Advertisement

इमली खाने के 10 बड़े फायदे 2021 , उपयोग और इसके नुकसान | Imali ke Fayde or Nuksan kya hai | Helth Benefits of Tamarind in Hindi

Advertisement

इमली के 10 बड़े फायदे क्या है , इमली के फायदे और नुकसान क्या है , imali ke fayde kya hai , imali khane ke fayde or nuksan , Helth Benefits of Tamarind in Hindi , imli ke fayde or upyog , Tamarind benefits , use and side effect in hindi , bina imli ke sambhar kaise banae , इमली खाने के 10 बड़े फायदे 2021,

इमली के 10 बड़े फायदे

Table of Contents

बिना इमली के सांभर कैसे बनेगा 

Helth Benefits of Tamarind in Hindi – प्रक्रति में सभी जगहों पर पाई जाने वाली इमली स्वाद में खटी मीठी चटपटी होती है इसका उपयोग स्वास्थ्य के लिय फायदेमंद है उतना ही नुकसान भी होता है अगर आप इमली को खाने में ज्यादा लालची हो जाते है इमली को खाने के शोकिन हमारे देश में बहुत से लोग है मगर इमली का सेवन ज्यादातर दक्षिण भारत में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाती है इमली की चाट और इमली का सांभर दक्षिण भारत के राज्यों में इनका पसंददीदा भोजन है और वे बिरियानी में भी इमली की चाट का प्रयोग करते है who की रिपोर्ट से जानकारी मिली है की इमली में विटामिन c और विटामिन a की प्रचुरता होती है |

जो आपकी भूख को बढ़ाने में सहायक है और इसमें केल्शियम , फास्फोरस , मैग्नीशियम , जिंक , पोटेशियम एवं मिनरल्स पाए जाते है जो आपके शरीरिक विकास में वृद्धि करने में फायदेमंद होता है यह हमारी बोडी के अंदर एंटी ओक्सिडेंट व् एंटीबायोटिक है जो आपकी भूख को बढाती है तथा वजन को कम करने तथा ब्लड pressure control डायबिटीज आदि को दूर करने में काफी फायदेमंद है तो फ्रेंड्स आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे की इमली के क्या फायदे है और इसके नुकसान आदि पर विशेष चर्चा करते है |

Advertisement

इमली के फायदे और नुकसान क्या है | imali ke fayde kya hai

Helth Benefits of Tamarind in Hindi – इमली का स्वाद बहुत ही लाजवाब होता है इसके एंटीसेप्टिक गुण आपके खाने को स्वादिष्ट बनाने में मदद करता है और आपके भोजन में खट्टे स्वाद के कारण देश के सभी लोग जानते है पर क्या आप जानते है की इमली खाने के को स्वादिष्ट बनाने के साथ – साथ आपकी बहुत ही बीमारियों एवं रोगों को भी दूर करने में सहायता करती है जैसे अगर आप मोटापे से परेशान या फिर डायबिटीज , गल्ले की केंसर , blood pressure control आदि को कण्ट्रोल करने में भी सहायता करता है लेकिन फ्रेंड्स अगर आप खाने में एक साथ इमली का ज्यादा सेवन करते हो तो फिर आपकी भूख को कम कर देगा तथा पेट में एसिड होना शुरू जाएगी तथा कब्ज भी हो सकती है इसलिय इसमी के फायदे और नुकसान दोनों एक साथ चलते है |

इमली के क्या उपयोग है | इमली के बेनेफिट्स क्या है | Helth Benefits of Tamarind in Hindi

Helth Benefits of Tamarind in Hindi – इमली का उपयोग हमारे देश में बहुत से राज्यों में किया जाता है tamarind का पेड़ जंगलो में तथा कही पर भी बड़ी आसानी से मिल जाता है इसका उपयोग ज्यादातर पानी पूरी वाले , पुचके की रेडी वाले पानी को कहता मीठा एवं भोजन को स्वादिष्ट बनाने में इस्तेमाल किया जाता है imli भोजन को स्वादिष्ट बनाने के साथ साथ आपके पेट के अंदर बहुत ही खतरनाक बीमारियों एवं शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी सहायता करता है आयुर्वेद इमली को बहुत ही ओषधिय गुणों से भरपूर मानता है |

tamarind में पाए जाने वाले एंटी ओक्सिडेंट एवं एंटी सेप्टिक गुण आपकी बोडी के अंदर अतिरिक्त फेट को कम करने तथा मेटाबोलिज्म को बढ़ाने में सहायता करती है ओए साथ में आपके कोलेस्ट्रोल के लेवल को भी शुद्ध करने में भी काफी फायदेमंद है इमली के benefits के बारे में आज इस आर्टिकल में पूरी जानकारी बताएँगे जिससे आपको इस्तेमाल करने में कोई भी परेशानी ना हो इससे पहले फ्रेंड्स आपको पहले इमली की कुछ विशेष जानकारी है जिनके बारे में पहले आपको बता दे की Tamarind का पेड़ एवं प्रक्रति में tamarind कितने प्रकार की पाई जाती है

Advertisement

बिना इमली के सांभर कैसे बनेगा 

इमली क्या है | जंगली imli क्या है

imli ke fayde or upyog प्रकति में स्वतंत्र रूप से पाया जाने वाला imli का पेड़ हमारे दैनिक जीवन के लिय बहुत ही लाभदायक है tamarind के एंटी ओक्सिडेंट के गुण आयुर्वेदिक ओषधियों में महत्वपूर्ण है इसके गुण आपके खाने को स्वादिष्ट बनाने के साथ आपके बहुत खतरनाक बीमारियों को दूर करने में भी सहायता करता है यह आपके पेट दर्द मलेरिया , आँखों के दृष्टि समन्धि रोग , पाचन तन्त्र , डायजेशन सिस्टम , बेली फेट चर्बी एवं , मोटापा , डायबिटीज , ब्लड pressure , गले की केंसर आदि रोगों को लड़ने में सहाय करती है एवं उनके विकास को शरीर में बाधा उत्पन्न करने में Tamarind के ओषधिय गुण काफी फायदेमंद है tamarind में पाए जाने वाले एंटी बेक्टिरियल गुण , एंटी ओक्सिडेंट के गुण आपकी बोडी को कई रोगों से बचाव में सहायता करता है |

फ्रेंड्स imali आपके स्वास्थ्य के लिय जितनी उपयोगी है उतनी ही नुकसान दायक भी इसके ज्यादा मात्रा में खाने से आपकी भूख कम हो जाएगी और पेट की गैस या एसिडिटी की समस्या हो सकती जिससे चेहरे की मुस्कान को बिलकुल छीन लेती है इसलिय आप इसकी मात्रा को लिमिट में ही इस्तेमाल करे ताकि आप का बेहतर स्वास्थ्य बना रहें

Benefits of Tamarind in hindi

imli ke fayde or upyog – इसका फायदा है की यह आपके भोजन को खट्टा – मीठा चटपटे दार बनाने में tamarind बहुत ही उपयोगी है आप इमली की चटनी भी बना सकते है बाजारों में जो सड़क के किनारे पानी पूरी की रेडी या ढाबे पर जो पुचको के लिय पानी तैयार किया जाता है उसमे इमली का रस होता है जो खाने में काफी टेस्टी होती है और imali खाने को लाजवाब बनाने के साथ आपके पेट समन्धि रोग जैसे पेट दर्द , अपच , पाचन तन्त्र ख़राब , डायजेशन सिस्टम या फिर आँखों की सुरक्षा के लिय भी इमली का रस बहुत ही लाभदायक है फ्रेंड्स अगर आप मोटापे से परेशान हो तो आप इमली को एक गिलास गर्म पानी में भिगोकर रखना है उसे 30 से 40 मिनट तक भिगोकर रखने के बाद उसे छान लेना है |

उसे छानकर आप इसमें एक निम्बू का रस और साथ में एक चमच शहद को मिलकर सुबह श्याम खाना खाने से एक घंटे पहले नियमित रूप से अगले 20 से 25 दिनों तक लगातार करने से आपका वजन बड़ी आसानी से 3 से 4 किलो वेट घट जाएगा क्या है की imali में मोजूद एंटी सेप्टिक और एंटी ओक्सिडेंट के गुण आपकी भूख को कम कर देते है और शरीर में मेटाबोलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है और साथ में पेट के चारो और की चर्बी है उसको पिघलाने में सहायता करती है |

imali khane ke fayde kya hai | Tamarind benefits , use and side effect in hindi

  • इमली खाने से आपके पेट की गैस ,बदहजमी , कब्ज एवं पेट के सभी प्रकार के रोग विकारो से छुटकारा मिलता है |
  • इमली आपके भोजन को स्वादिष्ट बनाने में मददगार है |
  • पानी पूरी को लाजवाब बनाने में इमली काफी फायदेमंद है |
  • वजन को कम करने में इमली का जूस काफी लाभदायक है |
  • अगर आप डायबिटीज या मधुमेह से परेशान है तो आप इमली का रस पिने से आपका डायबिटीज control होता है |
  • इमली गले की कैंसर के उपचार में फायदेमंद है |
  • blood pressure को control करने एवं उसके लेवल को बनाए रखने में बहुत ही किफायती है |

इमली के पर्यायवाची शब्द कौन कौन से है

वैसे तो भारत में इमली को अलग अलग क्षेत्रो में अलग अलग नामो से जानते है लेकिन hindi ग्रामर भाषा में इमली के पर्यायवाची शब्द जैसे – इमली , अम्लिका , चिंचा , खात्मलिका आदि नामो से जानते है यह काफी गुणकारी होती है यह आपके खाने में जायका लगाने एवं खट्टे मीठे स्वाद के कारण लोग इसे बड़े चाव से खाते है

इमली से सांभर कैसे बनाए | इमली से सांभर बनाने की विधि

imli ke fayde or upyogसाउथ इंडिया में इमली का सांभर और डोसा बहुत ही फेमस डिश है इसका उपयोग बड़ी चाव के साथ लोग ज्यादा खाना पसंद करते है साथ में इमली का इस्तेमाल बिरियानी में भी इमली की चाट इस्तेमाल की जाती है इमली की सांभर खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होती है और आप बिना इमली के भी सांभर बना सकते है इसके लिय आप लोकी , बेंगन , आलू , और लौंग , कालीमिर्च कके मसाले की जरूरत होती है इसे आप चावल के साथ मिलकर खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होता है |

Imali ke Fayde Kya hai | इमली के 10 बेनिफिट क्या है

1 . वजन घटाने में इमली बहुत फायदेमंद है

imli ke fayde or upyog – tamarind आपके वजन को कम करने में बहुत ही फायदेमंद है इमली में पाए जाने वाले एंटी ओक्सिडेंट व् एंटी बायोटिक गुण आपके वजन को काफी तेजी से घटाने में सहायता करता है इमली में विटामिन c व् विटामिन a पाया जाता है जो आपके भोजन को जल्दी पचाने में सहायता करता है और इसमें केल्शियम , पोटेशियम , मैग्नीशियम व् मिनरल्स पाए जाते है जो आपके शरीर में अतिरिक्त फेट है उसको बाहर करने में मदद करता है और आपके डायजेशन सिस्टम को मजबूत बनाने में सहायता करता है इससे क्या होगा फ्रेंड्स की इमली आपकी भूख को कम कर देगी जिससे आप ज्यादा भोजन नही खा पाएँगे और वजन को कम करने में सहायता करेगी |

इमली बनाने की रेसिपी विधि :-

  • सबसे पहले आप एक गिलास पानी लेना है |
  • पानी को हल्की फ्लेम पर गर्म करे |
  • पानी गर्म होने के पश्चात् उसमे इमली के टुकडो को डाले |
  • फिर आप अगले 30 से 40 मिनट तक उनको अच्छी तरह से भिगो देना है और साथ में आप दालचीनी के टुकडो को भी डालना है |
  • अच्छी तरह भीगने के बाद उसे एक कटोरी में छान लेना है |
  • इमली के जूस में अब आप एक निम्बू का रस मिलाना है और साथ में स्वाद को मीठा बनाने के लिय आप एक चमच शहद का इस्तेमाल करे |
  • इस रेसिपी जूस को आप चाय के समान गर्म गर्म ही सुबह श्याम खाना खाने से एक घंटे पहले लेना है |
  • इस विधि को आप अगले 15 से 20 दिनों तक लगातार करे आपका वजन घटना फ्रेंड्स शुरू हो जाएगा |

2 . ब्लड प्रेशर को control करने में इमली कारगर है

आपके बढ़ते बल्ड प्रेशर को control करने में आप tamarind का प्रयोग कर कसते है इसके एंटी ओक्सिडेंट के गुण आपके रक्त के परिसंचरण को मेंटेन करने में सहायता करती है और रक्त की शुद्धिकरण करने में मदद करती है इमली में मोजूद आयरन व् पोटेशियम जैसे पोषक तत्व आपके रक्त चाप को बढ़ने एवं रक्त के प्रसार को बनाए रखने में काफी हेल्प फुल है bp लो लेवल control करने के लिय आप इमली को खाने में इस्तेमाल करे इससे आपकी बोडी में जो red blood cell ( लाल रक्त कणिकाए ) है उनकी संख्या को बढ़ाने में सहायता करती है जिससे आपके blood का pressure समान गति से चलने में सहायता करता है |

बनाने की विधि :-

  • फ्रेंड्स एक गिलास पानी के अंदर आप इमली को रात में भिगिकर रखना है |
  • सुबह उठकर आप उस imali के पानी को एक कटोरी या बावल में छान लेना है |
  • अब आप इस पानी के अंदर एक निम्बू का रस डालना है और साथ में आप काला नमक डाल सकते है |
  • ध्यान रहे फ्रेंड्स अगर आपकी bp लो है ( blood pressure कम है तो ही नमक डाले नही तो आप नमक के बिना भी इस जूस को पि सकते है |
  • आप इस प्रक्रिया को फ्रेंड्स सुबह श्याम दोनों समय न करके आप एक टाइम ही करे इससे आपकी blood pressure कुछ ही समय में नोर्मल होना शुरू हो जाएगा |

3 . रोग प्रति रोधक क्षमता बढ़ाने में इमली फायदेमंद है

आपकी इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने में इमली काफी लाभदायक है जैसे आप ज्यादा कठिन परिश्रम करने से थक जाते है और आपका शरीर कमजोर पड़ जाता है जिससे थकान थोडा काम करने के बाद शरीर में थकान हो जाती है तो आप रोजाना इमली का रस और शहद और 4 से 5 बादाम को पीसकर एक लसी बनाकर पिने से आपकी रोग प्रति रोधक क्षमता बढ़ाने में काफी कारगर है |

इससे आपका पाचन तन्त्र भी काफी मजबूत होगा और खाने का अवशोषण भी अच्छी तरह से होगा क्या है की इमली के अंदर केल्शियम , मैग्नीशियम , जिंक तथा फाइबर के गुण होते है जो आपके भोजन को जल्दी अपचाने में सहायता करते है इसके एंटी सेप्टिक गुण आपकी इम्युनिटी सिस्टम को काफी स्ट्रोंग बनाने में मदद करता है इमली में आयुर्वेदिक ओषधिय गुण होते है जो आपके बोडी को control करने में मदद करता है |

4 . हृदय रोग के उपचार में इमली के फायदे | imali ke benefit kya hai

इमली आपके हृदय के रोगों से बचाव में बहुत उपयोगी है इसके एंटी ओक्सिडेंट के गुण आपके रक्त परिसंचरण एवं हृदय की गति को एक समान बनाए रखने में बहुत ही फायदेमंद है इमली को आयुर्वेद बहुत ही किफायती ओषधियो में गिना जाता है कहते है की आप रोज सुबह इमली का पानी पिने से आपके ब्लड में red blood cell की संख्या को नियंत्रित करती है जिससे आपकी बोडी में जो अन्य बेक्टीरिया या रक्त को गाढ़ा बनाने वाले जुवाणु है उनसे रक्षा करने में इमली बहुत ही कारगर है इसलिय आप इमली का खाने में जरुर इस्तेमाल करे |

5 . बालों को झड़ने से रोकने में इमली का इस्तेमाल | इमली के फायदे और नुकसान

आपके कमजोर रूखे बालो की समस्या को दूर करने में इमली काफी फायदेमंद है इमली में केल्शियम , मैग्नीशियम तथा विटामिन c और विटामिन a की प्रचुरता होती है जो आपके डायजेशन सिस्टम को मजबूत बनान्ति है और आपके बालों के झड़ने की समस्या अक्सर गलत खान पान से आपके पाचन तन्त्र में ख़राब बेक्टीरिया होने से बाल रूखे व् बेजान हो जाते है इसकी रोकथाम में इमली का जूस या इमली का पानी काफी लाभदायक है आप इमली को रात को एक गिलास पानी के अंदर भिगोकर रखना है और सुबह आप इसमें दही या छाछ को मिलकर इमली के इस लिक्विड से बालों की अच्छी तरह से धोना है इससे बालो की जड़ो में जो भी बेक्टीरिया है उनको मारने में सहायता करेगा और बालो को मजबूती प्रदान करने में भी सहायता करेगा |

6 . पीलिया की बीमारी को दूर करने में इमली का पानी लाभदायक है

अगर आप पीलिया रोग से ग्रसित हो जाते है तब सबसे ज्यादा डेमेज आपका लीवर होता है लीवर में पिला रंग का बेक्टीरिया बहुत ज्यादा मात्रा में हो जाता है जिससे आपके नाख़ून , आँखे तथा त्वचा का रंग पिला हो जाता है और मूत्र भी पिला लगते है ऐसे में आपका लीवर बहुत ज्यादा डेमेज हो जाता है जिससे खाने का डायजेशन अच्छी तरह से काम नही करता है और आप पीलिया रोग से ग्रसित हो जाते है ऐसे में आप छाछ के साथ temeried का रस मिलकर दिन में 3 से 4 बार इसका इस्तेमाल करे इससे पीलिया रोग धीरे – धीरे बिलकुल जड़ से ख़त्म हो जाएगा क्या है की फ्रेंड्स इमली के ओषधिय गुणों में एंटी बेक्टिरियल तथा एंटी पीलिया के गुण होते है जो आपके लीवर को मजबूत बनाते है |

7 . पाचन की समस्या को दूर करने में इमली के फायदे

कई बार आपके घर में किसी प्रकार की विपदा हो जाती है जिससे आपके दिमाग पर तनाव व् स्ट्रेस बढ़ जाता है जिससे आपका पाचन तन्त्र काम करना बाद कर देता है जिससे भोजन करने की इच्छा बिलकुल नही होती है और जो भोजन आप खाते है उसका पाचन नही होता है ऐसे में आप इमली का पानी एक निम्बू रस के साथ पिने से आपके पाचन तन्त्र को मजबूत बनता है इससे आपका डायजेशन सिस्टम पहले की तरह वापिस काम करना शुरू कर देगा इसका कारण है की इमली में पोटेशियम तथा फाइबर के गुण मोजूद होते है जी आपके पाचन तन्त्र की क्रिया को वापिस काम करने के संकेत देता है और फाइबर युक्त पदार्थ से ही भोजन का व्शोषण अच्छी तरह से होना संभव है |

8 . जोड़ो एवं घुटनों के दर्द में राहत पहुँचाने में इमली फायदेमंद है

आप जोड़ो एवं घुटनों के दर्द से परेशान है तो आप फ्रेंड्स इमली के बीजो का इस्तेमाल करे इमली के बीजो में एंटी ओक्सिडेंट के गुण होते है और साथ में केल्शियम , फास्फोरस , मैग्नीशियम , मिनरल्स पाए जाते है जो आपके घुटनों एवं जोड़ो के दर्द के लिय बहुत ही जरुरी होते है आप इमली के बीजो को अच्छी तरह से पीसकर इसमें सरसों का तेल मिलकर आप जहा पर दर्द है उस स्थान पर लगाए या फिर आप छाछ के साथ इमली के पावडर को मिलकर पिए इससे क्या होगा की शरीर में जो पोटेशियम , केल्शियम , मैग्नीशियम तत्वों की कमी है उनकी पूर्ति करने में सहायता होगी जिससे आपके दर्द से भी राहत पहुँचाने में मदद मिलेगी |

9 . डायबिटीज ( शुगर ) को कण्ट्रोल करने में इमली फायदेमंद है

शुगर भी एक खतरनाक बीमारी है जिसमे आपका शरीर का कोलेस्ट्रोल लेवल में चेंजिंग हो जाती है जिससे आप मधुमेह के शिकार हो जाते है मधुमेह के रोगी को ज्यादा तेल से बनी या फिर चटपटे मसालेदार भोजन से बचना होता है शुगर का लेवल बिगड़ जाए तो आपकी मृत्यु होने के चान्स ज्यादा होते है इसके लिय आप इमली का पानी आपके शुगर लेवल को तथा कोलेस्ट्रोल के लेवल को सुधारने में सहायत करता है |

10 . लू लगाने पर आप इमली का पानी पीना लाभदायक होता है

गर्मियों के मौसम में ज्यादातर बच्चे लू के शिकार हो जाते है जिसके कारण बच्चो को ज्यादा पसीना आता है और डिहाइड्रेशन के शिकार हो जाते है जिसके कारण बच्चो की भूख बंद हो जाती है पुरे दिन आलस प्रवति में होते है ऐसे में आप tamarind का पानी दिन में 3 से 4 बार पिलाए इससे बच्चो की भूख भी बढ़ेगी और लू से भी आराम मिलेगा |

11 . पैशाब की कब्जी को दूर करने में इमली लाभदायक है

आप tamarind को रात को सोते समय पानी के अंदर भिगोकर रख देना है सुबह आप उसके रस को निकालर उसमे एक निम्बू और साथ में मिश्री को मिलकर दिन में 3 से 4 बार पिने से आपके पैशाब की कब्जी एक दिन में ही ठीक हो जाएगी और पैशाब की जलन भी ठीक करने में बहुत ही फायदेमंद है |

इमली खाने के फायदे व् नुकसान | imali khane ke fayde v nuksan

tamarind जितनी स्वास्थ्य के लिय फायदेमंद है उतनी ही नुकसान दायक भी होती है imali आपके स्वास्थ्य के लिय बहुत ही फायदेमंद होती है इसके एंटी सेप्टिक व् एंटी ओक्सिडेंट के गुण आपको कई प्रकार के रोगों से बचने में सहायक है व्ही दूसरी और आप अगर इमली की चाट का एक बार में ज्यादा सेवन कर लेते हो तो फिर आपको अगले दिन से ही पेट दर्द , कब्ज , गैस तथा भूख बाद हो जाएगी इसलिय आप imaliका एक साथ ज्यादा इस्तेमाल ना करे |

इमली खाने के फायदे और नुकसान बताएं | Imali khane ke fayde or nuksan batae

tamarind खाने से आपका वजन काफी तेजी से कम होगा और भूख को बढ़ाने में सहायता करती है , पाचन तन्त्र को मजबूत बनाने में सहायक है , डायबिटीज तथा मधुमेह के उपचार में सहायक है वहीं दूसरी और imali खाने से आपकी भूख बंद हो सकती है और आपको पैशाब में जलन व् बदहजमी की समस्या हो सकती है |

इमली के फायदे क्या है | Imali ke Fayde Kya hai

हमारे डैनी जीवन में tamarind का बहुत बड़ा योगदान है आयुर्वेद कहत है की आप सही मात्रा में अगरimli का सेवन करते है तो आपके पेट के चारो और की जो फालतू चर्बी है उसको घटाने में सहायता करती है और आपके मेटाबोलिज्म को बढ़ाने में मदद करती है |

अक्सर लोगो द्वारा पूछे जाने वाले सवाल या प्रश्न

प्रश्न 1 . इमली खाने से क्या नुकसान होते है

उतर – imali का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से आपकी भूख बंद हो जाएगी तथा पैशाब में जलन , कब्ज की प्रोबलम हो सकत है

प्रश्न 2 . इमली की गुठली खाने से क्या होता है ?

उतर –imali की गुठली आपके वजन को काफी तेजी से कम करने में सहायता करती है और आपकी पाचन तन्त्र की शक्ति को बढ़ाने में मदद करती है जिससे आपके पेट के जितने भी रोग विकार है उन सब को दूर करने में इमली की गुठली बहुत ही लाभदायक है

प्रश्न 3 . इमली क्यों खाते है ?

उतर – इमली का सेवन खासकर दक्षिण भारत के लोग ज्यादा खाते है इसके स्वाद के कारण लोगो tamarind का सांभर व् बिरियानी दक्षिण भारत के लोगो का मुख्य भोजन माना जाता है वे अपने भोजन को स्वादिष्ट बनाने में इमली का इस्तेमाल करते है

प्रश्न 4 . इमली के बिज का पावडर कैसे बनाए ?

उतर –imali के बिज का पावडर आप ग्राइंडर की सहायता से या फिर माम्जस्ते की सहायत से बना सकते है आप tamarind के बीजो को निकालकर धुप में दो दिनों तक रख दे इससे क्या होगा की tamarind के बिज अच्छी तरह से सुख जाएँगे और उसके बाद आप इसे थोडा पहले कूटकर ग्राइंडर में डालकर पिस सकते है

प्रश्न 5 . इमली का पानी कब पीना चाहिय ?

उतर – imli का पानी आप वैसे तो कोई समय सीमा नही है लेकिन अगर आप मोटापे से परेशान है तो फिर आप सुबह और श्याम खाना खाने से एक घंटे पहले पीना चाहिय जिससे आपका भोजन का पाचन अच्छी तरह से सो सके

प्रश्न 6 . क्या इमली में विटामिन c होता है ?

उतर – जी हाँ फ्रेंड्स imali में विटामिन c तथा विटामिन a दोनों प्रचुर मात्रा में होते है जो आपे डायजेशन सिस्टम को control करने में मदद करते है

प्रश्न 7 . इमली में कौन – कौन से तत्व पाए जाते है ?

उतर – इमली में विटामिन c तथा विटामिन a , केल्शियम , पोटेशियम , मैग्नीशियम , फास्फोरस , जिंक और मिनरल्स जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते है जो आपके स्वास्थ्य के लिय बहुत ही फायदेमंद होते है

प्रश्न 8 . इमली में कौनसा एसिड पाया जाता है ?

उतर – इमली के अंदर tartic एमिनो एसिड पाया जाता है और साथ में कार्बनिक एसिड भी होता है जो आपके भोजन को पचाने में बहुत ही सहायक है यह आपके लार ग्रंथियों को विकसित करने में सहायता करता है

प्रश्न 9 . निम्बू और संतरे में कौनसा अम्ल पाया जाता है ?

उतर – निम्बू और संतरा विटामिन c के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक है इसमें एमोनो एसिड के रूप में सिट्रिक अम्ल तथा लावन की मात्रा भरपूर होती है

प्रश्न 10 . सिरके में कौनसा एसिड पाया जाता है ?

उतर – सिरके में एसिटिक अम्ल पाया जाता है जो लाल लिटमस को नीला करने में तथा नील लिटमस को लाल करने में बहुत ही लाभदायक है

प्रश्न 11 . इमली के बिज खाने के फायदे और नुकसान क्या है ?

उतर – इमली के बिज आपके जोड़ो एवं घुटनों के दर्द से राहत पाने में इमली के बिज काफी फायदेमंद होते है

प्रश्न 12 . bina imali ke sambhar kaise banega ?

उतर – बिना इमली के सांभर भी बड़ी आसानी से बनाया जा सकता है इसके लिय आप यहाँ पर click करे

प्रश्न 13 . imali ke fayde or nuksan kya hai ?

उतर – इमली हमारे स्वास्थ्य के लिय बहुत ही फायदेमंद है इसके लगातार सेवन करने से आपके डायजेशन सिस्टम को control होता है तथा इसमें मोजूद केल्शियम , मैग्नीशियम , फास्फोरस , तथा फाइबर के गुण आपके स्वास्थ्य को अनेको बीमारियों से बचाव करने में सहायता करता है लकिन वही दूसरी और इसके नुकसान देखे तो अगर आप एक साथ tamarind की चटनी ज्यादा खाते हो तो फिर आपकी भूख बंद हो सकती है आपको कब्ज , गैस या एसिडिटी की प्रोबलम हो सकती है

प्रश्न 14 . इमली की छाल के क्या फायदे है ?

उतर – imali की छल आपके घुटनों तथा जोड़ो के दर्द में राहत पहुँचाने में बहुत ही फायदेमंद है इसके पत्तो को आप पीसकर सरसों के तेल में मिलकर पेस्ट को आप दर्द वाले स्थान पर या फिर जहाँ पर सुजन है वहां पर लगाने से आपको आराम पहुँचाने में मदद गार है

प्रश्न 15 . पहाड़ी इमली के फायदे क्या है ?

उतर – पहाड़ी tamarind भी वेसे ही काम करती है जो साधारण imli होती है लेकिन पहाड़ी इमली आकार में बड़ी होती है जिसके कारण इसमें मोजूद तत्व काफी भरपूर मात्रा में होते है तो आपके हेल्दी बोडी के लिय बहुत जरुरी है और इनके फायदे समान होते है

Disclaimer –

Through this website, we provide you and the students of medical profession with basic information about medicines and diseases related to them, and in this busy life journey, it is our aim to provide information to you for some good business related to people, or on the website. The prescribed medicines are told on the basis of books and social media and use of any kind of medicine or home remedies is not allowed by this website. It is requested that you before using any medicine or home remedy. Do consult a doctor, what is it that friends, the movement of the body of all people is not the same.

Advertisement

1 thought on “इमली खाने के 10 बड़े फायदे 2021 , उपयोग और इसके नुकसान | Imali ke Fayde or Nuksan kya hai | Helth Benefits of Tamarind in Hindi”

Leave a Comment