Advertisement

अगर आप प्रेगनेंट है तो यह गलतियाँ भूलकर ही मत करना हो सकता है बड़ा नुकसान | What to Eat During Pregnancy in hindi

Advertisement

What to Eat During Pregnancy in hindi ( प्रेगनेंसी में सुबह क्या खाना चाहिए ) – प्रेगनेंसी में सुबह के नाश्ते के क्या खाना चाहिय गर्भवती महिलाओं को आपके खाने पिने की आदतों पर विशेष ध्यान देना बहुत आवश्यक है क्योकि प्रेगनेंसी महिला की सेहत एकदम हेल्दी होना बहुत जरुरी है एक्सपर्ट का कहना है की गर्भवती महिलाए प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिय अपने सुबह से लेकर रात के भोजन में ज्यादा फाइबर युक्त , केल्शियम , विटामिन्स , मिनरल्स एवं कार्बोहायड्रेट वाले फलों एवं सब्जियों को खाद्य पदार्थो के रूप में उपयोग करना चाहिय |

प्रेगनेंसी में सुबह क्या खाना चाहिए
प्रेगनेंसी में सुबह क्या खाना चाहिए

जिससे माँ और बच्चा दोनों का स्वास्थ्य पर नेगेटिव प्रभाव बिलकुल ना हो इसके लिय हमने इस आर्टिकल को बनाया है की प्रेगनेंसी के दौरान महिला को क्या खाना चाहिय और क्या नही खाना चाहिय और कितनी मात्रा में उपयोग करे इसके बारे में इस आर्टिकल में विस्तार से जानकारी प्रदान की गई है इसलिय गर्भवती महिलाओ के लिय यह आर्टिकल काफी फायदेमंद होने वाला है इसलिय ध्यान से सभी तथ्यों को देखना ताकि आपकी सेहत काफी स्ट्रोंग एवं हेल्दी बनी रहे |

Table of Contents

गर्भावस्था के दौरान प्रेगनेंसी में सुबह क्या खाना चाहिए | What to Eat During Pregnancy in hindi

महिलाओ के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण दिन वो होता है जब वो आपके बच्चे को जन्म देने के लिय अपने सभी कार्यो को न्योछावर करती है इस दौरान गर्भवती महिला जो भी अपने आहार में उपयोग करती है उसका सीधा असर माँ और बच्चे दोनों पर पड़ता है इसलिय खाने खाने का विशेष ध्यान देना बहुत जरुरी है क्योकि गर्भवती महिला का स्वास्थ्य एकदम फिट होना बहुत जरुरी है हेल्दी स्वास्थ्य को बनाए रखने में खाने में गर्भवती महिला को ड्राई स्नेक्स एवं हरी पत्तेदार सब्जिय एवं विटामिन , प्रोटीन ,आयरन तथा केल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थो को खाने में उपयोग करे यह सभी खाद्य पदार्थ फाइबर तथा कार्बोहायड्रेट से भरपूर होते है |

Advertisement
प्रेगनेंसी में क्या नही खाना चाहिय

जिनके कारण इनका चयापचय की क्रिया काफी तेजी से होती है जिससे पाचन तन्त्र बिलकुल अच्छी तरह से काम करता है बस आपको खाने की सामग्रियों में तीखे चटपटे मसालेदार भोजन से परहेज करना है , ज्यादा ऑयली फ़ूड का भी ध्यान रखना है , जो भी पेय पदार्थ जैसे कोल्ड्रिंक , वाइन , बियर चाय , कोफ़ी आदि से बिलकुल दूर रहना है इनका सीधा असर आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर काफी घातक प्रभाव पड़ता है |

प्रेगनेंसी में किन पोषक तत्वों का उपयोग फायदेमंद होता है | प्रेगनेंसी में क्या नही खाना चाहिय

( प्रेगनेंसी में सुबह क्या खाना चाहिए ) जब एक महिला प्रेगनेंट होती है तो उसको शुरुआत के 3 महीने तक खाने में अत्यधिक मात्रा के विटामिन्स ,प्रोटीन , मिनरल्स , जिंक , आयरन , केल्शियम , मैग्नीशियम , पोटेशियम से भरपूर खाद्य पदार्थो का सेवन करना बहुत जरुरी है क्योकि शुरुआत के 3 महीनो तक शरीर में खून की कमी होना सामान्य बात है इसलिय बोडी के अंदर खून की पूर्ति के लिय खाने में ड्राई स्नेक्स और लिक्विड के रूप में पुरे दिन 8 से 10 गिलास पानी पीते रहना है और सुबह श्याम के नाश्ते में दूध का सेवन जरुर करे और साथ में ड्राई स्नेक्स जैसे बादाम , पिस्ता , कांजू , अखरोट को भी शामिल करे ताकि बोडी में एनीमिया , घेंघा , अनियमितता आदि रोगों से बचाव हो सके जिससे माँ और बच्चा दोनों का स्वास्थ्य एकदम स्वस्थ रहे किसी प्रकार की प्रोबलम नजर आए तो साथ में डॉक्टर से सम्पर्क करना बहुत जरुरी है |

She More Detail – सफ़ेद पानी से परेशान है तो यह घरेलू नुस्खा 3 दिन में ठीक कर देगा

गर्भावस्था में किस प्रकार के संतुलित आहार लेना आवश्यक है

1 . फलों एवं सब्जियों | What to Eat During Pregnancy in hindi

गर्भवती महिला को भोजन के खाद्य पदार्थो में ज्यादा फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे आंवले का जूस , निम्बू का रस ,संतरे का रस , सेब , अनार , केला , पाइन एपल आदि प्रोटीन तथा विटामिन से भुरपुर खाद्य पदार्थो का सेवन करना चाहीय क्योकि इन खाद्य पदार्थो की पाचन क्रिया काफी जल्दी होते है तथा साथ में बोडी को खूब एनर्जी प्रदान करते है और साथ में हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक , प्याज , गोभी , करेला ,ककड़ी , टमाटर आदि का सेवन करे तो उनका स्वास्थ्य काफी स्ट्रोंग होगा क्योकि इन पदार्थो में आयरन , पोटेशियम , मैग्नीशियम के तत्व प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होते है जिनके कारण माँ और बच्चे को खून की कमी नही होने देते है और ना ही अन्य किसी भी जरुरी पोषक तत्वों की कमी होने देते है

Advertisement
प्रेगनेंसी में सुबह उठकर क्या खाना चाहिय

इसे भी पढ़ें – सेक्स पॉवर बढ़ाने में इलायची दूध के जबरदस्त फायदे 

2 . दूध से बने खाद्य पदार्थ –

दूध भी गर्भवती महिला के लिय बहुत ही फायदेमंद होता है इसमें केल्शियम, विटामिन a , आयरन , मिनरल्स , एवं प्रोटीन से भरपूर होता है जो की बच्चे की ग्रोथ के लिय रामबाण औषधि के रूप में कार्य करता है यह जरुरी मिनरल्स एक गर्भवती महिला के खाद्य पदार्थों में शमिल करना बहुत जरुरी है यह पचने में काफी सरल होते है आप बच्चे की माँ को दूध की खीर बनाकर भी खिला सकते है इसमें जरुरी पोषक तत्व होते है जोकि उनके शरीरिक विकास में वृद्धि करते है |

3 . वसा युक्त खाद्य पदार्थ – | प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिय और क्या नही खाना चाहिय

एक गर्भवती महिला के शरीर की वृद्धि में वसा वाले खाद्य पदार्थ भी अहम भूमिका निभाते है इसमें फेटिक एसिड पाए जाते है जोकि महिला की कमजोरी को दूर करने में काफी सहायक होते है जिससे माँ का शरीर दुबला पतला न हो इसके लिय वसा युक्त खाद्य पदार्थ जैसे मीट मछली अंडे आदि को भी सप्ताह में दो बार सेवन जरुर करवाए यदि गर्भवती महिला को यह सब पसंद नही है तो फिर फाइबर युक्त खाद्य पदार्थो के साथ मेवे या दूध की क्रीम का इस्तेमाल करवाए तथा साथ में ड्राई स्नेक्स को सुबह के नाश्ते में देना उनके स्वास्थ्य के लिय लाभदायक होंगे |

प्रेगनेंसी में सुबह क्या खाना चाहिए

प्रेगनेंसी में शुरुआत के तीन महीनो तक क्या खिलाना चाहिय

जब गर्भवती महिला के शुरुआत के तीन महीने होते है उनका विशेष ख्याल रखना बहुत जरुरी होता है क्योकि इन तीन महीनो में अंडाणु खत्म होने का सबसे ज्यादा खतरा होता है इसलिय आप शुरुआत के तीन महीनो तक जिन खाद्य पदार्थो को शामिल करना है उनके बारे में आपको जानना बहुत आवश्यक है

1 . ड्राई स्नेक्स – | pregnancy me kya kya khana chahiye

आप शुरुआत के तीन महीनो तक गर्भवती महिला को खाने में सुबह के नाश्ते में ड्राई स्नेक्स , ओट्स एवं नट्स का खाने में इस्तेमाल करवाए यदि आपको पता नही है की ड्राई स्नेक्स किसे कहते है तो आपकी जानकारी के लिय बता दे की ड्राई स्नेक्स में बादाम , पिस्ता , कांजू , अखरोट , केसर ,लीची , आदि पोषक तत्व आते है जिनके इस्तेमाल से बोडी को खूब ताकत मिलती है और साथ में खून को बढाने में भी काफी सहायक होते है और वजन को भी बढाने में मदद करते है क्योकि इन खाद्य पदार्थो से ही अंडाणु का विकास काफी तेजी से बढ़ता है साथ में

2 . दूध – | गर्भवती महिलाओ को क्या – क्या खाना चाहिय

आप इन खाद्य पदार्थो के साथ दूध का इस्तेमाल करवाए ताकि केल्शियम की आपूर्ति होना बहुत आवश्यक है अक्सर शुरूआती दिनों में महिलाओं को हाथ पेरो में दर्द होता है उन्हें चलने फिरने में परेशानी होती है यह सब बोडी के अंदर केल्शियम तत्व की कमी के कारण होता है इसलिय आप इनके साथ दूध का इस्तेमाल करवाए

3 . विटामिन्स – | प्रेगनेंसी में सुबह उठकर क्या खाना चाहिय

और खाने के बाद भोजन का पचना बहुत जरुरी है इसके लिय आप विटामिन c के श्रोत जैसे निम्बू , आंवला , और संतरे का जूस पिलाना बहुत जरुरी है यह फाइबर से भरपूर होते है जोकि आपके भोजन को पचाने में सहायता करते है

प्रेगनेंसी में तीन महीनो तक क्या नही खाना चाहिय | What Not to Eat During Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंट महिला को शुरूआती दिनों में अपने प्रति दिन की भोजन की डाइट पर खास ध्यान रखना बहुत जरुरी है क्योकि शुरुआत में अंडाणु को काफी खतरा होता है यह खतरा गर्भवती महिला के खाने पिने की गलत आदतों के कारण ही संभव होता है इसलिय हमारा सुझाव है की आप खाने में वसा युक्त खाद्य पदार्थो का बिलकुल परहेज करे तो आपका स्वास्थ्य काफी स्वस्थ रहेगा और भोजन की क्रिया एवं चयापचय की क्रिया की क्रिया में वृद्धि देखने को मिलेगी इसलिय हम आपको सुझाव देते है की आप इन तीन खाद्य पदार्थो का सेवन न करे तो ही बेहतर होगा |

1 . कचे मांस का सेवन नुकसान दायक है | PREGNANCY ME KYA NHI KHAYE

कचा मांस गर्भवती महिला के लिय नुकसानदायक हो सकता है क्योकि अधिकतर महिलाए मासाहारी भी होती है उनके घर में बच्चे बूढ़े बुजुर्ग सभी मासाहारी होते है उनके हिसाब से कुछ महिलाऐं मॉस का सेवन करती है उन महिलाओ को सुझाव है की वे अपने भोजन की सामग्री में कच्चे मांस का सेवन न करे तो ही बेहतर है क्योकि कच्चा मांस का डायजेशन अच्छी तरह से नही होता है जिसके कारण महिला का पेट दर्द कब्ज , गैस , एसिड होने की सम्भावना होती है क्योकि कच्चे मांस में फेटिक एसिड तथा ओमेगा 3 की भरपूरता होती है जिसके कारण वसायुक्त खाद्य पदार्थ उनको नुकसान पहुंचाते है |

2 . मछली के सेवन से दूर रहना है | Pregnancy me kya nhi khana chahiye

वैसे तो मछली वसा युक्त का सबसे अच्छा श्रोत माना जाता है लेकिन गर्भवती महिला के लिय शुरुआत के तीन महीनो तक इसका नुकसान काफी संभव है इसलिय वे अपने खाद्य सामग्री के भोजन में मछली का सेवन नही करे तो ही उनके स्वास्थ्य के लिय लाभदायक होता है और इन खाद्य पदार्थो से पेट की गैस , एसिडिटी , बदहजमी आदि की समस्या होने का खतरा होता है जिसके कारण उनको और ज्यादा तकलीफ होने का चांस होता है |

3 . जंक फ़ूड या ऑयली फ़ूड भी नुकसानदायक है |

जितने भी जंक फ़ूड है वे गर्भवती महिला के लिय नुकसान दायक होते है क्योकि इसमें काफी ज्यादा मात्रा में आयल होता है जिसके कारण कब्ज , गैस , एसिडिटी ,बदहजमी की प्रोबलम होती है क्योकि यह भोजन पाचन तन्त्र को कमजोर बनाते है जिसके कारण हल्का पेट दर्द होता रहता है और खाने में भूख को भी कम करते है इसलिय भोजन में कभी भी ज्यादा तीखे चटपटे मसालेदार भोज्य पदार्थो से दूर रहना है |

गर्भावस्था में कौनसे विटामिन और मिनरल्स फायदेमंद होते है

एक प्रेगनेंट महिला के खाने की वस्तुओ में सभी प्रकार के जरूरी पोषक तत्वों का होना बहत जरुरी है जोकि बच्चे तथा माँ दोनों के स्वास्थ्य को फिट रखने के लिय बहुत आवश्यक है उनके भोजन की जीवन शैली में आप निचे बताए गए खाद्य पदार्थो को देना उनकी बेहतर सेहत के लिय बहुत ही आवश्यक होते है |

विटामिन c :-

गर्भवती महिला का पाचन तन्त्र बेस्ट बनाए रखने में विटामिन c के पोषक तत्व बहुत ही फायदेमंद होते है इसमें फाइबर तथा कार्बोहायड्रेट के गुण प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होते है जोकि भोजन को जल्दी पचाने में सहायता करते है और इन खाद्य पदार्थो के सेवन से रक्त की शुद्धिकरण प्रक्रिया भी अच्छी तरह से होता है जिनके कारण मेटाबोलिज्म की प्रक्रिया भी काफी फ़ास्ट एवं एक्टिव होती है इसलिय आप इनका जूस एवं सलाद बहुजन के साथ उपयोग करवाना बहुत आवश्यक है

केल्शियम :-

केल्शियम की मात्रा सबसे ज्यादा दूध में पाई जाती है इसलिय महिला के भोजन के साथ दूध भी नियमित रूप से पिलाते रहना चाहिय सुबह के नाश्ते में और रात के भोजन के उपरांत एक गिलास दूध देना बहुत आवश्यक है जिससे हाथ पेव्रो में किसी प्रकार की तकलीफ नही होती है और ना ही स्किन इन्फेक्शन होने का खतरा होता है दूध बच्चे तथा माँ की हड्डियों एवं मासपैशियो को मजबूत बनाने में सहायता करते है जिससे बच्चे का शरीरिक विकास निरंतर वृद्धि होता रहता है |

आयरन :-

गर्भवती महिला के जरुरी पोषण में आयरन भी महत्त्व प्रदान करते है आयरन की पूर्ति होने से ही ब्लड का सर्कुलेशन अच्छी तरह से होता है तथा रक्त की शुद्धिकरण में आयरन के पोषक तत्व महत्वपूर्ण योगदान देते है आयरन माँ और बच्चे को एनीमिया जैसी बीमारी से बचाव करने में मदद करती है इसलिय आयरन के खाद्य पदार्थ जैसे विटामिन की गोलिया और साथ में हरी पत्तेदार सब्जियों का होना बहुत जरुरी है और सेब में भी लौह तत्व की मात्रा भरपूर होती है इसलिय सेब और अनार का जूस भी फायदेमंद है

प्रोटीन के श्रोत :-

प्रोटीन भी गर्भवती महिला के लिय काफी फायदेमंद होते है प्रोटीन के स्रोत जैसे चना दाल , मसूर दाल , अरहर दाल , मुंग दाल , अंडा , ड्राई स्नेक्स , आखरोट , ओट्स एवं नट्स आदि प्रोटीन से भरपूर होते है इसलिय आप इनकी दाल बनाकर गर्भवती महिला के भोजन की खाद्य सामग्रियों में जरुरी इस्तेमाल करवाए यह आपकी सेहत के लिय काफी लाभदायक है यह बच्चे के शरीरिक विकास एवं मानसिक मानसिक संतुलन को बनाए रखने में सहायता करते है और बोडी में जरुरी प्लेटलेट्स बनाए रखने में भी मदद करते है |

प्रेगनेंसी में क्या नही खाना चाहिय , What to Eat During Pregnancy in hindi , pregnancy me kya kya khana chahiye , गर्भवती महिलाओ को क्या – क्या खाना चाहिय , प्रेगनेंसी में सुबह उठकर क्या खाना चाहिय , What Not to Eat During Pregnancy in Hindi , PREGNANCY ME KYA NHI KHAYE , Pregnancy me kya nhi khana chahiye , गर्भावस्था में कौनसे विटामिन और मिनरल्स फायदेमंद होते है ,प्रेगनेंसी में सुबह क्या खाना चाहिए,what to eat in the morning during pregnancy,

Advertisement

2 thoughts on “अगर आप प्रेगनेंट है तो यह गलतियाँ भूलकर ही मत करना हो सकता है बड़ा नुकसान | What to Eat During Pregnancy in hindi”

Leave a Comment