Advertisement

बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय | Home remedies to kill stomach worms in children in hindi | Pet ke Kido ka Ilaj

Advertisement

Stomach Worms in Children in Hindi (बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय )छोटे बच्चों के पेट में कीड़े होना एक सामान्य बात है अक्सर पेट के कीड़े गर्मी तथा बरसात के मौसम में जन्म लेते है पेट के कीड़ो को कृमि कहते है जो बच्चो से लेकर बुजुर्गो में भी देखने को मिलते है यह कीड़े हमारे गलत खान पान की खाद्य सामग्रियों के जरीय ही पेट में जाते है और यह शुरूआती दिनों में तो कम संख्या में होते है और बाद मे इनकी संख्या धीरे धीरे बढती जाती है |

जिसके कारण बच्चो का पेट दर्द , कब्ज , गैस एसिडिटी , भूख न लगना , बदहजमी जैसी कई प्रकार के लक्षण सामने आते हैstomach worms पड़ने के और भी कई कारण है जैसे दूषित भोजन , गन्दा पानी पिने , बच्चे कीचड़ में खेलने , नंगे पाव मिटटी में घुमने तथा 1 से 4 साल के बच्चे मिटटी भी खाते है |

बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय
बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय

बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय | Home remedies to kill stomach worms in children in hindi | Pet ke Kido ka Ilaj | Stomach Worms in Children in Hindi | Pet ke Kido ka Gharelu Ilaj | bchcho ke pet ke kide marane ke gharelu upay | Pet ke kido ke lakshan kya hai | बच्चों के पेट के कीड़े मारने के घरेलू इलाज |

Advertisement

Table of Contents

Home remedies to kill stomach worms in children in hindi

जिसके कारण (stomach worms ) पेट में कीड़े पड़ जाते है जिससे बच्चो का शरीरिक रूप से विकास नही होता है बच्चे कमजोर हो जाते है पेट बाहर निकलना शुरू हो जाता है इन कई कारणों के कारण से ही बच्चो के stomach worms पड़ते है लेकिन फ्रेंड्स आज के इस आर्टिकल को पढने के बाद आप कुछ घरेलू उपचारों के माध्यम से भी बच्चो को इन कीड़ो को बड़ी आसानी से मारने में आप सफल हो सकते है और बच्चो को कई प्रकार की गंभीर बीमारियों से बचाया जा सकता है |

बच्चों के पेट के कीड़े मारने के घरेलू इलाज | Pet ke Kido ka Gharelu Ilaj

( stomach worms ) बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय ( pet ke kido ka deshi ilaj ) हमारे दैनिक जीवन में अक्सर खान पान की गलत आदतों की वजह से ही पैदा होते है भोजन की अशुद्धता के कारण से ही पेट में चले जाते है जिसके कारण आगे चलकर बहुत सी बीमारियों से गुजरना पड़ता है हम अगर अपने खान पान का ख्याल रखे भोजन को ताजा एवं फ्रेस रखे तो हम कभी भी बीमार नही हो सकते है इसके लिय आप अपने हाथों को बार बार धोना चाहिय भोजन भी खुले स्थान पर नही करे और पानी छानकर कर पीना चाहिय |

जिससे हम बेक्टीरिया से बचाव कर सके पेट के कीड़े अक्सर 1 से 15 साल के बच्चों में ज्यादा देखने को मिलते है उनके पेट में बेक्टीरिया उत्पन्न हो जाते है जिसके कारण पेट दर्द , भूख कम लगना , पेट गैस , एसिडिटी , बदजमी , उल्टी -दस्त जैसी कई समस्या हो जाती है |

Advertisement

बच्चों के पेट के कीड़े क्या है | stomach worms in hindi

फ्रेंड्स आपकी जानकारी के लिय बता दे की (बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय) stomach worms हमारे डेली के अशुद्ध भोजन एवं दूषित पानी पिने तथा हाथों की सफाई न करने की वजह से पेट में जेम्स एवं बेक्टीरिया ( जीवाणु ) पैदा हो जाते है जोकि आपके शरीरिक विकास को रोकने में सफल हो जाते है इनकी संख्या जब आपके बच्चे के पेट में बढ़ जाए तब आपको पेट दर्द तथा भूख कम लगती है यह कीड़े आपकी बोडी में जाकर आपके पाचन तन्त्र तथा आंतो एवं लीवर को सबसे ज्यादा प्रभावित करते है जिसके कारण बच्चो को उल्टी – दस्त होना शुरू हो जाते है |

यह जीवाणु आपके बच्चे की ग्रोथ को रोकते है बच्चे शरीरिक रूप से कमजोर हो जाते है पेट के कीड़े आपके बच्चे में जो हिमोग्लोबिन तथा red blood cell की संख्या को भी कम करते है जिसके कारण बच्चे एनीमिया , कुष्ठ रोग से प्रभावित हो जाते है |

बच्चों में टायफाइड का इलाज

पेट के कीड़े छोटे बच्चों में ही क्यों पड़ते है

आपने नोटिस किया होगा की ज्यादातर पेट के कीड़े 1 से 15 साल के बच्चो में ही क्यों देखने को मिलते है हम बताते है फ्रेंड्स की यह कीड़े बच्चो में क्यों पैदा होते है दरअसल बच्चे आपके शरीर की स्वच्छता का बिलकुल ध्यान नही रखते है क्योकि वे नादान होते है वे अपने गंदे मेले हाथो से ही भोजन या फिर कोई भी टेस्टी फूड्स को खा लेते है और इन भोजन पर या उनके हाथों पर जो भी बेक्टीरिया या जीवाणु है वे अन्दर चले जाते है जिसके कारण धीरे धीरे यह बढ़ते जाते है |

इसलिय हमारी सलाह की आप अपने बच्चो के हाथो को बार बार धोएं तथा खाना शुद्ध एवं ताजा फ्रेस भोजन खिलाए उनको गुनगुने पानी से स्नान करवाए यह कई फेक्टर है जिनका खास ख्याल रखे आपके बच्चों के पेट में कभी भी stomach worms नही पड़ेंगे और बच्चो का शरीरिक वृद्धि भी अच्छी तरह से होगा और डायजेशन सिस्टम भी मजबूत होगा किसी भी प्रकार की बीमारिया जन्म नही लेगी बच्चो की care करे |

बच्चो में पेट के कीड़े कितने प्रकार के होते है | pet ke kide kitne prakar ke hote hai

पेट के कीड़े जिन्हें कृमि कहते है यह कई प्रकार के होते है लेकिन जो मुख्य होते है जो अधिकतर छोटे बच्चो में देखने को मिलते है वे 5 प्रकार के होते है और यह कीड़े 1 से 12 साल के बच्चो में ज्यादा होते है इनके बारे में हम आपको कुछ विशेष जानकारियां है उनको विस्तार पूर्वक बताने की कोशिश करेंगे जिससे आप अपने बच्चो को इन कीड़ो से बचाव कर सके |

1 . राउंड वर्म्स ( ROUND WORM )

अक्सर राउंड वार्म कीड़े बच्चो के पेट में गर्मियों के मौसम में ज्यादा होते है और यह काफी खतरनाक भी होते है यह एक बार जब पेट के अंदर चले जाते है तो यह अपनी संख्या को बढ़ाने की कोशिश ज्यादा करते है यह एक परजीवी जीवाणु या बेक्टीरिया है जो हमारे गलत खान पान जैसे दूषित पानी पिने तथा बासी या बाहर का भोजन खाने से पेट के अंदर चले जाते है और यह सब गलतियाँ ज्यादातर छोटे बच्चे ही करते है इस राउंड वर्म कीड़ो का जीवन काल 8 से 10 महीनो का होता है जोकि जल्दी से मरते नही है यह आपके बच्चे के ब्लड को संक्रमित करते है जिससे बच्चो को एनीमिया , कुष्ठ रोग से प्रभावित करते है

2 . थ्रेड वर्म ( THREAD WORM )

यह पता का कीड़ा आकार में काफी छोटे होते है यह छोटे बच्चो के गलत आदतों जैसे कीचड़ में खेलने तथा मिटटी खाने से पेट में चले जाते है यह भी परजीवी होते है जो की गंदे स्थान जहा पर कीचड़ तथा नालियाँ बनी हुई है उस स्थानों पर ज्यादा देखने को मिलते है इनका जीवन काल 3 से 7 दिनों का होता है यह आपके बच्चो की आंतो मढ़ते है जोकि भोजन का चयापचय करने में बाधा उत्पन्न करते है

3 . टेप वर्म ( TAPE WORM )

दूषित भोजन एवं बाहर का जो भोजन जैसे ब्रेड , कचोरी , समोसा , आदि जोकि खुले स्थानों पर बनाए जाते है उन फूड्स पर ज्यादा देखने को मिलते है यह जंक फ़ूड आपके बच्चो का डायजेशन सिस्टम ख़राब करते है जिससे बच्चो की आंत और लीवर सबसे ज्यादा प्रभावित होते है यह काफी खातारंक बेक्टीरिया होते है जो आपके बच्चे की बोडी को संक्रमित करते है इनका इलाज अप doctor के पास जल्दी से करवाना होता है

4 . हुक वर्म ( HOOK WORM )

हुक वर्म कीड़े छोटे तथा बड़े दोनों को प्रभावित कर स्क्तेव है यह परिजिवी काफी खतरनाक होते है जोकि आपकी छोटी आंत और बड़ी आंत दोनों को ग्रसित करते है यह एक बार जब आपके पेट में किसी जंक फ़ूड या पेय पदार्थ के जरीय अंदर चले जाए तो यह काफी तेजी से शरीर के सभी अंगो को प्रभावित करते है और यह अपनी संख्या को बढ़ाने में भी सहायक होते है यह लाखों की संख्या में पेट के अंदर अंडे देते है जिसके कारण बोडी बिलकुल कमजोर हो जाती है और इम्युनिटी सिस्टम बिलकुल काम करना बाद कर देती है ऐसे में आप बच्चो को जल्दी से doctor के पास चेक करवाए बच्चों के पेट के कीड़े |

5 . व्हिप वर्म ( WHIP WORM )

इस नाम के कीड़े ज्यादातर बचे को मिटटी में खलते वक्त या फिर बच्चे मिटटी खाने की वजह से बोडी में चले जाते है यह भी आपके बच्चे की शरीरिक गतिविधियों को अत्यधिक प्रभावित करते है यह बेक्टीरिया आपके बच्चे के जो पाचक रस होते है उनको घटते है जिसके कारण बच्चो की भूख बंद करते है अगर आप इन कीड़ो के लक्षण का पता चल जाए तो आप कुछ घरेलू उपचारों के माध्यम से भी जल्दी ठीक किया जा सकता है

बच्चों के पेट के कीड़ों के लक्षण क्या है | Pet ke kido ke lakshan kya hai

  • जब पेट में कीड़े हो जाए तब आपके बच्चे का पेट दर्द होना शुरू हो जाता है
  • बच्चे की भूख बंद हो जाती
  • पेट में गैस ( एसिडिटी ) कब्ज जैसी समस्या हो जाती है
  • बच्चो को जल्दी थकान महसूस होती है
  • आलस्य काफी बढ़ जाता है
  • उल्टी दस्त भी काफी ज्यादा होते है
  • बच्चो की बोडी डिहाइड्रेशन ( निर्जलीकरण ) हो जाती है
  • बोडी में खून की कमी अत्यधिक धीरे धीरे कम होने लगता है
  • उनका सवभाव भी चिडचिडा हो जाता है
  • खाना अच्छी तरह से पचता नही है
  • मुंह की लार बिलकुल सुख जाता है
  • आँखे ड्राई हो जाती है
  • त्वचा पर रोगंटे कड़े रहना
  • चलने फिरने में ज्यादा तकलीफ होना
  • किसी से बात करने की इच्छा बिलकुल नही होना
  • पेट बाहर की और निकलना शुरू हो जाता है इत्यादि लक्षण आपको दिखाई देना शुरू हो जाते है |

बच्चों में पेट के कीड़े मारने के घरेलू उपाय | pet ke kide maarne ke gharelu upay

फ्रेंड्स अगर आपके बच्चे पेट के कीड़ो से बहुत परेशान है उनकी भूख बिलकुल बाद हो गई है या फिर पुरे दिन पेट दर्द होता है तो आपके लिय हम कुछ घरेलु उपाय लेकर आए है जोकि काफी तेजी से आपके बच्चो के कीड़े मारने में आपकी सहायता करेंगे आप इन घरेलू सामग्रियों की मात्रा को सिमित ही रखे ताकि बोडी में और किसी प्रकार का साइड effect ना हो वैसे तो घरेलू उपचार किसी प्रकार का साइड effect नही करते है मगर फिर भी आप ध्यान रखे तो जानते है इन घरेलू उपचारों के बारे में |

बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय

1 . पेट के कीड़े मारने में अजवाइन फायदेमंद है

अजवाइन आपके बच्चों के पेट के कीड़े को मारने में काफी सहायक होती है इसके एंटी ओक्सिडेंट तथा एंटी बेक्टिरियल के गुण आपके पेट के कृमि ( कीड़े ) को मारने में सहायता करती है और इससे आपके बच्चों का ब्लड शर्कुलेशन भी अच्चा रहेगा तथा पाचन तन्त्र भी मजबूत होगा आप रात को अजवाइन एक चमच एक गिलास पानी के अंदर भिगो देना है और सुबह उसके पानी को थोडा हल्की आंच पर गर्म करे और उसको छानकर उसमे आधा चुटकी काला नमक मिलकर बच्चे को सुबह सुबह 3 से 4 दिनों तक नियमित रूप से पिलाए ध्यान रहे फ्रेंड्स काढ़ा पिलाने के बाद एक घंटे तक बच्चे को कुछ खिलाना पिलाना नही है |

यह जरुर पढ़ें – अजवाइन के ओषधिय गुण , फायदे

2 . जीरा पानी भी पेट के कीड़े मारने में सहायक है

जीरा भी एंटी बेक्टिरियल तथा एंटी ओक्सिडेंट का कार्य करता है इसमें जो आयुर्वेदिक ओषधिय गुण है जोकि बोडी में परजीवी या बेक्टीरिया है उनको मारने में काफी सहायक है आप्जिरे को एक गिलास पानी में डालकर उबले और पानी अच्छी तरह से उबल जाए तो उसको छानकर आप इसमें शहद और काला नमक मिलकर इस मिश्रण को सुबह श्याम 2 से 3 दिनों तक लेने से आपके बच्चे के पेट के कीड़े ख़त्म हो जाएँगे और बच्चे का लीवर एवं पाचन तन्त्र मजबूत हो जाएगा |

3 . करेला बच्चों के पेट के कीड़े दूर करता है

करेला भी पेट के कीड़े मारने में आपकी सहायता करता है यह स्वाद में जितना कडवा होता है उतना ही गुणकारी होता है यह आपकी आंतो में जो बेक्टीरिया है उनको मारता है और लीवर तथा आंतो को स्वस्थ बनाने में मदद करता है इसमें एंटी ओक्सिडेंट के गुण होते है और साथ में एंटी बेक्टिरियल भी होता है जोकि आपके बच्चे की कीड़ो से सुरक्षा करता है और साथ में डायबिटीज जैसी बीमारियों को बढ़ने से रोकता है |

यह भी पढ़ें – करेला के फायदे और नुकसान

4 . नारियल का तेल बच्चों के पेट के कीड़े को मारता है

अगर आप अपने बच्चे को या फिर सभी सदस्य खाने में नारियल तेल का उपयोग करते है तो आप्केब्च्चे तथा पूरा परिवार इन परिजीवियों से सुरक्षित रहेगा और आपका कोलेस्ट्रोल लेवल भी सामान्य होगा तथा इसके एंटी बेक्टिरियल के गुण आपकी त्वचा के फंगल इन्फेक्शन को रोकने में भी मद्दद करता है और आंतो तथा पेट के बेक्टीरिया एवं जीवाणु को मारने की क्षमता रखता है |

5 . हिंग कृमि को मारने में सहायक है

फ्रेंड्स हिंग आपकी किचन में बड़ी आसानी से मिल जाती है लेकिन इसके फायदों के बारे में लोगो को पता नही है लेकिन फ्रेंड्स हम आपको बताते है की हिंग आपकी बोडी में एंटी बेक्टिरियल तथा एंटी ओक्सिडेंट की तरह कार्य करती है इसमें एस्कार्बिक अम्ल की प्रचुरता होती है यह स्वाद में तीखी होती है जो आपके बच्चे की पाचन क्रिया के लिय जो लार पाचक रस होते है उनका निर्माण करती है जिससे पेट के कीड़े काफी जल्दी ख़त्म हो जाते है |

आप सुबह एक गिलास गुनगुने पानी में आधा चमच हिंग पावडर को मिलकर अगले 3 से 4 दिनों बच्चे को पिलाए इससे बच्चे का रक्त चाप भी सामान्य होगा और जो बोडी में खातारनांक बेक्टीरिया या जीवाणु है उनको मलद्वार से बाहर करने में मदद करता है |

6 . निम् के पत्ते पेट के कीड़ो के इलाज के लिय फायदेमंद है

बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय – निम् भी आपकी बोडी में एंटी ओक्सिडेंट का कार्य करता है इसमें मोजूद तत्व आपकी बोडी में जो बेक्टीरिया या जीवाणु है उनको बड़ी आसानी से मारने में सहायक है आप निम् की पत्तियों एवं कोंपल को सुबह खाली पेट खाने से पेट के सभी रोग विकार दूर होते है और आयुर्वेद भी निम् की पत्तियों को एंटी फंगल के रूप में इस्तेमाल करते है |

7 . तुलसी और लौंग बच्चो के पेट के कीड़े मारने में फायदेमंद है

आयुर्वेद में तुलसी और लौंग एंटी बेक्टिरियल है यह एंटी ओक्सिडेंट का कार्य करता है यह आयुर्वेद में तुलसी और लोंग बहुत किफायती जड़ी बूटी है आप 3 से 4 पत्तियां तुलसी की और 4 से 5 लौंग की कल्लियाँ आपस में मिलकर आप एक गिलास पानी में डालकर अच्छी तरह से उबाले और उसे ठंडा करके एक चमच शहद को मिलाकर आप अगर सुबह श्याम लेने से बेक्टीरिया जीवाणु को ख़त्म कर देता है |

यह भी पढ़े – रोज सुबह इलायची खाने के फायदे

8 . पुदीना और निम्बू बच्चों के पेट के कीड़े मारने में सहायक है

बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय अक्सर गम्रियों के मौसम तथा बरसात के मौसम में ज्यादा होते है यह छोटे बच्चें मिटटी में खेलने था गंदे हाथो से भोजन खाने की वजह से पेट में इन्केशन करते है जिसके कारण पेट में कीड़े पैदा हो जाते है इसके लिय आप पुदीने का रस और निम्बू का रस आपस में मिलकर गुनगुने पानी के साथ सुबह उठकर पिलाने से पेट के कीड़े बिलकुल साफ हो जाएँगे ओए लीवर तथा पाचन तन्त्र भी काफी स्ट्रोंग होगा |

people ask question ( अक्सर लोगों द्वारा पूछे जाने वाले सवाल )

1 . पेट के कीड़ो की टेबलेट का नाम

फ्रेंड्स वैसे तो बाजार में बहुत की टेबलेट्स या मेडिसन है लेकिन यह आपके बच्चो को साइड इफेक्ट कर सकती है बेहतर सलाह है की आप अपने बच्चे के कीड़ो के सामान्य लक्षण नजर आए तो आप अजवाइन तथा जीरे का पानी पिलाए जिससे उनको आराम मिलेगा

2 . पंतजलि पेट की दवा कौनसी है ?

बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय – पेट के कीड़ो को मारने के लिय पंतजलि ने आयुर्वेदिक ओषधियो पर ही अत्यधिक भरोसा किया है इसमें आपके बच्चे कू पुदीना की गोलियां और साथ में निम्बू तथा आंवले का मुरब्बा बेस्ट उपचार माना है

3 . पेट के कीड़ो की होम्योपैथिक दवा कौनसी है ?

छोटे बच्चो के पेट के कीड़े होने पर होम्योपैथिक में टेकुरियम मेरम तथा टेकुरियम वेरम को सबसे किफायती रिजल्ट्स वाली मेडिसन माना है इसका असर कीड़ो को तथा बेक्टीरिया को तुरंत मारने में सहायता करते है और आप अपने बच्चे को दोनों टाइम खाना खाने से पहले देना है

4 . पेट के कीड़े कितने प्रकार के होते है ?

वैसे तो पेट के कीड़े 24 प्रकार के होते है लेकिन अक्सर जो बच्चो में देखने को मिलते है वे 5 प्रकार के कीड़े मुख्य है जो सबसे ज्यादा प्रभावित करते है 1 . हुक वर्म 2 . राउंड वर्म 3 . टेक वर्म 4 . व्हिप वर्म 5 . थ्रेड वर्म

5 . पेट के कीड़े मारने की अंग्रेजी दवा

पेट दर्द तथा पेट के कीड़ो को खत्म करने की बाजार में हर मेडिकल पर अनेको प्रकार की दवा है लेकिन आप सीधे बाजार की मेडिशन न लेकर आप doctor की सलाह के अनुसार ही दवाइयां इस्तेमाल करे ताकि side effect से बच्चा जा सके

6 . पेट के कीड़े कैसे दीखते हैं ?

पेट के कीड़े सूक्ष्म होते है यह आपको देखने में दिखाई नही देते है इनको स्कोप के माध्यम से या फिर दूरबीन के जरीय doctor ही देख कर पहचान कर सकते है इनका आकार और साइज़ अलग अलग होती है

7 . पेट में कीड़ा होने के क्या लक्षण है ?

पेट में कीड़ा होने पर आपके बच्चे का पेट दर्द , भूख न लगना , सिर दर्द , सिने में जलन , कब्ज , गैस , बदहजमी , चिडचिडापन , आदि लक्षण सामान्य रूप से दिखाई पड़ते है उस समय आप तुरंत doctor से सम्पर्क करे तो ही बेहतर होगा

8 . पेट में कीड़े पड़ने का क्या कारण हैं ?

पेट के कीड़े पड़ना एक सामान्य बात है यह आपके बच्चो को दूषित पानी , बासी बाहर का भोजन खाने , मिटटी में नंगे पांव घुमने , गंदे हाथो से भोजन खाने , जंक फ़ूड खाने से पेट में कीड़े उत्पन्न हो जाते है

Advertisement

3 thoughts on “बच्चों के पेट के कीड़े मारने के 10 घरेलू उपाय | Home remedies to kill stomach worms in children in hindi | Pet ke Kido ka Ilaj”

Leave a Comment