घरेलू उपाय , नाराजगी से बचने के उपाय , पेट गैस बनने का कारण क्या है , pet gas ka gharelu upay , pet gas ka turnt ilaj , Home remediies for acidity ,

पेट की गैस तुरंत ठीक करने के बेस्ट 10 घरेलू उपचार

Table of Contents

पाचन शक्ति बढ़ाने के आसान 10 घरेलू उपाय 

pet gas – हमारे रोज के खान पान में कई बार दूषित या अस्वस्थ भोजन का प्रवेश बोडी के अंदर जाने से शरीरिक क्रिया में कई बार बाधा हो जाती है इस बाधा के कारण पेट में बदहजमी या एसिडिटी की प्रोबलम हो जाती है अक्सर पेट की गैस पुरे दिन घर या ऑफिस में एक जगह स्थिर बेठे रहने या फिर ज्यादा मात्रा में चाय कोफ़ी के सेवन करने से पेट की गैस के मुख्य कारण है लेकिन आयुर्वेद में पेट की गैस का मुख्य कारण वात , पित और कफ दोष में विकार उत्पन्न होने के कारण आपको एसिडिटी या गैस होने की सम्भावना हो सकती है |

पेट में एसिडिटी होना इतनी गंभीर बीमारी नही है की इसका इलाज होना बहुत ही मुश्किल है ऐसा कुछ नही है फ्रेंड्स पेट की गैस या एसिडिटी को आप इन 10 घरेलू उपचारों के जरीय आप बिलकुल आसानी से ठीक कर सकते है और आपको दोबारा भी गैस की प्रोबलम भी नही होगी |

पेट की गैस क्या है | गैस क्यों होती है

Stomach gas in hindi – पेट की गैस होने के कारण है जैसे भोजन को एक साथ ज्यादा खाने से , काफी समय तक भूखा रहने , तली हुई खाद्य सामग्रियों का सेवन करने , बेसन या नमकीन खाने से , दूषित बासी भोजन , अस्वस्थ भोजन से , भोजन को चबाकर नही खाने से , ज्यादा मसालेदार भोजन खाने से पेट की पाचन क्रिया बिलकुल कमजोर हो जाती है जिसके कारण पेट फुला हुआ , पुरे दिन हल्का दर्द एवं बेचेनी सी रहना शुरू हो जाती है जिसके चलते आपको पेट की गैस होती है |

वजन बढ़ाने के 10 आसान घरेलू टिप्स

नाराजगी क्या है

Stomach gas in hindi – नाराजगी की स्थति तब बनती है जब आप खाना काफी तेज गति से खाते है खाने को चबाकर नही खाने से पेट में खाना एसिड का काम करता है जिससे छोटी आंत में भोजन आगे नही जाता है और वहा पर एक जगह जम जाता है जिससे एसोफंग्स या आंत में सुजन हो जाता है जिससे चेहरे पर नाराजगी या बेचेनी हो जाती है और कोई भी कार्य करने में आपका मन बिलकुल नही लगता है ऐसे में आप भोजन को धीरे धीरे चबाकर खाए इससे आपकी लार ग्रंथिय भोजन का चयापचय अच्छी तरह से करती है और भोजन का अवशोषण भी होता है इसलिय आप इन बातो का खास ख्याल रखे ताकि आपको नाराजगी की समस्या ना हो |

नाराजगी रोकने के उपाय क्या है | पेट गैस रोकने के उपाय

इस समस्या को रोकने के लिय आप शुद्ध स्वस्थ भोजन का इस्तेमाल करे खाने में ज्यादा फाइबर और कार्बोहायड्रेट वाले तत्वों का सेवन करे तथा खाने को धीरे धीरे चबाकर खाए और खाना खाने के तुरंत बाद पानी का उपयोग बिलकुल नही करे इससे एसिडिटी की प्रोबलम होती है और फेट फुला हुआ रहता है भोजन करने के एक घंटे बाद एक गिलास निम्बू का पानी पीना चाहिय तथा ज्यादा तेल से बनी सामग्री जैसे चटपटे मसालेदार नमकीन व् भुजियो का सेवन ना करे तो ही आपका पाचन तन्त्र अच्छी तरह से कार्य करेगा और आपकी भूख भी अच्छी तरह लगेगी |

पेट गेस होने पर क्या खाना चाहिय | पेट की गैस का अचूक इलाज

Stomach gas in hindi – शरीर का असंतुलन होने पर आप खाने में ज्यादा फाइबर युक्त तथा कार्बोहायड्रेट वाले पोषक तत्वों का सेवन ज्यादा मात्रा में करे और दिन में 8 से 10 गिलास नियमित रूप से पानी का प्रयोग करे और भोजन को एक साथ ठुस्कर खाने की वजय आप भोजन को थोड़ी थोड़ी मात्रा में दिन में 3 से 4 बार उपयोग में ले इससे आपकी पाचन तन्त्र की क्रिया वापस अच्छी तरह से काम करना शुरू कर देगी तथा लेमन जूस तथा विटामिन c के जितने भी पदार्थ है उनको खाने के साथ इस्तेमाल करे यह आपके भोजन को जल्दी पचाने में सहायता करता है |

पेट गैस बनने का कारण क्या है | पेट गेस किस कारण से होती है

Stomach gas in hindi – गैस होना हमारे डेली जीवन के खान पान की वजह से होता है क्योकि अक्सर हम शादी विवाह में ज्यादा मसालेदार चटपटे नमकीन भोज्य पदार्थो के खाने से आपका पेट ख़राब हो जाता है क्योकि यह भोजन खाते समय आपको बहुत ही टेस्टी लगते है मगर बादमे यह आपके पाचन तन्त्र के लिय बड़ी मुश्किल कर देते है इसलिय आप खाने में विशेष ध्यान रखे और भोजन को चबाकर खाना चाहिय तथा खाना खाने के तुरंत बाद पानी का उपयोग बिलकुल ना करे खाना खाने के 1 घंटे बाद आप पानी या लिक्विड का उपयोग कर सकते है इससे आपके पाचन की अग्नि ज्वाला आपके भोजन को टुकडो में विभाजित करने में सरलता महसूस करेगी और आपका डायजेशन सिस्टम भी एकदम मजबूत होगा stomach acidity किसी भी उम्र के युवा बूढ़े बुजर्ग या महिलाओ को हो सकती है |

इसका मुख्य कारण है भोजन खाने की शेली आपकी गलत आदतों की वजह से होता है जिससे खाने का पाचन सही तरह से नही होता है और आमाशय बिलकुल कमजोर हो जाता है जिसके कारण पेट में अनेको रोग उत्पन्न हो जाते है इसका कारण है की पेट में खतरनाक बेक्टीरिया उत्पन्न हो जाते है जो आपके खाने को हजम नही होने देते है जिसके कारण आपका डायजेशन सिस्टम ख़राब हो जाता है और आपके शरीर का विकास नही होता है |

पेट की गैस के लक्षण क्या है | Home remedies for gas

  • पेट गैस में आपको भूख कम लगेगी
  • आप पुरे दीन आलसी प्रवति होगी
  • चेहरे पर उदासी नजर आएगी
  • पेट तथा सिने में जलन होगी
  • पेट फुला हुआ रहेगा
  • गुदा द्वार पर खुजली होगी
  • बदहजमी एवं उल्टी होना
  • मुंह से बदबू आना
  • नींद कम आना
  • मानसिक चेतना होना
  • सिर दर्द तथा पेट दर्द होना ये कई सरे लक्षण है जो आपको पेट गैस के दौरान देखने को मिलेंगे |

पेट गैस का तुरंत इलाज क्या है | pet ki gas ka ramban ilaj

Stomach gas in hindi – फ्रेंड्स अगर आपको पेट की गैस को जाए तो आप इस गैस का तुरंत इलाज भी कर सकते है इसके लिय आप एक गिलास छाछ के साथ एक चमच काला नमक या सेंधा नमक और भुनी हुई अजवाइन को पीसकर उसकी एक चमच इन तीनो को मिलकर लेने से आपकी कितनी भी खतरनाक गैस या एसिडिटी हो उसको तुरंत राहता पहुँचाने में सहायता करता है क्या है की अजवाइन के एंटी ओक्सिडेंट के गुण आपके पेट में जो बेक्टीरिया है उनको मारने में सहायता करता है और भोजन को जल्दी पचाने में सहायता करता है या फिर आप एक गिलास पानी के अंदर एक निम्बू और काला नमक या फिर बैकिंग सोडे को मिक्स करके उसे पिने से भी खाने को जल्दी हजम करता है और पेट की वायु को बाहर निकालने में सहायता करता है |

गैस का घरेलू उपचार | gas ka gharelu upchar

जब भी आपको पेट की गैस की प्रोबलम हो तो आप सुबह खाली पेट आंवले का जूस इस्तेमाल करे या फिर आप जीरे का पानी भी उपयोग में ले सकते हो क्योकि आंवले के अंदर विटामिन c तथा फाइबर के गुण भरपूर मात्रा में उपलब्ध होते है जोकि आपके बिना पचे हुए भोजन को जल्दी पचाने में सहायता करता है और साथ में आपकी चयापचय की क्रिया में वृद्धि करता है जिससे भोजन का अच्छी तरह से डायजेशन हो जाता है और जीरे का पानी भी आपकी गैस की गैस एसिडिटी को दूर करने में एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी एम्फ्लेमेट्री के गुण होते है जिसका कार्य है पेट के अंदर जितने भी अवसाद होते है उनको बाहर निकालना तथा आपकी पाचन क्रिया को तेजी प्रदान करना है इसलिय आप इन दो घरेलू तरीको को अपनाकर बड़ी आसानी से ठीक कर सकते है यह घरेलू निस्खे काफी असरदार होते है |

( pet gas ) पेट की गैस से तुरंत आराम कैसे मिलेगा | gastric solution in hindi

pet gas की बदहजमी या नाराजगी से तुरंत आराम पाने के लिय आप निम्बू और बैकिंग सोडे का इस्तेमाल कर सकते है इससे आपके पेट की गन्दी वायु तुरंत बाहर निकालने में मदद करता है इससे आपका डायजेशन सिस्टम भी मजबूत होगा और पाचन क्रिया भी तेजी से कार्य करना शुरू हो जाएगी और चेहरे पर एनर्जी भी दिखाई देगी निम्बू में मोजूद फैतिक एसिड भोजन को तुरंत पचाने में सहायता करता है |

पेट गैस के घरेलू उपचार | पेट गैस के घरेलू उपाय

(Stomach gas ) पेट में जलन को रोकने के 10 तरीके

1 . पेट गैस को दूर करने में अजवाइन का उपयोग | pet ki gas ka gharelu upchar in hindi

Stomach gas in hindi – अजवाइन के ओषधिय गुण आपके पेट की गैस के लिय एंटी ओक्सिडेंट का कार्य करता है अजवाइन में थाइमोल नमक पोषक तत्व मोजूद है जो आपकी पेट की गैस या पेट के जितने भी रोग विकार है जैसे पेट की गैस , कब्ज , एसिडिटी आदि सभी प्रकार की समस्याओ को जड़ से दूर करने में सहायता करती है और ये आपके डायजेशन सिस्टम में मोजूद बेक्टीरिया या जिवानुओ को मारने में सहायता करती है आप एक गिलास पानी के अंदर एक चमच भुनी हुई अजवाइन का पावडर और आधा चमच सेंधा नमक डालकर सुबह श्याम पिने से आपको कभी भी पेट गैस नही होगी |

2 . जीरे का पानी पेट गैस में राहत देता है

जीरा भी प्रकृति में नेच्युरल है इसमें भी प्राक्रतिक गुण होते है जो आपके अपच या गैस की प्रोबलम को दूर करने में सहायता करती है जीरा पेट में जाकर आपकी लार ग्रंथियों को विकसित करता है जिससे पाचन तन्त्र काम करना शुरू कर देता है और भोजन को छोटे छोटे टुकडो में विभाजित करने में मदद करता है और साथ में belly फेट चर्बी को भी reduce करता है जो आपके पेट के चारो और की फालतू चर्बी है उनको पिघलाने में मदद करता है इसलिय आप जीरे को रात को भिगो देना है और सुबह उस पानी को पिने से आपके पेट की कार्बन डाई ऑक्साईड गेस को बाहर निकालने में मदद करता है |

3 . पेट में एसिडिटी होने पर हर्ड का चूर्ण फायदेमंद है

आयुर्वेद कहता है की हर्ड का चूर्ण आपकी पेट से समन्धित जितने भी रोग विकार है जैसे गेस बदहजमी या नाराजगी , एसिडिटी या गैस की प्रोबलम है तो आप आयुर्वेदिक ओषधि हर्ड को पिस लेना है और उसको पानी में डालकर लेने से आपके गैस को दूर करने में सहायता करता है और यह आपकी भूख को बढ़ाने में सहायता करता है हर्ड के साथ आप स्वाद को टेस्टी बनाने के लिय मिश्री या शहद का उपयोग कर सकते है जो आपके पेट की गन्दी वायु है उनको बाहर निकालने में मदद करता है और आपके पाचन तन्त्र को मजबूत बनाता है |

4 . पेट की गैस में राहत पहुँचाने में अदरख का योगदान

शरीर में जो हम भोजन खाते है उसके कारण कई बार पाचन क्रिया सही तरीके से काम करना बंद कर देती है जिससे आपको कब्ज या गैस की समस्या हो जाती है जिससे आपको भूख लग्न कम हो जाता है ऐसे में आप अदरख को छोटे छोटे टुकडो में विभाजित कर लेना है उन टुकडो को आप एक गिलास पानी में डालकर उबालकर उस पानी को छानकर थोडा ठंडा कर लेना है फिर आप उस पानी में एक चुटकी नमक डालकर पिने से सर्दियों के मौसम में जो आपको पेट गैस की प्रोबलम होती है उनसे आपको छुटकारा दिलाने में काफी योगदान है क्या है की सर्दी के मौसम में ही फ्रेंड्स आप अदरख वाले नुश्खे को इस्तेमाल करना है |

अदरख गर्म प्रकति की होने के कारण गर्मियों के मौसम में लेने से आपके सिने में जलन हो सकती है लेकिन अदरख फायदेमंद बहुत है इसके इस्तेमाल करने से आपकी भूख बढ़ेगी और एक्स्ट्रा पेट से चारो और की चर्बी है उनको घटाने में सहायता करती है |

5 . कालीमिर्च और सौंठ पेट गैस को दूर करते है

कालीमिर्च और सौंठ को आयुर्वेदिक ओषधियो में सबसे महत्वपूर्ण ओषधि माना है यह आपके पाचन तन्त्र में जो भी कचरा जमा हुआ है उनको पचाने में सहायता करता है आप 5 से 6 कालीमिर्च के दाने और आधा चमच पिसा हुआ सौंठ का पावडर एक गिलास पानी में डालकर उबालना है उबलने के बाद पानी को छानकर उसमे एक चमच शहद को मिलकर पिने से ही पेट की गन्दी वायु या बदहजमी को दूर करता है और आपके डायजेशन system को control करता है साथ आपकी भूख को बढ़ाने में फायदेमंद है |

6 . पेट गैस में अदरख और निम्बू का रस फायदेमंद है

निम्बू विटामिन c का सबसे अच्चा स्रोत माना गया है इसमें सिट्रिक अम्ल की प्रचुरता होती है और साथ में अदरख का रस भी पेट से समन्धित जो भी बीमारिया या जीवाणु है उनको मारने में मदद करता है आप एक गिलास पानी के अंदर अदरख के टुकडो को पानी में डालकर उदालना है और उसमे एक निम्बू का रस मिलकर उसमे डालकर आप खाने के एक घंटे बाद लेना है इससे आपका खाना जल्दी पचेगा और लीवर भी मजबूत होता है और पाचन तन्त्र भी काफी तेजी से काम करना शुरू हो जाएगा |

7 . नारियल का पानी पेट गैस को दूर करता है

पेट की गेस को दूर करने में नारियल का पानी बहुत ही लाभदायक है आप सुबह खली पेट नारियल का पानी पिए इससे आप दिन में जो भी भोजन करंगे उसका पाचन काफी आसानी से होगा और आपकी भूख को बढ़ाने में मदद करता है नारियल आपके पेट में एंटी ओक्सिडेंट का काम करता है इसके ओषधिय गुण अपच , बदहजमी को समस्या को दूर करता है |

8 . pet ki gas ko dur karne में सेब का सिरका

सेब का सिरका पेट से समन्धित जो भी परेशानी है जैसे कब्ज की प्रोबलम , बदहजमी , नाराजगी , गैस आदि समस्या आपके गलत खान पान की वजह से होती है उनसे छुटकारा दिलाने में सबा का सिरका बहुत ही फायदेमंद होता है और इसका सेवन करने से ना ही किसी प्रकार का साइड effect होता है आप एक चमच सेब का सिरका लेना है और साथ में एक निम्बू और काला नमक इन तीनो को आपस में मिलाकर लेने से पेट की गैस और बदहजमी बिलकुल अच्छी तरह से दूर हो जाएगी और आपकी भूख को बढ़ाने में मदद करता है |

9 . अल्सर से बचने में तुलसी के फायदे

कई बार सर्दियों के मौसम में शादी विवाह या अन्य किसी प्रकार के उत्सवो में बेसन की मिठाइयाँ या फिर ज्यादा तेल से बनी सब्जियों एवं नमकीन खाने से पेट की पाचन क्रिया कम करना बंद कर देती है जिससे आपको पेट गैस या बदहजमी , कब्ज की समस्या हो जाती है इससे आपकी भूख भी कम हो जाती है और जो भी आप खाने का इस्तेमाल करते है उनका पाचन अच्छी तरह से नही होता है फेट पुरे दिन फुला हुआ रहता है ऐसे में आप एक गिलास पानी के अंदर 5 से 6 तुलसी की पत्तियों को डालकर उबालकर उसमे एक चमच शहद को मिलकर लेने से आपके ख़राब डायजेशन सिस्टम को रिकवर करता है और भोजन को पचाने में भी सहायता करता है इसलिय आप इस रसायन को सुबह खली पेट या फिर खाना खाने के एक घंटे बाद प्रयोग में लेना है |

10 . पाचन तन्त्र को मजबूत बनाने में हिंग फायदेमंद है

हिंग में मोजूद आयुर्वेदिक ओषधिय गुण आपके भोजन की पचाने की क्रिया को मजबूत बनती है इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व आपकी पाचन तन्त्र को बनाए रखने एवं भोजन को टुकडो में तोड़ने में सहायता करती है जिससे भोजन का पाचन जल्दी होता है हिंग के एंजाइम सुगन्धित होने के कारण आपकी भूख को बढ़ाने में मदद करती है और साथ में आपके पेट के चारो और की फालतू चर्बी है उसको पिघलाने में सहायता करती है एक गिलास पानी में हिंग पावडर को डालना है और साथ में आप मिश्री को दाल सकते है ताकि पिने में कडवी ना हो |

11 . पाचन तन्त्र को मजबूत बनाने में इलायची फायदेमंद है

फ्रेंड्स आपको खाना खाने के बाद इलायची के दानो को मुंह में चबाकर खाना है इससे क्या होगा की आपको पेट की गैस या कब्ज , बदहजमी , नाराजगी की समस्या है तो आपके भोजन को पचाने में सहायता करती है और इससे आपकी लार ग्रंथियां भी ज्यादा भोजन का रस बनेगी जिससे भोजन का पाचन काफी सरलता से होगा और मुंह से जो बदबू आती है उनसे भी छुटकारा दिलाने में इलायची काफी लाभदायक है |

12 . पेट गैस में आराम पहुँचाने में त्रिफला लाभदायक है

वायु विकार को दूर करने में आयुर्वेद का त्रिफला बहुत ही फायदेमंद है त्रिफला के ओषधिय गुण पेट की गैस या कब्ज दोनों को दूर करने में सहायता करता है और त्रिफला का चूर्ण आपकी भूख को बढ़ाने में मदद करता है और डायजेशन सिस्टम को control करता है तथा बेली फेट की चर्बी को भी हटाने में किफायती है |

आप एक गिलास पानी के अंदर आधार चमच त्रिफला का चूर्ण मिलकर उसे उबले और उबलने के बाद उस पानी को छानकर उसमे एक टुकड़ा मिश्री का डाले उसे ठंडा होने के बाद पिने से पेट की गैस , कब्ज , बदहजमी आदि परेशानियों को जड़ से ख़त्म करने में सहायता करता है क्या है की त्रिफला के चूर्ण में फाइबर की प्रचुरता होती है जो पाचन क्रिया को तेजी से कार्य करने में मदद करता है जिससे आपकी भूख और एनर्जी दोनों को विकसित करने में सहायता करता है |

Disclaimer –

All the information given on this website has been told on the basis of books and social media, we do not allow you to use these home remedies for any kind of disease or any kind of damage to your health. Before using these home remedies, you must consult the expert doctor of the disease so that these home remedies do not have any kind of side effect on your health, if you use these home remedies, then you yourself Will be responsible, the owner of the website does not advise you to try any kind of recipe or recipe.

पेट गैस समन्धित प्रश्न – उत्तर

प्रश्न 1 . पेट में गैस हो तो क्या खाना चाहिए?

उत्तर – जब किसी व्यक्ति को एसिडिटी की समस्या हो तो उस इन्सान को खाने में ज्यादा ठंडे सलाद एवं विटामिन C युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करवाना चाहिए और साथ में दिन में 8-10 गिलास पानी पीना चाहिए |

प्रश्न 2 . पेट में गैस क्यों बनती है?

उत्तर – तीखा – चटपटा मसालेदार भोजन खाए से एसिडिटी की समस्या हो जाती है वैसे दिमाग में किसी प्रकार की स्ट्रेस या नींद की समस्या से भी पेट में गैस होने की प्रोब्लम अक्सर देखने को मिलती है |

प्रश्न 3 . पेट की गैस का तुरंत इलाज Yoga?

उत्तर – वैसे आप पेट की गैस को कुछ शारीरिक व्यायाम एवं योग के माध्यम से भी ठीक कर सकते है अनुलोम- विलोम , कपालभाती जैसे योग भी आयुर्वेद में एसिडिटी की समस्या से छुटकारा दिलाने में कारगर है

1 thought on “पेट की गैस तुरंत ठीक करने के बेस्ट 10 घरेलू उपचार | Home Remedies For Stomach gas in hindi | Pet gas ko kaise thik kare”

Leave a Comment