Advertisement

आयरन टेबलेट खाने के फायदे क्या है , आयरन के स्रोत | What are the Benefits of Taking Iron Tablet in Hindi , Iron ke Fayde

Advertisement

आयरन टेबलेट खाने के फायदे क्या है , आयरन के स्रोत , What are the Benefits of Taking Iron Tablet in Hindi , Iron ke Fayde , Source of Iron in Hindi , Health Benefits of Iron in Hindi , iron की अधिकता से कौन-कौन से नुकसान है , iron khane ke fayde or nuksan , आयरन टेबलेट खाने के फायदे क्या है

आयरन टेबलेट खाने के फायदे क्या है

Iron Tablet – हमारे शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह शरीर के सभी अंगो तक पहुंचाने में आयरन का महत्वपूर्ण योगदान होता है शरीर की एनर्जी ( उर्जा ) को बढ़ावा देने में आयरन का मुख्य कार्य है बोडी के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने एवं नए रक्त का निर्माण करने में लौह तत्व का होना बहुत ही आवश्यक है आयरन शरीर में ऑक्सीजन के साथ क्रिया करके ओक्सीहिमोग्लोबिन को जन्म देता है जिससे शरीर में लाल रक्त कणिकाओ ( red blood cell ) की संख्याओ को बढ़ाने में मदद करता है |

इसलिय शरीर में आवश्यकता के अनुसार ही शरीर में आयरन का होना बहुत ही जरुरी है अगर हमारी बोडी के अंदर आयरन तत्व की कमी हो जाती है तो आँखों से धुंधला दिखाई देना या फिर आँखों में जलन एवं आँखों से दिखाई देना कम हो जाता है , हड्डियाँ कमजोर हो जाती है , शरीर में एनीमिया रोग होने का खतरा बढ़ जाता है |

Advertisement

Table of Contents

आयरन टेबलेट खाने के फायदे क्या है

फ्रेंड्स आज के इस आर्टिकल में हम आपको आयरन के बारे में बताएँगे की शरीर के लिय कितना आयरन लेना चाहिय , अत्यधिक मात्रा में आयरन लेने से क्या नुकसान है और कौन से भोज्य पदार्थो में आयरन की प्रचुरता काफी होती है इन तमाम सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल के जरीय मिलने वाले है तो चलिय शुरू करते है |

चेहरे के बालों को कैसे हटाएँ , घरेलू उपचार

आयरन का शरीर के लिय क्या महत्व | What is the importance of iron for the body ?

Iron Tablet – शरीर हमारा जो भी क्रिया करता है तो आयरन की मोजुदगी के कारण ही संभव है आयरन हमारी बोडी में ऑक्सीजन के साथ मिलकर शरीर के प्रत्येक अंगो तक ऑक्सीजन का प्रवाह करता है तथा फेफड़ो के माध्यम से रक्त का प्रवाह धमनियों एवं शिराओ के जरीय कार्य करता है जिसे शरीर उर्जावान बना रहता है खासकर जो गर्भवती महिलाए है उनके लिय आयरन काफी बेहद ही जूरी है क्योकि आयरन माँ और बच्चे को विटामिन एवं प्रोटीन तथा मिनाराल्स की पूर्ति करने में सहायता करता है आजकल गर्भवती महिला को doctor भी आयरन वाले फलो एवं सब्जियों का ज्यादा सेवन करने को बोलते है |

जिससे माँ और बच्चे को एनीमिया तथा आँखों समन्धि कोई भी रोग विकार ना हो इसके लिय आयरन की गोलिया लगातार खाने को बोलते है यह हमारे शरीर में रक्त को थक्का जमने से रोकता है तथा रुधिर का प्रवाह भी शरीर के सभी अंगो तक पहुँचाने में सहायता करता है आयरन ऑक्सीजन के साथ मिलकर ओक्सिहिमोग्लोबिन का निर्माण करता है जिससे हड्डियाँ एवं पैशिया बिलकुल हस्त फुस्ट रहती है शरीर की रोगप्रति रोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है जिससे नए रोगों का निर्माण हमारी बोडी में नही होता है |

Advertisement

बिना इमली के सांभर कैसे बनेगा 

आयरन के स्रोत कौन – कौन से है | Source of Iron in Hindi

Iron Tablet – बोडी को उर्जावान एवं हस्ट फुस्ट बनाए रखने के लिय आयरन का होना बहुत ही जरुरी है यह हमारे शरीर को रोगों से बचाता है तथा शरीर की रोग प्रति रोधक क्षमता को बढ़ाने में काफी सहायक है Iron Tablet – को बढ़ाने के लिय प्रकृति में ऐसे बहुत से स्रोत है जो हमारे खेतो में आसानी से मिल जाते है और शरीर में आयरन की कमी हो जाने पर doctor भी इन फलों एवं सब्जियों के सेवन करने की सलाह देते है जिससे आयरन की पूर्ति काफी तेजी से हो जाती है |

iron benefits

आयरन की पूर्ति करने में आयरन के स्रोत है पालक की सब्जी में सबसे ज्यादा आयरन के तत्व मोजूद होते है , सरसों की सब्जी , मैथी , आटा , हरी बिन्स , पत्तेदार सब्जियां , शलगम , शकरगंद , सेब , अनार , चुकंदर , किशमिश , बादाम , राजमा , सोयाबीन , तरबूज , खजूर , अंगूर , सुखा मेवा , अंडा , मछली , मसूर की दाल , अंकुरित गेहू इत्यादि में आयरन के तत्व भ्र्प्र मात्रा में होते है जो हमारे शरीर में जल्दी से आयरन की पूर्ति करने में सहायता करते है इससे शरीर में रक्त की कमी होने से एनीमिया जैसे रोगों का जन्म होता है |

मगर doctor इन आयरन वाले पदार्थो के सेवन करने की सलाह देते है जिससे बोडी में आयरन के गुणों की संख्या में तेजी से विकास होता है जिससे शरीर की रोग प्रति रोधक क्षमता तेजी से बढती है और रक्त का प्रवाह हमारी बोडी के सभी अंगो तक ऑक्सीजन के साथ क्रिया करके पहुंचता है |

( Iron Tablet ) आयरन क्या है और इसके क्या कार्य है

आयरन एक मिनरल्स है जो हमारी बोडी में रोग प्रति रोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है यह शरीर में जीवित कोशिकाओ के साथ क्रिया करता है उनके जीवन काल को बढ़ाने में मदद करता है तथा ऑक्सीजन के साथ मिलकर शरीर के सभी अंगो तक ऑक्सीजन को भेजने में मदद करता है और फेफड़ो से होकर रक्त में ऑक्सीजन को भेजता है जिससे रक्त का प्रवाह शरीर के सभी अंगो को उर्जावान बनता है आयरन हिमोग्लोबिन प्रोटीन का ही भाग है जो रुधिर को थक्का जमने से रोकता है और पाचन तन्त्र की क्रिया को सक्रिय करता है इसके आलावा आयरन में प्रोटीन एवं मिनरल्स के एंजाइम भी होते है |

जो बोडी में प्रोटीन का निर्माण करते है और प्रोटीन हड्डियों एवं मासपैशियो तक रक्त का प्रवाह करती है जिससे रुधिर को जमने से रोकता है फ्रेंड्स शरीर के लिय आयरन जितना बहुत जरुरी है उतना ही नुकसानदायक भी होता है आयरन की संख्या जयादा भी नही होनी चाहिय और कम भी नही हो तबी आपका स्वास्थ्य स्वस्थ माना जाता है आयरन के स्रोत का इस्तेमाल फ्रेंड्स doctor की सलाह के अनुसार ही करे तो ही बेहतर होगा |

आयरन के क्या-क्या फायदे है | Health Benefits of Iron in Hindi

हमारी बोडी को एक्टिव रखने के लिय आयरन बहुत ही जरुरी मिनरल्स है इसमें मोजूद प्रोटीन व् विटामिन्स हमारी एनर्जी को विकसित करने में बहुत ही लाभदायक है आयरन के दवारा ही शरीर में रुधिर के साथ ऑक्सीजन सभी नागो तक पहुंचना संभव है यह हमारे शरीर में रोग प्रति रोधक कश्मता को बढ़ाने का कार्य करता है आयरन हिमोग्लोबिन प्रोटीन का ही भाग है जो शरीर का संतुलन बनाए रखने में जिम्मेदार है आयरन के बहुत से फायदे है जिनके बारे में निचे विस्तार से चर्चा की गई है उनको ध्यान से पढ़े |

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में | आयरन खाने के फायदे

Iron Tablet – खान पान में बदलाव एवं बदलते मौसम से शरीर में नए रोगों का निर्माण हो जाता है लेकिन अगर बोडी के अंदर आयरन के तत्व मोजूद होंगे तो शरीर में एक भी रोग विकार उत्पन्न नही होंगे आपकी एनर्जी को विकसित बनाए रखने में सहायता करता है बोडी के लिय जो जरुरी मिनरल्स या प्रोटीन की आवश्कयता होती है उनकी पूर्ति आयरन तत्व के कारण हो जाती है यह बोडी में एंटी ओक्सिडेंट का कार्य करता है |

भूख बढ़ाने में आयरन का योगदान

आयरन के तत्वों का सेवन करने से आपकी भूख बढ़ाने में भी जिम्मेदार है कहते है की आयरन के तत्वों फाइबर युक्त एवं कार्बोहायड्रेट वाले तत्व होते है जो पचने में काफी सरल होते है जिससे आपके भोजन का अवशोषण अच्छी तरह से होता है कहते ही आयरन के फल और सब्जियों में भूख बढ़ाने के सब्लिमेंट होते है जो आपकी और आपके बच्चो की ग्रोथ को विकसित करने में जिम्मेदार होता है साथ में रक्त को गधा होने एवं जमने से रोकने में सहायता करता है |

शरीर में एनर्जी को विकसित करता है | आयरन खाने के फायदे

फ्रेंड्स आपको थकान एवं कमजोरी महसूस होती है तो आपके शरीर में कही न खी आयरन की कमी हो सकती है थकान व् कमजोरी आयरन तत्वों की हमारे शरीर में कमी होने के कारण होता है आयरन के तत्व हमारे शरीर में न केवल ऑक्सीजन के साथ क्रिया करके शरीर के सभी अंगो तक ऑक्सीजन का प्रवाह ही नही करते बल्कि शरीर में वसा युक्त प्रोटीनो एवं एंजाइमो का निर्माण करने में भी मदद करते है और शरीर की एनर्जी बनाए रखने में कार्बोहायड्रेट वाले पदार्थ मुख्य स्रोत होते है इसलिय आयरन भी हमारी शरीर की उर्जा शक्ति को बढ़ाने में सहायता करता है यह शरीर में हिमोग्लोबिन प्रोटीन का ही हिस्सा है इससे रुधिर का प्रवाह शरीर के सभी उत्तको तक करने में मदद करता है |

त्वचा का ग्लो एवं चमक बनाए रखने में आयरन का इस्तेमाल | आयरन खाने के फायदे

आपकी स्किन को तरो ताजा बनाए रखने में आयरन बेहद ही जरुरी है कई बार आपकी त्वचा का रंग पिला एवं रुखी बेजान सी दिखाई देती है यह सब लक्षण आयरन की कमी से होता है इससे एनीमिया नामक रोग के लक्षण होते है जिससे त्वचा का ग्लो एवं चमक बिलकुल रुखी सी हो जाती है चेहरे पर उदासी नजर आती है इसका कारण है की हमारी बोडी में हिमोग्लोबिन नामक प्रोटीन की कमी हो जाती है जिससे ऑक्सीजन का प्रवाह शरीर में सभी अंगो तक नही पहुच पता है और शरीर में लाल रक्त कणिकाओ की संख्य घट जाती है जिससे त्वचा का जरूरी विटामिन मेलेनिन की संख्या भी कम होती है जिससे स्किन का रंग पिला हो जाता है उससे बचने के लिय आप हरी पत्तेदार सब्जियों एवं फलो का प्रयोग अत्यधिक मात्रा में करें |

चोट एवं घाव को जल्दी भरने में आयरन जिमेदार

आयरन के गुण चोट लगने या घावो को जल्दी भरने में सहायता करते है यह हमारे रुधिर के साथ क्रिया करके रक्त के प्रवाह को बोडी के सभी अंगो तक पहुँचाने में मदद करता है घावो को जल्दी भरने में ऑक्सीजन का प्रमुख योगदान होता है और शरीर के सभी उत्तको तक ओसिजन को पहुँचाने का काम आयरन द्वारा ही संभव है आयरन हमारे शरीर में लाल रक्त कणिकाओ की संख्या को विकसित करने में सहायता करती है जिससे ब्लड का फ्लो नियंत्रण होता है |

हड्डियों एवं मासपैशियो को मजबूत बनाने में आयरन का प्रयोग

हमारे शरीर के सभी अंगो की क्रियातान्मक इकाई को बनाए रखनेमे सभी प्रकार के प्रोटीन , विटामिन , मिनरल्स की आवश्यकता होती है उसी में से आयरन भी मिनरल्स की श्रेणी में आता है हड्डियों को केल्शियम और फास्फोरस से मजबूत बनाया जाता है और केल्शियम व् फास्फोरस में आयरन के तत्व मोजूद होते है जो आपके घुटनों एवं जोड़ो के दर्दसे राहत देता है और शरीर के अंदर फेट को बहरा और मेटाबोलिज्म को बढ़ाने में सहायता करता है जिससे वजन भी control रहता है |

मष्तिष्क के विकास के लिय आयरन जरुरी है

हमारे दिमाग को फ्रेस तरोताजा बनाए रखने में आयरन का मुख्य योगदान है आप आयरन की कमी से घेंघा रोग उत्पन्न हो जाता है जिससे आपकी यद्कारने की मेमोरी खली हो जाती है आप कुछ ही समय के लिय ही दिमाग में याद रख सकते है यह सब आयरन की कमी से होता है इससे हमारी पिट्यूटरी ग्लेंड डेमेज हो जाती है जिससे आपका दिमाग काम करना बंद हो जाता है इसलिय आप हरी फल तथा पत्तेदार सब्जियों का खाने में ज्यादा प्रयोग करे जिससे दिमागी तौर पर आपका विकास होगा |

गर्भवती महिलाओ के लिय आयरन बहुत जरुरी है

जब महिला गर्भ धारण करती है तब महिला की बोडी में रक्त की कमी होने का खतरा बहुत होता है शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह सही तरह से नही हो पाता है तब doctor उस महिला को आयरन की गोलिया व् हरी पत्तेदार सब्जियां एवं फल खाने की सलाह देते है जिससे शरीर में रक्त भी बढ़ना शुरू हो जाता है क्या है की शरीर में जब गभवती महिला के अंदर खून की कमी हो जाती है तब उसका बच्चा एनीमिया का शिकार होने का खतरा होता है जिससे बच्चे की आँखों की रौशनी भी जा सकती है हिमोग्लोबिन की संख्या में गिरावट होने से एनीमिया रोग उत्पन्न हो जाता है ऐसे में आप ज्यादा आयरन वाले फल एवं सब्जियों की सलाह doctor द्वारा सुझव दिए जाते है |

बालों को झड़ने से रोकने मे आयरन का इस्तेमाल | आयरन खाने के फायदे

बोडी के सभी भागो या अंगो तक रुधिर का प्रवाह हमारे शरीर में ऑक्सीजन के द्वारा ही संभव होता है और ऑक्सीजन का निर्माण शरीर में आयरन के मिनरल्स की संख्या सामान्य होने से ही होता है आयरन ऑक्सीजन के साथ मिलकर ओक्सिहिमोग्लोबिन प्रोटीन का निर्माण करते है जिससे शरीर में हमोंस का स्राव होता है वृद्धि होती है वसा और हार्मोन हमारे बालो के विकास के लिय बहुत ही आवश्यक तत्वों में से एक है जिससे बालो की जड़े मजबूत होगी बालो का झड़ना बंद हो जाएगा कहते है की जो लोग खाने में ज्यदातर हरी पत्तेदार सब्जिय जैसे पालक , सरसों की सब्जी या फिर फलो का सेवन करते है |

उनके बाल घने काले एवं मजबूत होते है यही कारण है की उनके बालो में आव्हस्य्क जरुरी पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है उनकी पूर्ति आयरन की वजह से होती है |

आयरन की अधिकता से कौन-कौन से नुकसान है

  • iron की अधिकता से शरीर में बेचेनी रहना शुरू हो जाता है जिसके कारण भूख लगना बंद हो जाता है
  • आयरन की ज्यादा गोलिया खाने से आपको दिल का दौरा या हार्ट अटैक की प्रोबलम हो सकती है जिससे जान भी जा सकती है
  • आपके लीवर को भी डेमेज करता है जिससे आपका पाचन तन्त्र भी काम करना बंद कर देता है जिससे आपको एसिडिटी का जब्ज गैस की समस्या हो सकती है
  • iron की गोलियों का अत्यधिक मात्रा में सेवन करनेसे आपके blood pressure भी बढ़ने के खतरा होता है
  • शरीर में लाल रक्त कणिकाओ ( red blood cell ) की संख्या भी बढने लगती है जिससे आपको इन्फेक्शन हो सकता है
  • आयरन ज्यादा मात्रा में सेवन करने से हार्मोन्स में वृद्धि हो जाती है जिससे चेहरे या अन्य भागो पर फुन्सिया किल मुंहासे होने का खतरा होता है
  • खासकर गर्भवती महिलाओ को आयरन की गोलियों का या फिर हरी पत्तेदार सब्जियों एवं फलो का सेवन doctor की सलाह के अनुसार ही करना फायदेमंद होगा अन्यथा आपको और आपके बच्चे को खतरा होता है
  • आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में बाधा डालते है
  • त्वचा पर लाल चखते व् फंगल इन्फेक्शन होने का खतरा होता है
  • आयरन की अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से आपको कैंसर होने का खता होता है इससे आपके हड्डियों एवं मासपैशियो को कमजोर बनता है शरीर में हिमोग्लोबिन प्रोटीन के निर्माण में भी बाधा डालता है
  • अत्यधिक मात्रा में आयरन के स्रोतों का सेवन करने से आपकी सांसे तेज गति से चलना शुरू हो सकती है
  • और भी अन्य कारण भी हो सकते है इसलिय फ्रेंड्स आप doctor के द्वारा बताए गई मात्रा के अनुसार ही आयरन का इस्तेमाल करे तो ही बेहतर होगा |

आयरन युक्त खाद्य पदार्थ कौन-कौन से है | आयरन खाने के फायदे

  • मसूर की दाल
  • कटे हुए बिन्स
  • उबाली हुई दाले
  • पालक
  • अंकुरित अनाज या गेंहू
  • पत्तेदार सब्जिय
  • टमाटर
  • आलू
  • छोले उबले हुए
  • बादाम
  • किशमिश
  • कांजू
  • हरे मटर के दाने
  • मछली
  • बट्टर
  • चावल
  • ब्रेड

आयरन का उपयोग किस प्रकार करना है

फ्रेंडस यदि आपको ऊपर बताए गए लक्षणों में से नजर आए तो आप doctor की सलाह जरुर ले क्योकि आयरन की कमी से ऐसे बहुत से रोग विकार है जो आपकी जान को खतरे में डाल सकते है और आयरन का उय्प्ग सिमित मात्रा में ही करना बहुत ही जरुरी है क्योकि आयरन के ज्यादा उपयोग या फिर कमी से कारण से आपको एनीमिया , आँखों की रौशनी कमजोर होना , शरीर में लाल रक्त कणिकाओ की कमी होना जैसे कई रोग उत्पन्न हो सकते है

  • आप आयरन वाली पत्तेदार सब्जियां एवं फलो का इस्तेमाल जरूरत से ज्यादा नही करना है इसका उपयोग आप लगातार नही करे सप्ताह में दो बार ही हरी पत्तेदार पालक वाली सब्जियों का सेवन करे
  • खासकर गर्भवती महिला को आयरन वाले तत्वों की विशेष ध्यान रखनी है क्या है की गर्भवती महिलाओ को आयरन की कमी से माँ और बच्चे दोनों में रक्ताल्पता की कमी हो जाती है जिससे बच्चे को एनीमिया रोग होने का खतरा होता है

आयरन तत्व की कमी के लक्षण क्या-क्या होते है

  • शरीर में आयरन की कमी से आपके बाल झाड़ना शुरू हो जाएँगे
  • आपकी भूख भी कम हो जाएगी
  • आपके हाथो पैरो के नाख़ून अपने आप टूटने शुरू हो जाएँगे
  • सिर दर्द भी होना शुरू हो जाएगा
  • शरीर में थकान एवं कमजोरी महसूस होगी
  • सांसे तेज गति से या फिर दिल की धडकन धीरे चलेगी
  • आपकी स्किन या त्वचा का रंग पिला व् रुखा बेजान सा हो जाएगा
  • खाना अच्छी तरह से पचेगा नही
  • आपके गले में खराश व् गल्ले में सुजन होगा
  • काम करने की शक्ति जिसे एनर्जी बिलकुल कमजोर हो जाएगी इत्यादि लक्षण आपको आयरन की कमी से नजर आएँगे |

iron की कमी से होने वाले रोग कौन-कौन से है | आयरन खाने के फायदे

  • शरीर में आयरन की कमी से एनीमिया रोग हो सकता है
  • आपकी आँखों की रौशनी कमजोर हो जाएगी
  • आँखों के निचे सुजन भी हो सकता है
  • आपके शरीर की रोग प्रति रोधक क्षमता कमजोर हो जाएगी
  • आपको चलने फिरने में कमजोरी महसूस होगी
  • आपका वजन धीरे धीरे घटना शुरू हो जाएगा
  • आयरन की कमी से blood प्रेशर भी कम हो सकता है

People Also Ask Question & Answere

प्रश्न 1 . एक दिन में कितना आयरन खाना चाहिय ?

उतर – सामान्य व्यक्ति को एक दिन में 8 मिली ग्राम आयरन की जरूरत होती है और एक सामान्य महिला को 18 मिली ग्राम से ज्यादा आयरन का उपयोग नही करना चाहिय क्योकि इससे जयादा सेवन करने से आपकी रोग्प्र्ती रोधक क्षमता कमजोर होती है और एक गर्भवती महिला को २७ मिली ग्राम आयरन वाले हरी पत्तेदार सब्जियों एवं फलो का जूस देना बहुत ही जरुरी है जिससे उनके बच्चे को एनीमिया जैसे रोगों से बचाया जा सके

प्रश्न 2 . आयरन बढ़ने से क्या होता है ?

उतर – बोडी में आयरन की मात्रा बढ़ने से आपको साँस लेने में तकलीफ हो सकती है तथा फेफड़ो में ऑक्सीजन का प्रवाह सही तरीके से नही होगा जिससे आपको एनीमिया रोग उत्पन्न हो सकता है साथ शरीर में लाल रक्त कणिकाओ की संख्या में गिरावट हो सकती है

प्रश्न 3 . आयरन की टेबलेट कौनसी है ? ( आयरन टेबलेट खाने के फायदे )

उतर – बाजार में बहुत सी आयरन की टेबलेट मोजूद है मगर हम आपको सलाह देते है की आप इन tablet का इस्तेमाल न करके आप हरी पत्तेदार सब्जियां एवं फलो का उपयोग करे क्या है की Iron Tablet आपके लीवर को डेमेज करती है जिससे और नर रोगों का निर्माण हो सकता है

प्रश्न 4 . शरीर में आयरन क्या काम करता है ?

उतर – हमारी बोडी मायारान रोग प्रति रोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायता करता है तथा रुधिर के साथ ऑक्सीजन को शरीर के सभी अंगो तक पहुँचाने में मदद करता है जिससे आपकी उर्जश्क्ति को बढ़ाने में सहायता करता है

प्रश्न 5 . खून बढ़ाने की सिरप कौनसी है ? ( आयरन खाने के फायदे )

उतर – आपके शरीर में रक्त को बढ़ाने में प्रोबयोटिस सिरप है जो आपकी बोडी में रक्त के लेवल को बढ़ाने में और भी कई आयुर्वेदिक जड़ी बूटिया है जो आपकी भूख को बढ़ाने में मदद करती है

प्रश्न 6 . आयरन कैसे बढाएं ?

उतर – शरीर में आयरन की संख्या को बढ़ाने में हरी पत्तेदार सब्जिय एवं फलो का सेवन करे और साथ में दालो का प्रयोग करे जिससे आप आयरन की मात्रा को बाधा सकते है

प्रश्न 7 . शरीर में आयरन ज्यादा होने से क्या होता है ?

उतर – बोडी में ज्यादा आयरन होने से आपकी सांसे तेज गति से चलनी शुरू हो सकती है blood का pressure भी हाई या कम हो सकता है

प्रश्न 8 . खून की कमी से क्या क्या परेशानी हो सकती है ?

उतर – बोडी में खून की कमी से आपकी त्वचा का रंग पिला पड़ना , खाना पीना अच्छी तरह से पचता नही है , शरीर में थकान एवं कमजोरी आना ऐसे कई लक्षण हो सकते है

प्रश्न 9 . आयरन की गोली कब लेना चाहिय ?

उतर – जब आप खाना खाने में एक घनता हो जाए तब आप गर्म दूध के साथ रात को सोने से पहले एक गोली का इस्तेमाल करे और ऐसे ही समान रूप से सुबह भी आप ले सकते है

प्रश्न 10 . आयरन सिरप के फायदे क्या है ?

उतर – शरीर के लिय आयरन की सिरप बहुत ही फायदेमंद है इसके लगातार सेवन करने से बोडी में रोग प्रति रोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायता करता है तथा उर्जा को विकसित करने एवं त्वचा की सुन्दरता एवं ग्लो को निखारने में मदद करता है

प्रश्न 11 . आयरन की गोली कितने दिन तक खानी चाहिय ?

उतर – आयरन की गोलिया हमारी बोडी में रक्त के साथ ऑक्सीजन के लेवल को बनाए रखने तथा एनर्जी को विकसित करने में सहायता करती है इस गोलियों का सेवन आप doctor की सलाह तक करे

प्रश्न 12 . आयरन की टेबलेट खाने से क्या होता है ?

उतर – अगर आप नियमित रूप से सुबह श्याम आयरन की टेबलेट्स का सेवन करते है तो आपको कभी भी खून की कमी नही होगी और आपके रक्त में अशुधियां बिलकुल नही होगी और साथ में अगर गर्भवती महिला को आयरन की टेबलेट्स का सेवन करवाएं तो उनके पेट में रक्त की कमी की पूर्ति करने एवं कई प्रकार के रोगों से बचाव में सहायता करता है

प्रश्न 13 . आयरन की गोली का क्या नाम होता है ?

उतर – अगर आप बाजार से आयरन की टेबलेट्स को खरीदना चाहते है तो आप IFA के नाम से भी जाना जाता है लेकिन आपको सलाह है की आपके अपने क्षेत्र के आंगनबाड़ी स्वास्थ्य केंद्र से भी इन गोलियों को ले स्क्त्वे है जिसमे विटामिन ,प्रोटीन , मिनरल्स और जिंक जैसे पोषक तत्व होते है जो आपकी बोडी के लिय बहुत ही फायदेमंद होते है

प्रश्न 14 . आयरन एंड फोलिक एसिड सिरप के फायदे ?

उतर – आयरन आपके शरीर की सभी कोशिकाओं के लिय बहुत ही महत्वपूर्ण आयरन है इसका उपयोग करने से आपकी आँखों की रोशनी तथा खून की कमी एवं खुजली को कम करने में बहुत ही फायदे मंद है |

प्रश्न 15 . केल्शियम आयरन की कमी के लक्षण क्या है ?

उतर – केल्शियम की कामो होने से आपके घुटने तथा जोड़ो से चलने फिरने में बड़ी परेशानी होती है तथा आपकी बोडी एकदम रिलेक्स हो जाती है बोडी के अंदर स्फूर्ति बिलकुल कम हो जाती है तथा चहरे पर झुरियां हो जाती है ऐसे कई लक्षण सामने आते है

प्रश्न 16 . आयरन टेबलेट का नाम?

उतर – फैंटा अफ 100 mg , टोप्रेड 100 mg

प्रश्न 17 . आयरन टेबलेट साइड इफेक्ट्स क्या है?

उतर – जब आयरन की अधिकता बोदी के अंदर बढ़ जाती है तब उलटी होना शुरू हो जाती है कई बार जब हम दिन में 3 से 4 आयरन की टेबलेट का इस्तेमाल करते है तब खून में असंक्रमण बढ़ जाता है उससे हार्ट डेमेज होने का खतरा बढ़ जाता है

Advertisement